शनिवार, 04 जुलाई, 2015 | 10:33 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    जूलियन से झमाझम बारिश, फिर भी उत्तर पश्चिम भारत में पड़ेगा सूखा लखपति, करोड़पति, कारों से चलने वाले भी बन गए EWS, जानिए कैसे पूर्व रॉ प्रमुख का खुलासा: खुफिया एजेंसी कश्मीर में आतंकियों को देती है पैसा वैज्ञानिकों ने खोला कम और अधिक आयु का राज, आप भी जान लीजिए यूपी में 'चुड़ैल का वीडियो' हुआ वायरल, पुलिस ढूंढ रही 'चुड़ैल' को 'उधर हेमा को अस्पताल ले गए, इधर मेरी बेटी ने अपनी मां की गोद में दम तोड़ दिया' 'गुड्डू रंगीला' देखने जा रहे हैं? पहले रिव्यू तो पढ़ लीजिए फिल्म रिव्यू: टर्मिनेटर जेनेसिस पूर्व रॉ प्रमुख के खुलासे के बाद सरकार पर हमलावर हुई कांग्रेस, PM से की माफी की मांग झारखंड: मेदिनीनगर के हुसैनाबाद में ओझा-गुणी की हत्या
श्रम विभाग ऑनलाइन आवेदन पर तुरंत करेगा कार्रवाई
फरीदाबाद। कार्यालय संवाददाता First Published:13-12-12 06:41 PM

राज्य श्रम विभाग में अतिरिक्त आयुक्त नरेश नरवाल ने कहा है कि उद्योगपति विभाग से संबंधित कोई भी आवेदन ऑनलाइन करेंगे तो उस पर तुरंत कार्रवाई होगी। इसके लिए विभाग ने विशेष कार्यनीति तैयार की है। उद्योगपतियों को बिल्डिंग प्लान, फायर एनओसी, रजिस्ट्रेशन ऑफ कांट्रेक्ट लेबर आदि से संबंधित पत्रचार पर तुरंत निर्णय लिया जाएगा।
 
नरवाल गुरूवार को फरीदाबाद इंडस्ट्रीज एसोसिएशन द्वारा आयोजित सेमिनार में उद्योगपतियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने उद्योगपतियों को श्रम कानूनों के पालन करने का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि नियमों के तहत काम करने वाले उद्योगों को श्रम विभाग से कोई परेशानी नहीं होगी। सरकार ने नया सोफ्टवेयर तैयार किया है। उन्होंने फरीदाबाद के विकास पर चर्चा करते हुए कहा कि आने वाले दिनों में फरीदाबाद गुड़गांव से आगे निकलेगा। उद्योग प्रबंधक ईमानदारी के साथ अपनी पूरी चैकलिस्ट विभाग को भेजे। विभाग में प्रोफेशनल तरीके से काम हो रहा है। इस मौके पर डीडीआई केएस चहल ने कहा कि सुरक्षा के मद्देनजर उद्योगपतियों को पर्याप्त इंतजाम करके चेकलिस्ट भेजनी होगी। उन्होंने कहा कि फरीदाबाद में करीब बाइस सौ इकाईयां ही अधिनियम के तहत चल रही है। ऐसे में जिन्हें नोटिस जारी किए गए हैं उनका लिखित जवाब दिया जाना जरुरी है। जिन उद्योगों में डेढ़ सौ से अधिक श्रमिक हैं वहां रेस्टरूम जरूरी है। 250 से अधिक श्रमिकों पर केंटीन और एंबूलेंस होना जरुरी है। बीस से अधिक श्रमिकों पर ठेकेदार का पंजीकरण आवश्यक है। एफआइए के अध्यक्ष डॉ. एसके गोयल ने आश्वस्त किया कि फरीदाबाद के अधिकांश उद्योगपति नियमों का पालन करते हैं। अभय कपूर व कर्नल कपूर ने सभी का आभार व्यक्त किया।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड