शनिवार, 31 जनवरी, 2015 | 01:29 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
फतुहा में बिजली की तार की चपेट में ट्रॉली आई, दो की मौतअमिता को पीजीआई लखनऊ भेजा गया था महिला के खून का नमूना, जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टिबरेली में स्वाइन फ्लू से पहली मौत की पुष्टि, राममूर्ति मेडिकल कालेज में हुई थी 24 जनवरी को सीबीगंज की अमिता उपाध्याय की मौतपाकिस्तान के शिकारपुर में ब्लास्ट, 20 लोगों की मौतयूपी: लखीमपुर खीरी के मैगलंगज में युवक की हत्या, ट्रैक्टर ट्रॉली पर फेंक दिया शव, गला दबाकर हत्या का आरोपबरेली : इंडियन वैटेनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईवीआरआई) और सेंट्रल एवियन रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएआरआई) में रेबीज का कहर, आवारा कुत्तों के काटने से कई वैज्ञानिक रेबीज की चपेट में, मारे गए कुत्तों के पोस्टमार्टम में रेबीज की पुष्टि
दुर्घटना में खोई एक आंख, 7.71 लाख का मुआवजा
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:08-01-13 04:22 PM

दिल्ली के एक मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण (एमएसीटी) ने दो साल की उम्र में सड़क दुर्घटना में एक आंख गंवाने वाले बच्चों को लगभग आठ लाख रुपये का मुआवजा देने का आदेश दिया।

मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण ने इफको-तोकियो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को उत्तम नगर निवासी पीयुष जैन को सात लाख 71 हजार 931 रुपए अदा करने का निर्देश दिया। पीयूष जिस होंडा सिटी कार की टक्कर से जख्मी हुआ था उसका बीमा इसी कंपनी से हुआ है।

पीयूष के पिता अजय जैन ने अधिकरण को बताया कि अक्टूबर 2010 को हुई दुर्घटना के वक्त वह अपने भाई के साथ स्कूटर से जा रहे थे और पीयुष उनकी गोद में था। उत्तम नगर में लापरवाही से कार चला रहे दीपक गुप्ता ने उन्हें पीछे से टक्कर मार दी थी।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड