शुक्रवार, 30 जनवरी, 2015 | 20:58 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
अमिता को पीजीआई लखनऊ भेजा गया था महिला के खून का नमूना, जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टिबरेली में स्वाइन फ्लू से पहली मौत की पुष्टि, राममूर्ति मेडिकल कालेज में हुई थी 24 जनवरी को सीबीगंज की अमिता उपाध्याय की मौतपाकिस्तान के शिकारपुर में ब्लास्ट, 20 लोगों की मौतयूपी: लखीमपुर खीरी के मैगलंगज में युवक की हत्या, ट्रैक्टर ट्रॉली पर फेंक दिया शव, गला दबाकर हत्या का आरोपबरेली : इंडियन वैटेनरी रिसर्च इंस्टीट्यूट (आईवीआरआई) और सेंट्रल एवियन रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीएआरआई) में रेबीज का कहर, आवारा कुत्तों के काटने से कई वैज्ञानिक रेबीज की चपेट में, मारे गए कुत्तों के पोस्टमार्टम में रेबीज की पुष्टि
आनंद इंफोऐज को प्राधिकरण ने भेजा नोटिस
First Published:30-11-12 10:47 PM

नोएडा। वरिष्ठ संवाददाता। सेक्टर 143 बी के प्लॉट नंबर एक पर प्रस्तावित आईटी पार्क की जमीन पर बंगले का विज्ञापन प्रकाशित कराने वाली मिस्ट कंपनी के साइट दफ्तर को नोएडा प्राधिकरण ने सील कर दिया है। इसके अलावा प्राधिकरण ने अलॉटी कंपनी (जिस कंपनी को प्लॉट दिया गया)आनंद इंफोऐज को नोटिस जारी कर सात दिन के अंदर जवाब मांगा है कि नियम विरुद्ध भू उपयोग कराने के लिए क्यों न आवंटन रद्द कर दिया जाए।

अथॉरिटी ने लोगों को विज्ञापन के बहकावे में नहीं आने के लिए एक पब्लिक नोटिस भी निकाला है। प्राधिकरण अधिकारियों का कहना है कि सेक्टर 143 बी के प्लॉट नंबर एक को आईटी प्लॉट के लिए आवंटित किया गया है। नियमों के मुताबिक अलॉटी जमीन के दस प्रतिशत भाग पर रहिायशी गतविधिियां चला सकता है। ये गतविधिियां हॉस्टल या रेजिडेंशियल टॉवर बनाने के लिए होती हैं, जिससे कि काम करने वाले लोगों को रहने के लिए भटकना न पड़े। मगर दस प्रतिशत जमीन को रहिायशी गतिविधियों के लिए अलॉटी किसी को बेच नहीं सकता है।

मिस्ट कंपनी ने गत रविवार को एक अंग्रेजी दैनिक में उक्त जमीन पर विज्ञापन निकालकर 9.9 करोड़ रुपये की लागत के फ्लैट खरीदने के लिए लोगों को आकर्षित किया है। अथॉरिटी ने मिस्ट के साइट ऑफिस को सील कर दिया है और आनंद इंफोऐज से सात दिन के अंदर नियम विरुद्ध गतविधिि के लिए जवाब देने को कहा है।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड