शुक्रवार, 22 मई, 2015 | 15:30 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    9 अभिनेत्रियां जिनकी मौत आज भी है रहस्य कोयला घोटाला: जिंदल, राव, कोड़ा को जमानत अरुण जेटली ने गिनाईं मोदी सरकार की उपलब्धियां, कहा दुनिया में बढ़ा भारत का मान प्रकृति एवं पर्यावरण पर ग्रीष्मकालीन शिविर आईपीएल सट्टेबाजी केस में ईडी ने मारे छापे मतदाताओं के लिए आधार की अनिवार्यता पर माकपा को आपत्ति केजरीवाल भड़के, बोले दिल्ली पर राज करना चाहते हैं मोदी पीएफ का पैसा निकालने जा रहे हैं, तो पहले जरूर पढ़ें ये खबर रक्षा मंत्री बोले, जो भी घुसपैठ करेगा उसका सफाया कर देंगे आईपीएल: मैच ही नहीं, कप्तानी का भी मुकाबला
फर्जी आईटी कंपनी मालिक गिरफ्तार
First Published:15-12-12 10:20 PM

 नोएडा। कार्यालय संवाददाता

फर्जी आईटी कंपनी में नौकरी दिलाने के नाम पर छात्रों के भविष्य से खिलवाड़ करने वाले एक ठग को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपी पर बीटेक किए हुए 110 छात्रों को ठगने का आरोप है। इन छात्रों ने उसके खिलाफ कोतवाली सेक्टर-58 में रिपोर्ट दर्ज कराई थी। गिरफ्तार आरोपी की पहचान संजय नगर गाजियाबाद निवासी गजेन्द्र के रूप में हुई। मूल रूप से जगन्नाथपुर बिजनौर का रहने वाला गजेन्द्र नोएडा के सेक्टर-63 में आईटीसी टेकवेयर के नाम से फर्जी आईटी कंपनी चला रहा था।

उसने बीटेक पास छात्रों को नौकरी दिलाने के नाम पर 25-25 हजार रुपये ले लिए थे। छात्रों को आश्वासन दिया गया था कि उन्हें तीन माह की ट्रेनिंग के बाद कंपनी में नौकरी पर रख लिया जाएगा। ट्रेनिंग के दौरान भी उन्हें तनख्वाह दी जाएगी। नौकरी के लालच में फंसकर दूर-दराज के इलाकों के बहुत से बीटेक छात्र जालसाज के झांसे में आ गए। छात्रों को झांसे में लेने के लिए यह इंटरनेट पर विज्ञापन देता था। अब तक 110 छात्र आरोपी के खिलाफ कोतवाली सेक्टर-58 में ठगी की शिकायत कर चुके हैं।

छात्रों की शिकायत पर पुलिस ने गजेन्द्र को शुक्रवार रात उसके गाजियाबाद स्थित घर से गिरफ्तार किया है। उसके पास से 14 हजार रुपये बरामद हुए हैं। -----------।

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
Image Loadingआईपीएल सट्टेबाजी केस में ईडी ने मारे छापे
ईडी ने आईपीएल मैचों से जुड़े सट्टेबाजी गिरोहों के खिलाफ हवाला और मनी लाउंड्रिंग की जांच के सिलसिले में दिल्ली, मुंबई और जयपुर समेत कई शहरों में आज छापे मारे।