शुक्रवार, 28 अगस्त, 2015 | 10:38 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
उत्तर प्रदेश: रामपुर में मंसूरपुर बाईपास पर हादसा, तीन की मौत, बोलेरो ने मारी बाइक को टक्कर।उत्तर प्रदेश: अमरोहा में हाईवे पर स्थित रजबपुर थाना इलाके में शहीद अरविंद फिलीग स्टेशन पर रात ढाई बजे नकाबपोश बदमाशों ने की लूटपाट, कर्मचारियों को बंधक बनाकर दस हजार लूटे।बिहार के जमुई में सरपंच के पति की नक्सलियों ने गोली मारकर की हत्या, झाझा के मानिक थाना की घटना।
प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के बाद कई रास्ते किए गए बंद
First Published:24-12-2012 11:26:30 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

नई दिल्ली वरिष्ठ संवाददाता

लुटियन जोन इलाके में प्रदर्शनकारियों को रोकने के नीयत से लगाई गई धारा-144 के बाद कनॉट प्लेस और इंडिया गेट को जोड़ने वाले कई मार्गो को आम यातायात के लिए बंद कर दिया गया। इन मार्गो पर पीसीआर के जवानों, स्थानीय पुलिस की टीम व अर्धसैनिकल बलों के करीब पांच हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती कर दी गई। इंडिया गेट व आसपास के इलाके को तो छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

आलम यह है कि यहां हर तरफ सुरक्षा कर्मी ही दिखाई दे रहे हैं। इंडिया गेट पर तो सुरक्षाकर्मियों की टीम अपनी पैनी नजर गड़ाए हुए है। यहां लगे सभी सीसीटीवी कैमरों को सीधे पुलिस कंट्रोल रूम से जोड़ दिया गया है, ताकि संदिग्धों की गतिविधियों की मॉनिटरिंग की जा सके। आलम यह है कि पहले मुख्य-मुख्य लोकेशन पर लगे कैमरों के फुटेज की मॉनिटरिंग कंट्रोल रूम में की जाती थी, लेकिन इस घटना के बाद अब सभी कैमरों को मॉनिटरिंग की जद में कर दिया गया है।

सादे वेश में भी पुलिसकर्मियों और खुफिया कर्मियों की टीम की तैनाती की गई है। सामूहिक दुष्कर्म की घटना से उभरे जनाक्रोश को देखते हुए पुलिस ने रविवार को जंतर-मंतर सहित पूरे नई दिल्ली जिले में धारा-144 लागू करने किया था। इसके बाद से ही लोगों को इंडिया गेट से खदेड़ने का सिलसिला चालू कर दिया गया था। पहले तो सबकुछ शांतिपूर्ण तरीके से चल रहा था, लेकिन पानी की बौछारों व आंसू गैस छोड़ने के बाद स्थिति तनावपूर्ण हो गई थी और पुलिस ने जमकर लाठियां भांजनी शुरू कर दी थी।

लाठीचार्ज व आंसू गैस के जरिये पुलिस ने अंतत: देर शाम प्रदर्शनकारियों को इंडिया गेट से खदेड़ भी दिया था। हालांकि पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर पथराव करने, सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, दंगा करने व पुलिस पर हमला करने का मामला दर्ज कर कई लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया था। कितने थे सुरक्षाकर्मी पूरे नई दिल्ली जिले में - करीब 5000 इसमें दिल्ली पुलिस के जवान- 2500 अर्धसैनिक बलों के जवान- 1500 रैफिड एक्शन फोर्स व अन्य यूनिटों के- 1000 कुल तैनाती में महिलाओं की संख्या- 500

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: भारत को पहला झटका, राहुल आउट
भारतीय क्रिकेट टीम ने शुक्रवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ तीसरा निर्णायक टेस्ट में बल्लेबाजी करते हुए अपना पहला विकेट गंवा दिया। लोकेश राहुल दो रन बनाकर प्रसाद की गेंद पर बोल्ड हो गए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब पप्पू पहंचा परीक्षा देने...
अध्यापिका: परेशान क्यों हो?
पप्पू ने कोई जवाब नहीं दिया।
अध्यापिका: क्या हुआ, पेन भूल आये हो?
पप्पू फिर चुप।
अध्यापिका : रोल नंबर भूल गए हो?
अध्यापिका फिर से: हुआ क्या है, कुछ तो बताओ क्या भूल गए?
पप्पू गुस्से से: अरे! यहां मैं पर्ची गलत ले आया हूं और आपको पेन-पेंसिल की पड़ी है।