शनिवार, 01 नवम्बर, 2014 | 02:08 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
विद्या प्रकाश ठाकुर ने भी राज्यमंत्री पद की शपथ लीदिलीप कांबले ने ली राज्यमंत्री पद की शपथविष्णु सावरा ने ली मंत्री पद की शपथपंकजा गोपीनाथ मुंडे ने ली मंत्री पद की शपथचंद्रकांत पाटिल ने ली मंत्री पद की शपथप्रकाश मंसूभाई मेहता ने ली मंत्री पद की शपथविनोद तावड़े ने मंत्री पद की शपथ लीसुधीर मुनघंटीवार ने मंत्री पद की शपथ लीएकनाथ खड़से ने मंत्री पद की शपथ लीदेवेंद्र फडणवीस ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली
राजधानी में साल का आखिरी दिन मौसम का सबसे सर्द
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:31-12-12 10:20 PM

राष्ट्रीय राजधानी में नव वर्ष की शुरुआत से एक दिन पहले सोमवार का दिन इस मौसम का यहां का अब तक का सबसे सर्द दिन रहा। अधिकतम तापमान औसत से सात डिग्री नीचे 13.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह न सिर्फ इस मौसम का सबसे सर्द दिन था, बल्कि पिछले पांच सालों में सबसे सर्द 31 दिसम्बर भी रहा।

इस मौसम का दूसरा सबसे सर्द दिन रहा 27 दिसम्बर, जब अधिकतम तापमान घटकर 16.6 डिग्री सेल्सियस हो गया था। पिछले पांच सालों में दूसरा सबसे ठंडा 31 दिसम्बर 2011 था, जब अधिकतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस था।

सोमवार को न्यूनतम तापमान भी औसत से दो डिग्री सेल्सियस कम 5.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वर्ष 2012 जहां समाप्ति को है, वहीं मंगलवार को नव वर्ष का पहला दिन काफी सर्द रहने का अनुमान है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी ने बताया कि नव वर्ष की पहली सुबह भी इतनी ही सर्द रहेगी लेकिन कोहरे की चादर उथली होगी।

सोमवार को मौसम सर्द रहने के साथ सुबह के समय पूरा शहर कोहरे की उथली चादर में लिपटा रहा। बाद में दिन चढ़ने के साथ धूप निकल आई। आईएमडी का पूर्वानुमान है कि मंगलवार को न्यूनतम तापमान पांच डिग्री सेल्सियस रह सकता है। एक अधिकारी ने बताया कि बर्फीली हवाएं दिल्लीवासियों को कड़ाके की सर्दी का एहसास कराएंगी।

सोमवार को अधिकतम और न्यूनतम आद्रता क्रमश: 100 और 66 दर्ज की गई। आईएमडी अधिकारी ने बताया कि इस बार दिसम्बर में कोहरा सामान्य रहा है। 23, 25 व 31 दिसम्बर को घना कोहरा रहा।

उत्तर रेलवे के मुताबिक उत्तर भारत में घने कोहरे के कारण बहुत सी रेलगाड़ियों का परिचालन प्रभावित हुआ है। उत्तर रेलवे ने एक वक्तव्य जारी कर कहा कि 24 रेलगाड़ियां देरी से चल रही हैं जबकि 13 को रद्द कर दिया गया है। उत्तर भारत के कई हिस्सों में घने कोहरे के कारण सोमवार को रेल सेवाएं बुरी तरह प्रभावित रहीं।

राजधानी में हालांकि इस साल दिल्ली हवाईअड्डे की हवाईपट्टी पर घने कोहरे में भी उड़ानों का संचालन करने में मदद करने के लिए सीएटी-3 प्रणाली लगाए जाने के कारण विमानों का परिचालन अधिक बाधित नहीं हुआ।

 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ