मंगलवार, 04 अगस्त, 2015 | 17:15 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
झारखंड: जमशेदपुर में एमडीएम में छिपकली गिरने से एक दर्जन बच्चे गंभीर बीमार, एमजीएम में चल रहा है इलाज।
सामूहिक दुष्कर्म मामले में छात्र को नहीं मिली जमानत
नयी दिल्ली, एजेंसी First Published:21-12-2012 06:44:29 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

दिल्ली की एक अदालत ने जामिया मिलिया इस्लामिया विश्वविद्यालय में कानून के एक छात्र को जमानत देने से इंकार कर दिया है जिसे एक नाबालिग लड़की को दो महीने से ज्यादा समय तक बंधक बनाकर सामूहिक बलात्कार के आरोप में चार अन्य लोगों के साथ गिरफ्तार किया गया था।
 
जिला न्यायाधीश आर के गाबा ने पुलकित चौधरी की जमानत याचिका खारिज कर दी और कहा कि मामले में जांच शुरूआती चरण में है तथा आरोपी जमानत पर रिहा किए जाने का हकदार नहीं है। अदालत ने कहा,  इस चरण में आवेदन को स्वीकार नहीं किया जा सकता, इसलिए इसे खारिज किया जाता है। पुलिस ने अदालत से कहा कि वह मामले की गहन जांच कर रही है और इस संबंध में और गिरफ्तारी होने की उम्मीद है।
    
पुलिस ने चार दिसंबर को पांच युवकों को गिरफ्तार किया था। इनमें तीन कानून के छात्र हैं। 16 वर्षीय पीडि़त की मां ने 15 सितंबर को दक्षिण दिल्ली के डिफेंस कालोनी थाने में शिकायत दर्ज करायी थी। गिरफ्तार सभी पांच आरोपी इस समय तिहाड़ जेल में हैं।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

संता बंता और अलार्म

संता बंता से - 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह सुबह मेरी नींद खुल गई।

बंता - क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?

संता - नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।