सोमवार, 06 जुलाई, 2015 | 17:00 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
सुप्रीम कोर्ट का उतर प्रदेश सरकार को सख्त आदेश, बिना टीईटी पास लोगों को शिक्षा मित्र नियुक्त न करें।डॉक्टर अरुण शर्मा का सफदरजंग में पोस्टमार्टम शुरू, सूत्रों के अनुसार शराब के बाद हाइपरटेंशन और शुगर की दवा खाने से मौत की संभावना।
शिकायतकर्ता महिला ने पहले भी लगाए थे गलत आरोप
First Published:27-12-12 11:35 PM

लखनऊ विशेष संवाददाता राज्य मुख्यालय। प्रदेश के एडीजी कानून-व्यवस्था अरुण कुमार ने कहा है कि दिल्ली के कालका थाने में दुराचार की रिपोर्ट दर्ज कराने वाली युवती पहले भी वर्ष 2010 में दुराचार का आरोप लगा चुकी है। उसके आरोपों की आगरा के सिकंदरा थाने की पुलिस ने जांच की थी और उन्हें गलत पाए जाने पर एफआईआर नहीं दर्ज की गई। पुलिस ने जांच में आरोपों को गलत पाया था। अरुण कुमार ने कहा कि वह महिला द्वारा ताजा आरोपों पर कुछ नहीं कहेंगे।

दिल्ली के कालका थाने की पुलिस वृंदावन आयी है। वह जांच कर रही है। जो भी सही हो, वही करे लेकिन महिला और उसके साथी का वंृदावन निवासी लोगों से संपत्ति का विवाद चल रहा है। यही नहीं, महिला व उसका साथी वर्ष 2009-10 में गैंगस्टर में गिरफ्तार भी किए जा चुके हैं।

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड