रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 13:23 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
बुलंदशहर।खुर्जा के तेलियाघाट रजवाहे में रविवार की सुबह युवक का शव मिलने से सनसनी फैल गयी| पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव को कब्जे में ले लिया| तलाशी में मृतक की जेब से मोबाइल बरामद हुआ| जिसके आधार पर पुलिस ने मृतक की शिनाख्त बुलंदशहर के मोहल्ला साठा निवासी विनीत चौधरी पुत्र हरप्रसाद के रूप में की है| विनीत बुलंदशहर में मिठाई की दुकान करता था।धारदार हथियार से हमला कर हत्या की आशंका जताई जा रही है| विनीत शनिवार रात दुकान से घर नहीं पहुंचा था।गोड्डा के मेहरमा ठाकुरगंगटी प्रखंड क्षेत्र में बारिश की वजह से नदी में आए बाढ़ का पानी दो गांवों में घुसा। गांव का संपर्क प्रखंड से टूटा
‘नाबालिग के नाम पर बचने नहीं देंगे’
First Published:29-12-2012 11:42:52 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

‘पीआईएल’नई दिल्ली वरिष्ठ संवाददाता

पीड़िता की मौत ने एक तरफ जहां पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है, वहीं इस दर्दनाक घटनाक्रम का गवाह रहा उसक दोस्त अंदर तक हिल गया है। उसके परिजन इस सूचना से आहत थे, लेकिन अब उनका एक ही मकसद है कि दरिंदों को फांसी तक पहुंचाया जाए। इस बीच छह में से एक दरिंदा खुद को नाबालिग बता रहा है, लेकिन शिकायतकर्ता का कहना है कि उसे इस बात का लाभ नहीं मिलना चाहिए।

शिकायतकर्ता के मामा व वकील डी.के. मिश्रा ने बताया कि वे अदालत में पीआईएल दायर करेंगे और उसे सजा-ए-मौत दिलाने की अपील करेंगे। मिश्रा का कहना था कि सिर्फ एक स्कूल के सर्टिफिकेट में छह माह के आंकड़े को दिखा और नाबालिग बनकर वह इस नृशंस हत्या के आरोप से नहीं बच सकता है। उनका कहना था कि ऐसे उदाहरण हैं जब इस तरह के मामलों में सजा हुई हैं। इस बीच प्रशासन ने नाबालिग आरोपी को दूसरे सुधार गृह में भेज दिया है।

सुरक्षा की दृष्टि से यह फैसला किया गया है। दोस्त भी लड़ रहा है इंसाफ की जंग :13 दिनों के संघर्ष के बाद पीड़िता मौत से हार गई, लेकिन उसका दोस्त इंसाफ की जंग को अंजाम तक ले जाने में लगा है। युवक का पूरा परिवार उसके साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है। दिल्ली के अस्पताल में जब पीड़िता संघर्ष कर रही थी तो युवक शिकायत दर्ज कराने से लेकर, आरोपियों को पकड़वाने, पहचान करने और सुबूत जुटाने की कोशशि में कानून की मदद में लगा था।

पुलिस की उसने काफी मदद की। यहां तक कि उसी के सुराग पर दरिंदे सलाखों के पीछे पहुंचे। तड़के ढाई बजे ही आ गई थी सूचना :शिकायतकर्ता के परिवार को तड़के ढाई बजे ही सूचना मिली कि पीड़िता अब इस दुनिया में नहीं रही। इसके बाद सिंगापुर के आईसीयू में फैला मातम का साया दिल्ली पहुंच गया। युवक ने इस पूरे दर्दनाक हादसे को सबसे करीब से देखा था और इसे टालने की भरपूर कोशशि की थी। ऐसे में कहीं न कहीं उसे पूरे घटनाक्रम की कचोट है।

परिजन उसे सबके सामने लाने में हिचकिचा रहे हैं, लेकिन इंसाफ की लड़ाई में वह उसके साथ है।

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: बिन्नी, इशांत ने श्रीलंका को झंकझोरा
भारतीय क्रिकेट टीम ने अपने तेज गेंदबाजों के दाम पर सिंहलीज स्पोट्स क्लब मैदान पर जारी तीसरे टेस्ट मैच के तीसरे दिन रविवार को 47 रनों के कुल योग पर श्रीलंका के 6 विकेट झटक लिए हैं।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!