रविवार, 05 जुलाई, 2015 | 23:01 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    लालू की हैसियत महुआ रैली में उजागर, नीतीश को पक्का मारेंगे लंगड़ीः पासवान एयरइंडिया के यात्री ने की खाने में मक्खी की शिकायत  फेसबुक ने 15 साल बाद मां-बेटे को मिलाया  व्हाट्सएप मैसेज से बवाल कराने वाला बीए का छात्र मोहित गिरफ्तार मुरादाबाद: नदी में पलटी जुगाड़ नाव, आठ डूबे, सर्च ऑपरेशन जारी यूपी के रामपुर में दो भाईयों की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच में जुटी बिहार के हाजीपुर में भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद, छह गिरफ्तार झारखंड: चतरा के टंडवा में हाथियों ने कई घर तोड़े, खा गए धान बिहार में आंखों का अस्पताल बनाने के लिए इंडो-अमेरिकन्स का बड़ा कदम मुजफ्फरनगर के शुक्रताल में हजारों मछलियां मरीं, संत समाज बैठा धरने पर
कल्याण की पार्टी का भाजपा में विलय 21 जनवरी को
लखनऊ, एजेंसी First Published:17-12-12 11:04 AM

उत्तर प्रदेश में अपना अलग ही राजनीतिक रसूख रखने वाले सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह की राष्ट्रीय जनक्रांती पार्टी का विलय 21 जनवरी को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) में हो जाएगा। विलय को लेकर राजधानी में 21 जनवरी को एक बडे़ कार्यक्रम का खाका तैयार किया जा रहा है, जिसमें प्रदेश के सभी दिग्गज नेता शामिल होंगे।

कल्याण के बेटे राजवीर सिंह अपने पूरे दलबल के साथ 21 को भाजपा में शामिल होंगे लेकिन कल्याण सिंह को तकनीकी कारणों से अभी भाजपा से बाहर ही रहना होगा ताकि उनकी लोकसभा की सदस्यता बनी रहे।

दिल्ली में भाजपा के अध्यक्ष नितिन गडकरी और सूबे के प्रमुख नेताओं की मौजूदगी में रविवार को ही कल्याण की पार्टी के विलय की घोषणा की गयी। इस मौके पर पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी और राजनाथ सिंह भी मौजूद थे।

उल्लेखनीय है कि कल्याण वर्ष 2009 में दूसरी बार भाजपा छोड़कर गए थे। कल्याण की घर वापसी से भाजपा को निश्चित तौर पर ताकत मिली है साथ ही उसे उसके हिन्दुत्व के एजेंडे को धार देने वाला एक बड़ा चेहरा भी मिल गया है।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड