रविवार, 30 अगस्त, 2015 | 02:29 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
सीटीआई की हत्या का खुलासा नहीं
गाजियाबाद, एजेंसी First Published:04-12-2012 03:57:48 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

रेलवे के चीफ टिकट इंस्पेक्टर (सीटीआई) किफायत उल्ला हत्याकांड के चार दिन बाद भी पुलिस को हत्या के ठोस सुराग हाथ नहीं लगे हैं। पुलिस की जांच रेलवे ट्रैक के आसपास रहने वाले लोगों पर ही केन्द्रित है।

जीआरपी मान रही है कि ट्रेन के बाहर से किसी ने गोली चलाई, जो सीटीआई को जाकर लग गई। ऐसे में पुलिस साहिबाबाद और शाहदरा के बीच में रेलवे ट्रैक के आसपास रहने वालों से पूछताछ कर रही है।

उल्लेखनीय है कि सीटीआई का कोट जला हुआ था और ट्रेन में खून का निशान नहीं मिला था। ऐसे में यह भी संभव है कि सीटीआई को नजदीक से गोली मारी गयी हो। इस बात को भी ध्यान में रखकर जांच की जा रही है।

जीआरपी थाना प्रभारी पंकज लवानिया ने बताया कि मामले की कई पहलुओं की जांच की जा रही है। पूछताछ के आधार पर बदमाशों की पहचान की जा रही है।

गौरतलब है कि शुक्रवार को महानंदा एक्सप्रेस में किफायत उल्ला को गोली मारी गयी थी। दिल्ली स्थित गुरू तेग बहादुर (जीटीबी) अस्पताल में उनकी मौत हो गयी थी। हत्याकांड की जांच के लिए जीआरपी की टीम बनाई गयी है, लेकिन अभी तक की जांच में कुछ भी नहीं मिला है।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingगावस्कर ने पुजारा की तारीफों के पुल बांधे
अपनी अच्छी तकनीक और शांत चित के कारण चेतेश्वर पुजारा क्रीज पर अपने पांव जमाने में माहिर हैं और पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने भी इस युवा बल्लेबाज की आज जमकर तारीफ की जिन्होंने अपने नाबाद शतक से भारत को संकट से उबारा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब संता के घर आए डाकू...
आधी रात को संता के घर डाकू आए।
संता को जगाकर पूछा: यह बताओ कि सोना कहां है?
संता (गुस्से से): इतना बड़ा घर है कहीं भी सो जाओ। इतनी छोटी बात के लिए मुझे क्यों जगाया!