सोमवार, 06 जुलाई, 2015 | 10:36 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    आयुध फैक्टरियों में 67 हजार पदों को भरने की प्रक्रिया जल्द होगी शुरू दिल्ली: सवा सौ साल पुराना जर्जर पुल अब बनेगा ऐतिहासिक विरासत खुशखबरी: वेस्ट यूपी में 500 जगहों को वाईफाई करेगा बीएसएनएल यूपी: चलती गाड़ी में छात्रा के साथ रेप के बाद रेलवे स्टेशन पर फेंका पहले दिया संवेदनहीन बयान, अब पत्रकार अक्षय के घर जाएंगे कैलाश विजयवर्गीय पत्रकार अक्षय के विसरा जांच एम्स में होगी, परिवार की मांग मंजूर अक्षय की मौत स्वाभाविक नहीं, व्यापमं गिरोह ने की हत्या: भूरिया पाकिस्तान ने किया संघर्षविराम का उल्लंघन, बीएसएफ जवान शहीद लालू की हैसियत महुआ रैली में उजागर, नीतीश को पक्का मारेंगे लंगड़ीः पासवान एयरइंडिया के यात्री ने की खाने में मक्खी की शिकायत
आनंद इंफोऐज को प्राधिकरण ने भेजा नोटिस
First Published:30-11-12 10:47 PM

नोएडा। वरिष्ठ संवाददाता। सेक्टर 143 बी के प्लॉट नंबर एक पर प्रस्तावित आईटी पार्क की जमीन पर बंगले का विज्ञापन प्रकाशित कराने वाली मिस्ट कंपनी के साइट दफ्तर को नोएडा प्राधिकरण ने सील कर दिया है। इसके अलावा प्राधिकरण ने अलॉटी कंपनी (जिस कंपनी को प्लॉट दिया गया)आनंद इंफोऐज को नोटिस जारी कर सात दिन के अंदर जवाब मांगा है कि नियम विरुद्ध भू उपयोग कराने के लिए क्यों न आवंटन रद्द कर दिया जाए।

अथॉरिटी ने लोगों को विज्ञापन के बहकावे में नहीं आने के लिए एक पब्लिक नोटिस भी निकाला है। प्राधिकरण अधिकारियों का कहना है कि सेक्टर 143 बी के प्लॉट नंबर एक को आईटी प्लॉट के लिए आवंटित किया गया है। नियमों के मुताबिक अलॉटी जमीन के दस प्रतिशत भाग पर रहिायशी गतविधिियां चला सकता है। ये गतविधिियां हॉस्टल या रेजिडेंशियल टॉवर बनाने के लिए होती हैं, जिससे कि काम करने वाले लोगों को रहने के लिए भटकना न पड़े। मगर दस प्रतिशत जमीन को रहिायशी गतिविधियों के लिए अलॉटी किसी को बेच नहीं सकता है।

मिस्ट कंपनी ने गत रविवार को एक अंग्रेजी दैनिक में उक्त जमीन पर विज्ञापन निकालकर 9.9 करोड़ रुपये की लागत के फ्लैट खरीदने के लिए लोगों को आकर्षित किया है। अथॉरिटी ने मिस्ट के साइट ऑफिस को सील कर दिया है और आनंद इंफोऐज से सात दिन के अंदर नियम विरुद्ध गतविधिि के लिए जवाब देने को कहा है।

 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड