शुक्रवार, 04 सितम्बर, 2015 | 22:03 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नहीं देख पा रहे हैं कि सरकार से इतर असहिष्णु तत्व उन्हें एवं उनकी सरकार को नियंत्रित कर रहे हैं: राहुल गांधी ने मोदी-आरएसएस बैठक पर ट्वीट किया।
वित्तायुक्त ने ली एनएबीएच के विषय में जानकारी
First Published:05-01-2013 11:30:41 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

फरीदाबाद कार्यालय संवाददाता

स्वास्थ्य विभाग की वित्तायुक्त व प्रधान सचवि नवराज सिंह संद्धू और महानिदेशक डॉ. नरेंद्र अरोड़ा ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग से बादशाह खान अस्पताल में मौजूद सुविधाओं के विषय में जानकारी ली, ताकि राष्ट्रीय अस्पताल एवं स्वास्थ्य प्रमाणन बोर्ड (एनएचबीएच) के नार्म्स को पूरा किया जा सके। इस मौके पर गुड़गांव, रोहतक, पानीपत, सोनीपत और फरीदाबाद के सिविल सर्जन व वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। प्रदेश सरकार ने फरीदाबाद और गुड़गांव के राजकीय अस्पताल को एनएचबीएच की श्रेणी में रखने का निर्णय लिया गया।

इसे अंतिम रूप देने के लिए प्रभारी प्रधान मेडिकल अधिकारी डॉ. कृष्ण कुमार, सिविल सर्जन डॉ. अरविंद लोहान और डॉ. राजेश धीमन ने अस्पताल में मौजूद सभी सुविधाओं के विषय में जानकरी दी। इस बीच एनएचबीएच के अधिकारियों ने अस्पताल का निरीक्षण भी किया। इस दौरान डॉक्टर की कमी, ऑपरेशन थिएटर का आधुनिकरण और खामियों की पहचान कर दूर करने का निर्देश दिया गया है। इसके लिए कमेटी भी बनाई गई है। उन्होंने बताया कि गंभीर रोगियों के लिए वेंटिलेटर, आईसीयू, डायलिसिस सहित कई सुविधाएं शुरू की जाएगी।

पांच चरण में अपडेट होगा अस्पताल- प्रथम चरण : डॉक्टरों व कर्मचारियों की कमी होगी दूर-दूसरा चरण : स्टोर, लांड्री और किचन -तीसरा चरण : सेंट्रली रजिस्ट्रेशन और कॅम्प्यूटराइज्ड रिकार्ड-चौथा चरण : मेडिकल हेल्थ स्टैंडर्ड के नार्म्स के अनुसार सुविधाएं- पांचवा चरण: समीक्षा।

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingद्रविड़ चाहते हैं टेस्ट में पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करे रहाणे
टेस्ट क्रिकेट में अजिंक्य रहाणे के बल्लेबाजी क्रम को लेकर चल रही बहस में हिस्सा लेते हुए पूर्व भारतीय कप्तान राहुल द्रविड़ ने कहा कि वह चाहते हैं कि राजस्थान रायल्स टीम में एक समय उनका साथी रहा यह बल्लेबाज पांचवें नंबर बल्लेबाजी करे और तीसरे नंबर पर नहीं जहां वह श्रीलंका के खिलाफ अंतिम दो टेस्ट में खेलने उतरे।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।