सोमवार, 01 सितम्बर, 2014 | 19:11 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    शिखर वार्ता शुरू, कई समझौतों पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद सीबीआई ने वीरभद्र के खिलाफ दाखिल की अंतिम रिपोर्ट  इमरान और कादरी के खिलाफ आतंकवाद निरोधक कानून के तहत मामला दर्ज  गुजरात में बनेगा एशिया का पहला बैलिस्टिक अनुसंधान केंद्र आतंकवाद रुकने तक पाकिस्तान से बातचीत नहीं: राजनाथ आवासीय योजना शुरू होते ही डीडीए की साइट हुई क्रैश आवासीय योजना शुरू होते ही डीडीए की साइट हुई क्रैश आवासीय योजना शुरू होते ही डीडीए की साइट हुई क्रैश रंजीत के घर से 36 सिमकार्ड, 15 मोबाइल जब्त रंजीत के घर से 36 सिमकार्ड, 15 मोबाइल जब्त
 
वैवाहिक वेबसाइट पर फोटो अपलोड करना हराम: फतवा
बरेली, एजेंसी
First Published:21-12-12 01:22 PM
Last Updated:21-12-12 01:23 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

उत्तर प्रदेश के बरेली स्थित दरगाह आला हजरत के एक मदरसे ने वैवाहिक वेबसाइट तथा सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट फेसबुक इत्यादि पर फोटो अपलोड करने को नाजायज करार देते हुए मुसलमानों को इससे परहेज करने की सलाह दी है।

मदरसा मंजर-ए-इस्लाम के फतवा विभाग सें इजहार नामक व्यक्ति ने सवाल पूछा था कि वैवाहिक वेबसाइट और फेसबुक जैसी सोशल नेटवर्किंग वेबसाइट पर फोटो डालना किस हद तक जायज है।

इस पर मुफ्ती सैयद मोहम्मद कफील ने कहा कि इस्लाम में तस्वीर को नाजायज करार दिया गया है। ऐसे में इंटरनेट पर शादी के लिये या फिर फेसबुक पर फोटो अपलोड करना हराम होगा। उन्होंने कहा कि शादी के लिये फोटो लगाना बेहयाई है और मुसलमानों को इससे बचना चाहिये।

हालांकि उन्होंने कहा कि बगैर तस्वीर वाला बायोडाटा इंटरनेट पर डाला जा सकता है। इसके अलावा पासपोर्ट, हज या फिर अन्य आवेदनों के लिये फोटो लगायी जा सकती है, बशर्ते ऐसा करना जरूरी हो। कफील ने कहा कि इस्लाम में तस्वीर की मनाही का मूल उद्देश्य किसी साकार चीज की पूजा-परस्तिश को रोकना है।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°