class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार की तर्ज पर यूपी में भी पिछड़े व अति पिछड़े का हो विभाजन-अली अनवर

विशेष संवाददाता- राज्य मुख्यालयजनता दल यूनाईटेड से राज्यसभा सदस्य और आल इण्डिया पसमांदा मुस्लिम महाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनवर अली अंसारी ने मांग की है कि बिहार की तर्ज पर उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश में पिछड़ा वर्ग को अति पिछड़ा और पिछड़ों में बांटा जाए। उन्होंने मुसलमानों व ईसाइयों की दलित बिरादरियों को अनुसूचित जाति का दर्जा देने की भी मांग उठाई है।शनिवार को लखनऊ में यूपी प्रेस क्लब में हुई प्रेसवार्ता में उन्होंने कहा कि यूपीए हो या एनडीए सरकार कोई भी दलित-मुसलमान-ईसाई के साथ धर्म के आधार पर किए जा रहे भेदभाव को खत्म करने के लिए गंभीर नहीं रही। सच्चर कमेटी व रंगनाथ मिश्र आयोग दोनों ने धर्म के आधार पर भेदभाव को खत्म किए जाने की सिफारिशें की हुई हैं। उन्होंने कहा कि पसमांदा समाज शुरू से ही धर्म के आधार पर आरक्षण के खिलाफ रहा है लेकिन यह समाज धर्म के आधार पर भेदभाव को अब बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि मुसलमानों और ईसाईयों में तमाम बिरादरियां वही पेशे कर रही हैं जो हिन्दू बिरादरियों के लोग कर रहे हैं मगर हिन्दुओं की तरह इन दलित मुसलमानों व ईसाईयों को आरक्षण का लाभ नहीं मिल पा रहा है। श्री अंसारी ने बताया कि पहली जुलाई को लखनऊ में उनके संगठन द्वारा एक सम्मेलन आयोजित किया जाएगा जिसमें इन मुद्दों को जोरशोर से उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनका संगठन हर तरह की सांप्रदायिकता के खिलाफ है। उत्तर प्रदेश में मुसलमानों को उनकी जीविका चलाने के अवसरों से वंचित किया जा रहा है। यही नहीं मुसलमानों और दलितों पर हमले बढ़ने से इनका चैन से जीना दूभर हो रहा है।उन्होंने अपने संगठन की प्रदेश इकाई की महिला शाखा की नव मनोनीत अध्यक्ष नाहिद अकील और प्रदेश अध्यक्ष मोहम्मद वसीम राईन का परिचय करवाया। इसके अलावा उन्होंने 'राष्ट्रवाद, देशभक्ति और स्वतंत्रता' शीर्षक से प्रकाशित एक पुस्तिका का लोकार्पण भी किया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ali Anwar