शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 05:25 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    नौकरानी की हत्या: धनंजय को जमानत, जागृति के रिकार्ड मांगे अमर सिंह के समाजवादी पार्टी में प्रवेश पर उठेगा पर्दा योगी आदित्य नाथ ने दी उमा भारती को चुनौती देश में मौजूद कालेधन पर रखें नजर : अरुण जेटली शिक्षा को लेकर मोदी सरकार पर आरएसएस का दबाव कोयला घोटाला: सीबीआई को और जांच की अनुमति सिख दंगा पीड़ितों के परिजनों को पांच लाख देगा केंद्र अपमान से आहत शिवसेना ने किया फडणवीस के शपथ ग्रहण का बहिष्कार सरकार का कटौती अभियान शुरू, प्रथम श्रेणी यात्रा पर प्रतिबंध बेटे की दस्तारबंदी के लिए बुखारी का शरीफ को न्यौता, मोदी को नहीं
बंद कमरे से मिला मां-बेटी का शव
First Published:27-11-12 10:26 PM

नई दिल्ली वरिष्ठ संवाददाता

नरेला के स्वतंत्र नगर इलाके में एक बंद कमरे से 20 वर्षीय महिला व उसकी दो वर्षीय बेटी का शव मिला है। शव चार से पांच दिन पुराना है। मृतका की पहचान निशा के रूप में की गई है। वह महज 20 दिन पहले ही अपने पति संतोष व दो वर्षीय बच्ची के साथ इस मकान में रहने आई थी। प्राथमिक जांच में पुलिस ने दोनों की गला दबाकर हत्या किए जाने की आशंका जताई है।

वारदात के बाद से लापता महिला के पति पर हत्या को अंजाम देने का पुलिस ने शक जताया है। पुलिस के अनुसार हरियाणा निवासी ओमप्रकाश का स्वतंत्र नगर में एक मकान है। महज 20 दिन पहले उसने इस मकान को संतोष कुमार नामक युवक को किराये पर दिया था। मकान में संतोष अपनी पत्नी व दो वर्षीय बेटी के साथ रहता था। ओमप्रकाश ने इस परिवार का किरायेदार सत्यापन भी नहीं कराया था। मजदूरी करने वाला संतोष पिछले चार-पांच दिनों से लापता था।

उधर पड़ोसियों ने मंगलवार शाम को संतोष के कमरे से बदबू महसूस की। जब लोगों ने खिड़की से झांककर देखा तो कमरे के अंदर मां-बेटी का शव पड़ा हुआ था। शाम छह बजे घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने ताला तोड़कर शव को बाहर निकाला व पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस के अनुसार दरवाजे पर ताला लगाने के बाद चाबी को खिड़की से अंदर फेंक दिया गया था। शव सड़ी-गली अवस्था में मिला है, जिससे लगता है कि हत्या को चार से पांच दिन पहले अंजाम दिया गया होगा।

पुलिस आसपास के लोगों द्वारा बताए गए संतोष के हुलिये के आधार पर उसे तलाशने का प्रयास कर रही है।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ