मंगलवार, 25 नवम्बर, 2014 | 04:03 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    श्रीनिवासन आईपीएल टीम मालिक और बीसीसीआई अध्यक्ष एकसाथ कैसे: सुप्रीम कोर्ट  झारखंड और जम्मू-कश्मीर में पहले चरण की वोटिंग आज पार्टियों ने वोटरों को लुभाने के लिए किया रेडियो का इस्तेमाल सांसद बनने के बाद छोड़ दिया अभिनय : ईरानी  सरकार और संसद में बैठे लोग मिलकर देश आगे बढाएं :मोदी ग्लोबल वॉर्मिंग से गरीबी की लड़ाई पड़ सकती है कमजोर: विश्व बैंक सोयूज अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लिए रवाना  वरिष्ठ नेता मुरली देवड़ा का निधन, मोदी ने जताया शोक  छह साल बाद पाक के पास होंगे 200 एटमी हथियार अलग विदर्भ के लिए गडकरी ने कांग्रेस से समर्थन मांगा
मॉडल आवासीय विद्यालय की सौगात मिलेगी
First Published:18-12-12 01:10 AM

गाजियाबाद। हमारे संवाददाता। यूपी बोर्ड के छात्रों को प्राइवेट स्कूलों की तर्ज पर सुविधाओं से लैस मॉडल आवासीय विद्यालय की सौगात मिलेगी। राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत बनने वाले मॉडल आवासीय विद्यालय को शासन ने हरी झंडी दे दी है।

वहीं माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर से रजापुर ब्लाक के मसूरी में विद्यालय के लिए जमीन भी चहि्न्ति कर ली है। छठीं से बारहवीं तक के विद्यालय में जुलाई से शुरू होने वाले नए सेशन से पढ़ाई शुरू हो जाएगी। फर्स्ट फेज में 100 छात्रों को मिलेगा प्रवेशमॉडल विद्यालय के लिए शासन से मंजूरी मिलने के बाद विभागीय स्तर पर विकास की कार्रवाई तेज हो गई है। राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के डिस्ट्रिक्ट कॉर्डिनेटर तसलीम ने बताया कि मॉडल विद्यालय का निर्माण कार्य जल्द शुरू हो जाएगा।

विद्यालय के लिए जमीन तय कर ली गई है। विभाग की योजना आगामी सत्र से कक्षाएं शुरू कराने की है। आवासीय विद्यालय होने की वजह से फर्स्ट फेज में केवल 100 छात्रों को प्रवेश दिया जाएगा। दूसरे फेज में इतने और छात्रों को दाखिला मिलेगा। उन्होंने बताया कि विद्यालय में छात्रों को छात्रावास के साथ तमाम सुविधाएं मिलेंगी। यूपी बोर्ड के छात्रों के लिए खुलने वाले मॉडल विद्यालय में प्राइवेट विद्यालय की तर्ज पर छात्रों को सभी सुविधाएं मिलेंगी। छात्रावास की सुविधा होने से छात्रों को बड़ी राहत मिलेगी।

वहीं छात्रों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए आईटीआई के कोर्स व कम्प्यूटर की रोजगारपरक भाषाएं सिखाई जाएंगी। आईटीआई से संबंधित कोर्स व कंप्यूटर की भाषाओं का ज्ञान होने से छात्र बारहवीं के बाद अपना कोई रोजगार डाल सकेंगे। अभियान में अब तक 10 हायर सेकेंडरी स्कूल हुए अपग्रेडराष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के पूरी तरह से लागू होने के बाद यूपी बोर्ड से संबद्ध विद्यालयों की तस्वीर ही बदल जाएगी। अभियान के तहत शासन ने जिले के सभी विद्यालयों में शैक्षिक व विकास के लिहाज से जरूरी जीचों की एक विस्तृत रिपोर्ट मांगी थी, जिसे भेज दिया गया है।

वहीं अभियान में अब तक बेसिक शिक्षा विभाग के 10 हायर सेकेंडरी स्कूलों की मान्यता बढ़ाकर हाईस्कूल की जा चुकी है। स्कूलों के उच्चीकरण की योजना में अभी 18 विद्यालय की मान्यता बढ़ाकर हाईस्कूल की जाएगी।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ