बुधवार, 29 जुलाई, 2015 | 01:12 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    भारत को लौटाया जाए कोहिनूर हीरा: कीथ वाज  याकूब की फांसी की सजा बदलने के लिए महाराष्ट्र के मुस्लिम विधायकों ने राष्ट्रपति से की अपील हो जाइए तैयार अब स्पाइसजेट सिर्फ 999 रुपये में कराएगी हवाई सफर कलाम के सम्मान में संसद दो दिनों के लिए स्थगित, मंत्रिमंडल ने शोक जताया बढ़ चला बिहार कार्यक्रम को हाईकोर्ट का झटका, ऑडियो-विडियो प्रदर्शन पर रोक CCTV में कैद हुए गुरदासपुर हमले के गुनहगार, AK-47 लिए सड़कों पर घूमते दिखे आतंकी साड़ी, शॉल, आम की कूटनीति बंद कर पाकिस्तान के खिलाफ इंदिरा जैसा साहस दिखाये PM मोदी 29 जुलाई से बाजार में आएगा माइक्रोसॉफ्ट ओएस विंडोज-10, करें डाउनलोड पीएम मोदी ने दी कलाम को श्रद्धांजलि, बोले- भारत ने खोया अपना रत्न कलाम का अंतिम संस्कार रामेश्वरम में होगा, पीएम मोदी सहित कई हस्तियों के पहुंचने की संभावना
सामूहिक दुष्कर्म के आरोपियों को न्यायिक हिरासत में भेजा
First Published:21-12-2012 10:28:28 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

नई दिल्ली वरिष्ठ संवाददाता

मंगोलपुरी में हुई सामूहिक दुष्कर्म की घटना के मामले में गिरफ्तार किए गए तीन आरोपियों को गुरुवार को अदालत में पेश किया गया। अदालत ने फिलहाल इन आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। चौथा आरोपी संदीप फिलहाल जमानत पर है। पुलिस सूत्रों के अनुसार बीते चार दिसम्बर को मंगोलपुरी में 9वीं कक्षा की एक छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। इस वारदात में दो युवकों ने छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था, जबकि उनके दो अन्य दोस्त वहां मौजूद थे।

पुलिस ने इस शिकायत पर सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज कर दो आरोपियों कुलदीप और छपरी को गिरफ्तार किया था। जांच में पुलिस को पता चला कि यह अपराध एक जूते की दुकान पर अंजाम दिया गया था। इसके बाद आईपीसी की धारा 120बी (साजशि) के तहत दुकान के मालिक संदीप व नानू नामक दो अन्य आरोपियों को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया था। अभी तक की जांच में संदीप व नानू द्वारा दुष्कर्म किए जाने की बात से पुलिस ने इनकार किया है।

गुरुवार को पहले से न्यायिक हिरासत में चल रहे तीन आरोपियों कुलदीप, छपरी और नानू को अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingप्रतिबंध हटाने के लिए बीसीसीआई से संपर्क करूंगा: श्रीसंत
जब वह तिहाड़ जेल में था तो वह आत्महत्या के बारे में सोच रहा था लेकिन तेज गेंदबाज एस श्रीसंत को अब उम्मीद बंध गई है कि वह वापसी कर सकते हैं और खुद पर लगे प्रतिबंध को हटाने के लिये वह बीसीसीआई से संपर्क करेंगे।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड