मंगलवार, 03 मार्च, 2015 | 12:50 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
महिलाओं को ड्राइविंग लाइसेंस की फीस नहीं लगेगीकोई अतिरिक्त टैक्स नई लगेगापुलिस में 10 हजार न्यूक्तियां होगीनया पुलीस एक्ट बनेगाराज्य विकास परिशद का गठन होगासीएम रघुवीर दास के पास ही वित्त विभाग भी है। यह नई सरकार का पहला बजट हैझारखंड मुख्यमंत्री ने बजट पेश करना शुरू किया
पड़ोसी भी सदमे में, छलकी आंखें
First Published:30-12-12 10:42 PM

 नई दिल्ली वरिष्ठ संवाददाता

इस मौत के बाद पड़ोसियों की हालत भी कुछ अच्छी नहीं। पूरे इलाके में मातम पसरा हुआ था और उसकी मौत की सूचना आने के बाद शायद ही किसी पड़ोसी का चूल्हा जला हो। इस सब के बीच कई महिलाएं आंखों में आंसू लिए उसके घर को नहिार रहीं थी। उसके मिलनसार व्यवहार की चर्चा कर फफक रहीं थीं। हालांकि इस दर्दनाक हादसे के बाद किसी की हिम्मत उनके परिजनों से आंखें मिलाने की नहीं हो रही थी।

शनिवार की सुबह मौत की सूचना तड़के ही मुहल्ले में पहुंच गई थी। उसके बाद सभी सड़कों पर उतर आए थे और शव के आने का इंतजार कर रहे थे। सुबह जब अचानक वहां की सुरक्षा बढ़ाई गई तो कई लोग डर भी गए थे, बाद में पुलिस अधिकारियों के समझाने पर उन्हें स्थिति का अंदाजा हुआ। इलाके की कई लड़कियां एक साथ जुटी हुई थीं और मृतिका को इंसाफ दिलाने के लिए आवाज भी बुलंद कर रहीं थीं। उनका कहना था कि दरिंदों को ऐसी सजा मिलनी चाहिए कि फिर कोई ऐसा घृणित कार्य करने की हिम्मत न जुटा पाए।

पड़ोसियों का कहना था कि वारदात के दो दिन बाद ही उन्हें पता लग सका था कि यह हादसा उसी के साथ हुआ है। सब उसके जल्द ठीक होने की दुआ भी मांग रहे थे लेकिर शायद किस्मत को मंजूर नहीं था।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड