शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 13:16 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
समारोह में बीजेपी नेता अमित शाह भी मौजूदप्रधानमंत्री ने सफाई अभियान में मदद के लिये की तारीफआजादी के बाद माहौल बन गया था कि सब सरकार करेगी, लेकिन अब सब मिलकर करेंगे: मोदीजितना स्वास्थ्य जरूरी उतना ही स्वास्थ्य के लिये जागरुकता : मोदीमोदी ने कहा, सफाई राष्ट्रीय कर्तव्य हैबीजेपी के दीवाली समारोह में पीएम मोदीपत्रकारों से कहा, आपसे काफी दोस्ताना रिश्ता रहा हैमैं भी आपके लिये कुर्सियां लगाता था : मोदीमोदी : कभी कभार आपसे दृष्टी भी मिलती है
बिहार में जहरीली शराब से 11 की मौत
आरा। संवाद सूत्र First Published:07-12-12 09:08 PMLast Updated:07-12-12 09:28 PM

आरा शहर के अनाइठ इलाके में शुक्रवार को जहरीली शराब से नौ महादलित समेत ग्यारह लोगों की मौत हो गई जिसमें पांच महिलाएं और एक विकास मित्र शामिल हैं।

घटना के बाद भोजपुर जिले में हलचल मच गई और लोग घटनास्थल पर जुटने लगे। अनाइठ के गुस्साए लोगों ने बिहारी मिल के समीप हाईवे को जाम कर दिया। सदर एसडीओ धर्मेश कुमार सिंह ने मुआवजा देने की घोषणा कर लोगों के आक्रोश को ठंडा किया जब जाकर जाम हटा। अवैध शराब की बिक्री पर रोक नहीं लगाये जाने से स्थानीय थाना व प्रशासन के प्रति लोगों में गहरी नाराजगी थी। इधर प्रशासन ने सिर्फ आठ लोगों के मरने की ही पुष्टि की है।

साथ ही मामले की जांच के लिए प्रशासन ने एक उच्चस्तरीय कमेटी भी बना दी है। घटना के बाद अनाइठ इलाके में मातम पसर हुआ है। चारों तरफ महिलाओं और बच्चों के रोने की चीत्कार गूंज रही है। जिला प्रशासन के अधिकारियों समेत सांसद मीना सिंह, विधायक राघवेन्द्र प्रताप और विधायक भाई दिनेश ने जायजा लिया और पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना जताई। अनाइठ महादलित टोली में मरे जितेन्द्र के परिजनों ने बताया कि रात में खाना खाने के बाद लोगों ने पहले हाथ-पैर ठंडा होने की शिकायत की और फिर सिर में दर्द और दस्त-उल्टी शुरू हो गई।

अस्पताल ले जाने के क्रम में ही मौत हो गई। इसी तरह मृतक विकास मित्र हरेन्द्र मुसहर की पत्नी पचरत्नी देवी, चांददेव की पत्नी बिंदा देवी और जितेन्द्र कुमार के परिजनों ने भी बयान दिये। कई ने तो घर पर ही दम तोड़ दिया। मृतकों के परिजनों ने शाम के बाद शराब पीने की बात स्वीकार की। मरने वाले अनाइठ मुसहर टोली व नट टोली के हरेन्द्र मुसहर, चांददेव मुसहर, जितेन्द्र कुमार राम, कुंती देवी, लीलावती देवी, मनवृत्ति देवी, दीलजान नट, मनझारो देवी, शविकुमारी देवी हैं जबकि बाजारी मुहल्ले के धनसाव केसरी की मौत हुई है।

मौत के बाद मुहल्ले में सन्नाटा पसर गया और चूल्हे तक नहीं जले। आरा सदर अस्पताल में शवों का पोस्टमार्टम कराया गया है। जिलाधिकारी प्रतिमा वर्मा का कहना है कि आठ लोगों की ही मौत हुई है। भेसरा रिपोर्ट आने के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पायेगा।
 
 
|
 
 
टिप्पणियाँ