मंगलवार, 21 अप्रैल, 2015 | 20:12 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
रेलवे की वर्ष 2015-16 के अनुदान की मांगों को लोकसभा की मंजूरी।
भूख से रो पड़ीं कस्तूरबा की बालिकाएं
First Published:07-12-12 11:57 PM

 दादरी। हमारे संवाददाता

चिटहरा गांव स्थित कस्तूरबा गांधी बालिका स्कूल में लापरवाही की हद पार कर दी गई। स्कूल की छात्राएं दिनभर भूख से तड़पती रहीं पर किसी ने उनपर ध्यान नहीं दिया। इस बात की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंचे परिजनों ने जमकर हंगामा किया। घटना बुधवार की है। एसडीएम के आदेश पर मामले की जांच की जा रही है।

परिजनों का आरोप है कि शिक्षा विभाग की लापरवाही के चलते स्कूल में पढ़ने वाली बालिकाओं को कोई सुविधा नहीं मिल पा रही है। बुधवार को तो हद हो गई। स्कूल की किसी भी छात्रा को दिनभर खाना नहीं दिया गया। शाम होते-होते भूख से बेहाल कई बालिकाओं ने रोना शुरू कर दिया। उनकी आवाज सुनकर आसपास के लोगों ने परिजनों को जानकारी दी। कुछ ही देर में परिजन स्कूल पहुंच गए। जब उन्हें घटना के बारे में पता चला तो उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया।

परिजनों ने घर से खाना लाकर बालिकाओं को खिलाया और मामले की लिखित शिकायत दादरी एसडीएम राजेश कुमार यादव से की। एसडीएम ने मामले की जांच कर लापरवाही बरतने वालों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का आश्वासन दिया है। मामले की जांच की जा रही है। इस बारे में स्कूल में मौजूद महिला वार्डनों से भी पूछताछ की जा रही है। फिलहाल बालिकाओं के खाने-पीने की व्यवस्था करा दी गई है। अब किसी तरह की समस्या नहीं है। अरुण कुमार, बेसिक शिक्षा अधिकारी।

 
 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें
Image Loadingहमें 20 रन और बनाने चाहिये थे: आमरे
दिल्ली डेयरडेविल्स के कोचिंग स्टाफ के सदस्य प्रवीण आमरे ने आईपीएल के मैच में कल की हार के बाद केकेआर के गेंदबाजों को श्रेय देते हुए कहा कि उनकी टीम ने लगभग 20 रन कम बनाए।