गुरुवार, 30 अक्टूबर, 2014 | 23:04 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
सुरक्षित बनाने के लिए जनता पुलिस से सहयोग करें
First Published:28-12-12 11:13 PM

नई दिल्ली, प्रमुख संवाददाता

पैरामेडिकल छात्रा के साथ हुए सामूहिक बलात्कार को लेकर पुलिस को आड़े हाथ ले चुकी दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित ने शुक्रवार कासे कहा कि वह सिर्फ यही चाहती है कि दिल्ली सभी नागरिकों के लिए सुरक्षित बने और इस प्रयास में समाज को पुलिस को सहयोग देना चाहिए। शीला ने कहा कि दिल्ली सभी के लिए सुरक्षित होनी चाहिए। दिल्ली एक बहुत बड़ा शहर है। मुझे लगता है कि पुलिस के प्रशिक्षण में सुधार होना चाहिए।

व्यवस्था को फौरन कार्रवाई करनी चाहिए और समाज को भी सहयोग देना चाहिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी सरकार दिल्ली महिला आयोग के सहयोग से दो जनवरी को प्रगति मैदान से राजघाट तक महिला गरिमा मार्च निकालेगी। उन्होंने कहा कि पुलिस को शहर में सुरक्षा माहौल सुनशि्चित करने के प्रति जवाबदेह होना चाहिए। पुलिस के साथ अपने टकराव को हवा देते हुए शीला ने इस हफ्ते के शुरू में गहमंत्री सुशील कुमार शिंदे को पत्र लिखकर सामूहिक बलात्कार की पीड़िता का बयान दर्ज करते समय पुलिस अधिकारियों के हस्तक्षेप की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की थी।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ