class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अभिरुचि शिविर में बच्चों ने बनाए वैज्ञानिक मॉडल

फोटो

आंचलिक विज्ञान नगरी में ग्रीष्मकालीन प्रथम अभिरुचि शिविर का समापन

लखनऊ। प्रमुख संवाददाता

आंचलिक विज्ञान नगरी में ग्रीष्मकालीन प्रथम अभिरुचि शिविर का शनिवार को समापन हुआ। शिविर में विभिन्न विद्यालयों से 100 विद्यार्थी शामिल हुए और कई वैज्ञानिक प्रोजेक्ट व मॉडल बनाकर अपनी वैज्ञानिक समझ को बढ़ाया। बच्चों को विज्ञान के प्रति उत्सावर्धन भी किया गया।

प्रथम बैच में पांच प्रकार के शिविर इनोवेटिव क्राफ्ट, क्रिएटिव किड आर्ट, फन विद मैथ, ऐस्ट्रोलैब, इलेक्ट्रिसिटी व होम अप्लाइंसेज शामिल किए गए थे। प्रतिभागियों ने दिलचस्प वैज्ञानिक प्रोजेक्ट व मॉडल बनाए। इसमें एयरब्लोइंग पेन-पाईप, मैट विविंग विद रिबन, ग्रेविटी ट्वाय, मैग्नेटिक कंगारू, प्लेनी-स्फेयर, सन-अर्थ-मून मॉडल, नैपियर्स बोन्स एवं पाइथागोरस प्रमेय शामिल हैं। शिविर में शामिल विद्यार्थियों व अभिभावकों का कहना था कि बच्चों की रचनात्मक क्षमता दिखाने के लिए अभिरूचि शिविर बहुत ही सफल माध्यम है। उनके स्कूली पाठ्यक्रम के लिए भी काफी सहायक होगा। इस प्रकार की गतिविधियां विद्यार्थियों में विज्ञान को और अधिक रूचिकर बनाने में मददगार साबित होंगी। बच्चों में वैज्ञानिक सोच निश्चित तौर पर विकसित होगी। आंचलिक विज्ञान नगरी के परियोजना समायोजक डा. राज मेहरोत्रा ने बताया कि ग्रीष्मकालीन अभिरुचि शिविरों के आयोजन का मुख्य उद्देश्य बच्चों के क्रियात्मक गुणों को निखारने के लिए एक मंच उपलब्ध कराना है। बच्चों की छुट्टियों का सदुपयोग होगा और विषय के प्रति उनकी समझ भी बढ़ेगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Children's Researcher Scientific Model
From around the web