शनिवार, 31 जनवरी, 2015 | 01:32 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
फतुहा में बिजली की तार की चपेट में ट्रॉली आई, दो की मौतअमिता को पीजीआई लखनऊ भेजा गया था महिला के खून का नमूना, जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टिबरेली में स्वाइन फ्लू से पहली मौत की पुष्टि, राममूर्ति मेडिकल कालेज में हुई थी 24 जनवरी को सीबीगंज की अमिता उपाध्याय की मौतपाकिस्तान के शिकारपुर में ब्लास्ट, 20 लोगों की मौतयूपी: लखीमपुर खीरी के मैगलंगज में युवक की हत्या, ट्रैक्टर ट्रॉली पर फेंक दिया शव, गला दबाकर हत्या का आरोपबरेली : इंडियन वैटेनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईवीआरआई) और सेंट्रल एवियन रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएआरआई) में रेबीज का कहर, आवारा कुत्तों के काटने से कई वैज्ञानिक रेबीज की चपेट में, मारे गए कुत्तों के पोस्टमार्टम में रेबीज की पुष्टि
वित्तायुक्त ने ली एनएबीएच के विषय में जानकारी
First Published:05-01-13 11:30 PM

फरीदाबाद कार्यालय संवाददाता

स्वास्थ्य विभाग की वित्तायुक्त व प्रधान सचवि नवराज सिंह संद्धू और महानिदेशक डॉ. नरेंद्र अरोड़ा ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग से बादशाह खान अस्पताल में मौजूद सुविधाओं के विषय में जानकारी ली, ताकि राष्ट्रीय अस्पताल एवं स्वास्थ्य प्रमाणन बोर्ड (एनएचबीएच) के नार्म्स को पूरा किया जा सके। इस मौके पर गुड़गांव, रोहतक, पानीपत, सोनीपत और फरीदाबाद के सिविल सर्जन व वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। प्रदेश सरकार ने फरीदाबाद और गुड़गांव के राजकीय अस्पताल को एनएचबीएच की श्रेणी में रखने का निर्णय लिया गया।

इसे अंतिम रूप देने के लिए प्रभारी प्रधान मेडिकल अधिकारी डॉ. कृष्ण कुमार, सिविल सर्जन डॉ. अरविंद लोहान और डॉ. राजेश धीमन ने अस्पताल में मौजूद सभी सुविधाओं के विषय में जानकरी दी। इस बीच एनएचबीएच के अधिकारियों ने अस्पताल का निरीक्षण भी किया। इस दौरान डॉक्टर की कमी, ऑपरेशन थिएटर का आधुनिकरण और खामियों की पहचान कर दूर करने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए कमेटी भी बनाई गई है। उन्होंने बताया कि गंभीर रोगियों के लिए वेंटिलेटर, आईसीयू, डायलिसिस सहित कई सुविधाएं शुरू की जाएगी।

पांच चरण में अपडेट होगा अस्पताल- प्रथम चरण : डॉक्टरों व कर्मचारियों की कमी होगी दूर-दूसरा चरण : स्टोर, लांड्री और किचन -तीसरा चरण : सेंट्रली रजिस्ट्रेशन और कॅम्प्यूटराइज्ड रिकार्ड-चौथा चरण : मेडिकल हेल्थ स्टैंडर्ड के नार्म्स के अनुसार सुविधाएं- पांचवा चरण: समीक्षा।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड