गुरुवार, 28 अगस्त, 2014 | 14:34 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    हेराल्ड केस: 9 दिसंबर को सोनिया-राहुल के खिलाफ सुनवाई ईपीएफओ में न्यूनतम पेंशन 1,000 रुपये, वेतन सीमा भी बढ़ी ईपीएफओ में न्यूनतम पेंशन 1,000 रुपये, वेतन सीमा भी बढ़ी ईपीएफओ में न्यूनतम पेंशन 1,000 रुपये, वेतन सीमा भी बढ़ी गौडा ने कहा, बेटे को झूठे मामले में फंसाया गया छात्रों को आत्महत्या के लिए उकसाने वाले शिक्षक गिरफ्तार जम्मू के रामबन में सड़क दुर्घटना, 8 लोगों की मौत फ्लैग मीटिंग के बाद पाकिस्तान ने फिर की फायरिंग हरियाणा में भाजपा-हजकां का तीन साल पुराना गठबंधन टूटा हरियाणा में भाजपा-हजकां का तीन साल पुराना गठबंधन टूटा
 
हवलदार की हत्या में शामिल था नीतू डाबोदा
First Published:15-12-12 10:20 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

नई दिल्ली वरिष्ठ संवाददाता

कंझावला में हुई हवलदार रामकशिन की हत्या में नीतू डाबोदा व उसके साथी शामिल थे। यह खुलासा उसके एक शार्प शूटर ने अपराध शाखा के सामने किया है। पुलिस ने इस शार्प शूटर को बवाना से एक युवक को अगवा कर उसकी हत्या करने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी 24 वर्षीय संदीप उर्फ विक्की के पास से पुलिस ने एक पिस्तौल, दो मैगजीन और .32 बोर की 10 गोलियां बरामद की हैं। अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्त एस.बी.एस त्यागी के अनुसार कंझावला गांव निवासी गैंगस्टर अजय कुमार को अगवा कर उसकी हत्या कर दी गई थी।

मामले की जांच के दौरान अपराध शाखा को पता चला कि वारदात को नीदू डाबोदा गैंग ने अंजाम दिया है। इस बीच एक गुप्त सूचना पर एसीपी होशियार सिंह की देखरेख में इंस्पेक्टर नरेश चंद्र व एसआई अरुण देव नेहरा की टीम ने इस गिरोह के सदस्य संदीप उर्फ विक्की को कंझावला से गिरफ्तार कर लिया। उसने पुलिस को बताया कि 16 नवम्बर को नीतू व प्रदीप के साथ मिलकर उसने नीरज बवाना गैंग के सदस्य अजय की हत्या की थी।

अजय उनकी बजाय नीरज बवाना गिरोह के लिए काम करता था। इसके अलावा उनके साथी पारस से भी अजय ने कहासुनी की थी। साजशि के तहत नीतू व प्रदीप अजय को अगवा कर अपने साथ तातेसर गांव के खेत में ले गए, जहां संदीप पहले से मौजूद था। आरोपियों ने उसे आठ से दस गोलियां मारी, जिससे उसकी मौत हो गई। उसके शव को करनाल ले जाकर नीतू व प्रदीप ने जला दिया था। संदीप ने पुलिस को हवलदार रामकशिन की हत्या का घटनाक्रम भी बताया।

उसने बताया कि 25 नवम्बर की रात नीतू, पारस, आलोक व काला उसके घर सफेद रंग की वर्ना कार से आए थे। उसके खेतों में आरोपियों ने जमकर शराब पी। नीतू के कहने पर उसने दो देशी पिस्तौल उन्हें दी थी। इनके अलावा नीतू के पास पहले से एक पिस्तौल थी। देर रात चारों हरियाणा जाने के लिए निकले थे। सुबह उसे पता चला कि जौंति बार्डर पर सफेद कार में सवार बदमाशों ने हवलदार की हत्या कर दी। वारदात के दो दिन बाद उसने नीतू से जब पूछा तो उसने पारस के साथ मिलकर हवलदार को मारने की जानकारी उसे दी थी।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°