शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 13:16 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
समारोह में बीजेपी नेता अमित शाह भी मौजूदप्रधानमंत्री ने सफाई अभियान में मदद के लिये की तारीफआजादी के बाद माहौल बन गया था कि सब सरकार करेगी, लेकिन अब सब मिलकर करेंगे: मोदीजितना स्वास्थ्य जरूरी उतना ही स्वास्थ्य के लिये जागरुकता : मोदीमोदी ने कहा, सफाई राष्ट्रीय कर्तव्य हैबीजेपी के दीवाली समारोह में पीएम मोदीपत्रकारों से कहा, आपसे काफी दोस्ताना रिश्ता रहा हैमैं भी आपके लिये कुर्सियां लगाता था : मोदीमोदी : कभी कभार आपसे दृष्टी भी मिलती है
दिल्ली में सामूहिक दुष्कर्म, पीडिता की हालत नाजुक
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:17-12-12 10:25 AMLast Updated:17-12-12 04:27 PM

दिल्ली में रविवार रात चलती बस में एक लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म के सम्बंध में पुलिस ने चार संदिग्धों को हिरासत में लिया है।

इस अमानवीय घटना का शिकार हुई पीडिता की हालत बिगड़ रही है और उसके पेट और आंत में गंभीर चोटें आई हैं तथा उसके शरीर पर किसी भोथरी चीज से मारने के निशान हैं। उसे वेंटिलेटर पर रखा गया है। यह घटना रविवार रात उस वक्त हुई जब पेरा-मेडिकल की एक छात्रा फिल्म देखने के बाद अपने मित्र के साथ बस में सवार होकर मुनीरका से द्वारका जा रही थी।

पुलिस के मुताबिक लड़की के बस में बैठते ही लगभग पांच से सात यात्रियों ने उसके साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। उस बस में और यात्री नहीं थे। लड़की के मित्र ने उसे बचाने की कोशिश की लेकिन उन लोगों ने उसके साथ मारपीट की और लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। आरोपियों ने लड़की और उसके मित्र को दक्षिण दिल्ली के महिपालपुर के नजदीक वसंत विहार इलाके में बस से फेंक दिया।

दोनों पीडितों को पुलिस की जीप से सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया। चिकित्सकों के मुताबिक लड़की की हालत नाजुक है। जबकि उसके मित्र को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है और पुलिस ने उसका बयान ले कर मामला दर्ज कर दिया है।

पुलिस अधिकारी ने कहा, ''हमने चार लोगों को हिरासत में लिया है और दो बसों को जब्त किया है।''

दिल्ली की मुख्यमंत्री शीला दीक्षित पीडित लड़की की स्थिति से दुखी हैं और उनका कहना है कि हमलावरों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। दीक्षित ने कहा, ''परिवहन विभाग ने मुझे बताया है कि बस का लाइसेंस रद्द कर दिया गया है और कड़ी कारवाई न सिर्फ व्हाइट लाइन बस के खिलाफ बल्कि भविष्य में घटित होने वाली अन्य घटनाओं पर रोक लगाने के लिए की जाएगी।''

शिक्षा और समाज कल्याण मंत्री किरन वालिया ने मुख्यमंत्री के बात दोहराते हुए कहा, ''किसी को नहीं बख्शा जाएगा। यह बेहद शर्मनाक घटना है, हम कड़ी कार्रवाई करेंगे।''

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष ममता शर्मा ने कहा कि है कि वह दिल्ली की मुख्यमंत्री से इस मामले की जांच कराने की मांग करेंगी। उन्होंने कहा, ''अगर मुनीरका जैसे घनी आबादी वाले इलाके में ऐसी घटना घट जाती है तो इसका मतलब है कि पुलिस सतर्क नहीं है।'' शर्मा के मुताबिक लड़की का मित्र भी आरोपियों के साथ शामिल हो सकता है।

भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा, ''न तो गृह मंत्रालय न ही दिल्ली पुलिस इस तरह की घटनाओं की जांच कर पाने के योग्य है जो कि दिनों दिन बढ़ती जा रही हैं।'' उन्होंने कहा, ''दिल्ली सरकार दिल्ली की कानून व्यवस्था के साथ बेहद गैरजिम्मेराना तरीके से निपट रही है।''
 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ