class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुराने के बदले गडडी थमाई

जेवर झटक कर पुराने नोटों की गड्डी के बदले थमा दी रद्दी-मेडिकल कॉलेज में दांत दिखाने गई थी पीड़ितालखनऊ निज संवाददाता चौक में टप्पेबाजों ने मेडिकल कॉलेज के बाहर एक महिला को बातों में फंसाकर जेवर उतरवाए और उसके बदले एक गड्डी थमा दी। आरोपियों ने महिला को झांसा दिया कि गड्डी में दो लाख के पुराने नोट हैं। आरोपियों के जाने के बाद महिला ने गड्डी देखी तो उसमें रद्दी भरी थी। पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की है। राजाजीपुरम में सी-ब्लॉक निवासी राकेश सिंह रेलवे कर्मी हैं। उनकी पत्नी नीता सिंह सुलतानपुर में आंगनबाड़ी विभाग में काम करती हैं। नीता ने बताया कि कुछ दिन से उन्हें दांत में तकलीफ थी। गुरुवार को वह केजीएमयू के डेण्टल कॉलेज में इलाज कराने गई थीं। डॉक्टर को दिखाने के बाद वह बाहर आईं तो उन्हें एक युवक मिला। उसने बाराबंकी के लिए साधन के बारे में पूछा। नीता ने उससे कहा कि-सिटी स्टेशन पास में है, वहीं से बाराबंकी की ट्रेन मिलेगी। इस पर युवक ने कहा कि-मेरे पास रुपये नहीं हैं, कुछ मदद कीजिये।दूसरे युवक ने बातों में फंसायानीता युवक से बात कर ही रही थीं कि इसी बीच दूसरा युवक आ गया। उसने नीता से कहा कि वह कानपुर में एक बड़ी कंपनी में नौकरी करता था। नौकरी छोड़ने पर उसे कंपनी ने पूरा भुगतान पुराने नोटों में किया है। उसने अखबार में लिपटी हुई एक गड्डी दिखाते हुए कहा कि इसमें दो लाख के पुराने एक हजार के नोट हैं। युवक ने नीता को बातों में फंसाते हुए कहा कि वह इन्हें बैंक में इकट्ठा नहीं जमा कर सकता है। महिलाओं को जमा करने में है ढाई लाख की छूटटप्पेबाज ने नीता से कहा कि-आप महिला हैं...ढाई लाख रुपये तक अपने खाते में जमा कर सकती हैं, इन्हें ले लीजिये और अपने जेवर मुझे दे दीजिये। नीता टप्पेबाज की बातों में आ गईं। उन्हें जेवर के बदले दो लाख का सौदा अच्छा लगा। नीता ने सोने की चेन, कान की बालियां और अंगूठी युवक को दे दी। टप्पेबाज युवक ने नीता को अखबार में लिपटी गड्डियां थमा दीं और फिर दोनों खिसक गए। दोनों के जाने के बाद नीता ने अखबार खोला तो उसमें कागज थे। केवल ऊपर एक-एक 50 रुपये का नोट लगा था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:गड्डी
From around the web