शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 21:47 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
तीसरे दिन भी टोल फ्री रहा डासना टोल
First Published:04-12-2012 10:43:44 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

 गाजियाबाद। कार्यालय संवाददाता

डासना टोल से तीसरे दिन भी वाहन फ्री निकले। यहां भारतीय किसान यूनियन का धरना लगातार जारी है। रात के समय रागनी कार्यक्रम में आसपास के क्षेत्र के लोग भी शामिल हो रहे है तो सुबह के समय किसान योग कर रहे हैं। धरने पर बैठे किसानों ने प्रशासन से पानी का टैंकर व रात में अलाव की मांग की है।

टोल फ्री इंडिया के नारे के साथ डासना टोल दो दसिंबर को भाकियू ने फ्री करा दिया। उसी दिन से भाकियू का धरना यहां लगातार जारी है। तीन दिन टोल फ्री होने बाद भी अभी वाहन चालकों को इसकी आदत नहीं पड़ी है। लिहाजा टोल पर वाहन आकर खड़े हो जाते हैं जब कोई टोल लेने वाला दिखाई नहीं देता तो आगे बढ़ जाते हैं। जिसकी नजर धरने पर बैठे किसानों पर पड़ती तो उसे फ्री का इशारा कर दिया जाता है, जिससे चालक हाथ हिलाकर मुस्कुराते आगे बढ़ जाते हैं।

तीन दिनों से लगातार धरने पर बैठे किसानों पर अब रात की सर्दी सताने लगी है। यहां हर रोज 15 से 20 किसान रात में रहते हैं। देर रात तक रागनी की जोर-जोर की आवाद आसपास के लोगों को भी अपनी ओर खीच रही है। भाकियू के मंडल अध्यक्ष राजवीर सिंह ने प्रशासन से पानी के टैंकर व रात में अलाव की व्यवस्था करने की मांग की है। सुबह के समय किसानों ने योगा करना शुरू कर दिया है। राजवीर सिंह के मुताबिक शमशेर राणा सुबह के समय किसानों को योग सिखा रहे हैं।

रात के समय धरने पर राजवीर सिंह, शमशेर सिंह, बिजेंद्र चौधरी, दीन मौहम्मद, ठाकुर चमन सिंह, शब्बीर, राजेंद्र चौधरी, सुभाष तेवतिया, कर्ण सिंह, धर्मेद्र सिंह, रामनविास, मनोज तेवतिया मौजूद रहे।

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।