शुक्रवार, 29 मई, 2015 | 11:24 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    4.3 लाख साल पहले हुई थी पहली बार इंसान की हत्या वीडियो: देखिए जब सिख लड़के ने अंग्रेज छात्र को सिखाया सबक बिंद्रा ने रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया IIT को बर्दाश्त नहीं मोदी की आलोचना, छात्र संगठन पर लगाया बैन देशभर में कहीं बारिश कहीं लू, अब तक 1826 लोगों की मौत पलमेरा के रोमन थिएटर में आईएस का नरसंहार केजरी और एलजी की जंग पर कुछ देर में कोर्ट का फैसला गुर्जरों को मिलेगा 5 फीसदी आरक्षण, रेल-सड़क मार्ग खुले कांग्रेस की चार पीढ़ियां RSS को रोक नहीं पाई: राम माधव मोदी ने मनमोहन से लिया था एक घंटे इकॉनोमी का ज्ञानः राहुल
हड़ताली कर्मियों ने किया विधायक का घेराव
First Published:19-12-12 12:32 AM

नोएडा। वरिष्ठ संवाददाता। आरक्षण संविधान संशोधन बिल पारित कराने की कोशिशों के विरोध में सरकारी कर्मचारियों का आंदोलन तेज होता जा रहा है। सोमवार को सैकड़ो कर्मचारियों ने नोएडा के विधायक के आवास का घेराव किया। कर्मचारियों ने ऐलान कर दिया है कि बिल वापस लिए जाने तक उनका आंदोलन तेज रहेगा। यदि सरकार ने उनकी मांग जल्दी नहीं मानी तो कर्मचारी दिल्ली व नोएडा को जोड़ने वाले रास्तों को जाम करने के लिए बाध्य हो जाएंगे।

सोमवार सुबह दस बजे से ही नोएडा अथॉरिटी के गेट पर जमा होने लगे थे। करीब पौने ग्यारह बजे जुलूस की शक्ल में करीब 200 कर्मचारी उद्योग मार्ग से होते हुए विधायक डॉ. महेश शर्मा के सेक्टर 15 ए स्थित आवास पर पहुंचे। करीब एक घंटे तक कर्मचारी उनके आवास पर रहे और भाजपा विरोधी नारे लगाए। कर्मचारी नेताओं ने अपनी मांग का ज्ञापन भी डॉ. महेश शर्मा को सौंपा। कर्मचारियों की मांग है कि भाजपा पहले चुनाव में जाए।

अपने घोषणा पत्र में इस मुद्दे को शामिल करने के बाद लोगों का समर्थन पा जाए तो संसद में बिल पास कराए। विधायक ने कर्मचारियों की मांगों को अपने उच्च पदाधिकारियों तक पहुंचाने का आश्वासन दिया। यहां से करीब दो बजे कर्मचारी सेक्टर 16ए, रजनीगंधा चौक और डीएससी रोड रोड होते हुए वापस अथॉरिटी आ गए। करीब तीन बजे कर्मचारियों की फिर बैठक हुई, जिसमें ऐलान किया गया कि मांग पूरी होने तक हड़ताल जारी रहेगी। आंदोलन का नेतृत्व कर रही सर्वजन हिताय संघर्ष समिति के संयोजक डीके जैन, नोएडा इंप्लाइज एसोसिएशन के अध्यक्ष कुशलपाल सिंह, महासचवि अशोक शर्मा, इंजीनियर एके चौधरी, प्रताप भान समेत एक दर्जन से अधिक मुख्य वक्ताओं ने एक ही बात पर जोर दिया कि सरकार जल्द उनकी मांगें माने, अन्यथा कर्मचारी दिल्ली और नोएडा को जोड़ने वाले रास्तों को बंद कर देंगे।

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingमूडी, पोटिंग, फ्लेमिंग या विटोरी हो सकते हैं टीम इंडिया के नए कोच
भारतीय टीम के पूर्व कोच डंकन फ्लेचर का कार्यकाल खत्म हो चुका है और बीसीसीआई अब एक नए कोच की तलाश में जुटी हुई है। टीम इंडिया का कोच बनना एक बड़ी चुनौती होती है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड