शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 14:51 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
देश तानाशाही की ओर जा रहा है, यह बिहार का चुनाव नहीं पूरे देश को बचाने का चुनाव है: लालू।लालू यादव ने सपा को 5 सीट देने की घोषणा की।उत्तराखंडः रुड़की के मोहनपुरा फाटक के पास टैंकर और बाइक की टक्कर, बाइक सवार महिला की मौत, पति घायल।झारखंड: रांची में डीपीएस स्कूल के पास ट्रेन से कटकर एक व्यक्ति की मौत।
एनआरएचएम घोटाला: गवाह ने दिया बयान
First Published:04-12-2012 10:43:44 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

गाजियाबाद। वरिष्ठ संवाददाता

एनआरएचएम घोटाले के एक गवाह ने कोर्ट में बताया कि लखनऊ के माल एवेन्यू स्थित एक बंगले में 42 लाख रुपये एक आईएएस अफसर को दिए गए थे। गवाह ने कोर्ट में जिरह के दौरान कहा कि जब भी वह बाबू सिंह कुशवाहा से मिलने जाता था तो कुशवाहा के साथ विधायक आरपी जायसवाल भी होते थे। मंगलवार को कोर्ट में एनआरएचएम घोटाले में गवाह सर्जिकोन कंपनी के लाइजनिंग अधिकारी गिरीश मलिक से बाबू सिंह कुशवाहा तथा पीके जैन के अधविक्ताओं ने जिरह की।

जिरह के दौरान गिरीश मलिक ने कहा कि वह कई बार बाबू सिंह कुशवाहा से मिला था तथा अधिकतम एक घंटे तक उनके पास रहा था। मुलाकात कुशवाहा के ड्राइंग रूम में होती थी। जल निगम की सी एंड डीएस के एमडी पीके भूकेश ने पीके जैन से कहा था कि जिन अस्पतालों में कार्य होना है उनका सर्वे कराने की कोई जरूरत नहीं है और एक तरह का ही सामान सभी अस्पतालों में दे दिया जाए। ताकि ज्यादा से ज्यादा लाभ हो सके।

उसने बताया कि नवंबर 2009 में पीके जैन ने उनसे कहा था कि मंत्री जी के हिस्से के 42 लाख रुपये नहीं दिए गए हैं। इसलिए एक सप्ताह में उसकी व्यवस्था कर दो। नवंबर में ही 42 लाख रुपये पीके जैन को दिए गए और पीके जैन ने यह 42 लाख रुपये एक आईएएस अफसर को माल एवेन्यू स्थित एक बंगले में दिए थे।

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: भारत को 7वां झटका, आर. अश्विन आउट
भारतीय क्रिकेट टीम ने शनिवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ तीसरे निर्णायक टेस्ट में बल्लेबाजी करते हुए अपना 7वां विकेट गंवा दिया।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।