शनिवार, 31 जनवरी, 2015 | 03:02 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
फतुहा में बिजली की तार की चपेट में ट्रॉली आई, दो की मौतअमिता को पीजीआई लखनऊ भेजा गया था महिला के खून का नमूना, जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टिबरेली में स्वाइन फ्लू से पहली मौत की पुष्टि, राममूर्ति मेडिकल कालेज में हुई थी 24 जनवरी को सीबीगंज की अमिता उपाध्याय की मौतपाकिस्तान के शिकारपुर में ब्लास्ट, 20 लोगों की मौतयूपी: लखीमपुर खीरी के मैगलंगज में युवक की हत्या, ट्रैक्टर ट्रॉली पर फेंक दिया शव, गला दबाकर हत्या का आरोपबरेली : इंडियन वैटेनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईवीआरआई) और सेंट्रल एवियन रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएआरआई) में रेबीज का कहर, आवारा कुत्तों के काटने से कई वैज्ञानिक रेबीज की चपेट में, मारे गए कुत्तों के पोस्टमार्टम में रेबीज की पुष्टि
फर्जी आईटी कंपनी मालिक गिरफ्तार
First Published:15-12-12 10:20 PM

 नोएडा। कार्यालय संवाददाता

फर्जी आईटी कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ करने वाले एक ठग को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी पर बीटेक किए हुए 110 छात्रों को ठगने का आरोप है। इन छात्रों ने उसके खिलाफ कोतवाली सेक्टर-58 में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। गिरफ्तार आरोपी की पहचान संजय नगर गाजियाबाद निवासी गजेन्द्र के रूप में हुई। मूल रूप से जगन्नाथपुर बिजनौर का रहने वाला गजेन्द्र नोएडा के सेक्टर-63 में आईटीसी टेकवेयर के नाम से फर्जी आईटी कंपनी चला रहा था।

उसने बीटेक पास छात्रों को नौकरी दिलाने के नाम पर 25-25 हजार रुपये ले लिए थे। छात्रों को आश्वासन दिया गया था कि उन्हें तीन माह की ट्रेनिंग के बाद कंपनी में नौकरी पर रख लिया जाएगा। ट्रेनिंग के दौरान भी उन्हें तनख्वाह दी जाएगी। नौकरी के लालच में फंसकर दूर-दराज के इलाकों के बहुत से बीटेक छात्र जालसाज के झांसे में आ गए। छात्रों को झांसे में लेने के लिए यह इंटरनेट पर विज्ञापन देता था। अब तक 110 छात्र आरोपी के खिलाफ कोतवाली सेक्टर-58 में ठगी की शिकायत कर चुके हैं।

छात्रों की शिकायत पर पुलिस ने गजेन्द्र को शुक्रवार रात उसके गाजियाबाद स्थित घर से गिरफ्तार किया है। उसके पास से 14 हजार रुपये बरामद हुए हैं। -----------।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड