शनिवार, 30 मई, 2015 | 11:53 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    पतंजलि फूड फैक्टरी से मिले हथियार, जांच में जुटी एसटीएफ पांचवीं बार फीफा के अध्यक्ष बने सेप ब्लेटर अमेरिकी संस्था का दावा: भारत-पाक में पड़ सकता है बड़ा अकाल लाहौर: पाक-जिम्बाब्वे मैच के दौरान स्टेडियम के बाहर धमाका, दो लोगों की मौत अमेरिका में रंगभेद का सामना करना पड़ा था प्रियंका चोपड़ा को! 'वेलकम टू कराची' देखने से पहले रिव्यू तो पढ़ लीजिए FIL M REVIEW: सैन एंड्रियाज डर के साथ एंटरटेनमेंट  केजरीवाल को SC और HC का डबल झटका, LG ही करेंगे नियुक्ति  क्या दाऊद को जल्द भारत ला रही सरकार बीएमडब्ल्यू ने पेश किया ग्रान कूपे का नया मॉडल
सहजन की पत्ती में हैं कई विस्मयकारी गुण
रांची। हिन्दुस्तान ब्यूरो First Published:07-06-12 08:44 PM

झारखंड में पाए जाने वाले सहजन की पत्ती में कई विस्मयकारी गुण मिले हैं। सहजन की इस प्रजाति का वैज्ञानिक नाम मोरिंगा ओलिफेरा है। इसकी पत्ती में कई ऐसे पोषक तत्व पाए गए हैं, जो स्वास्थ्य की दृष्टि से काफी लाभदायक हैं। इस प्रजाति की पत्ती में बिटामिन सी, बीटाकैरोटीन, कैल्शियम, मैगेनेशियम और आयरन की काफी मात्र मिली है। वन उत्पादकता संस्थान के वैज्ञानिकों से इस पर शोध कर रिपोर्ट तैयार की है।

डायरेक्ट टू कंज्यूमर स्कीम से जोड़ा जाएगा
वन उत्पादकता संस्थान सहजन की इस प्रजाति को डायरेक्ट टू कंज्यूमर स्कीम से जोड़ेगा। जिससे अधिक से अधिक लोगों को लाभ मिल सके। संस्थान के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ संजय सिंह ने बताया कि इसकी पत्ती में साइटोकाइनिन हार्मोन मिला है। जिसके छिड़काव से सब्जी की फसलों में 25 फीसदी तक वृद्धि हो सकती है।

संस्थान में तैयार हुआ मोरिंगा गार्डेन
वन उत्पादकता संस्थान में मोरिंगा गार्डेन स्थापित कर दी गई है। इसमें 45 जगहों से लाए गए सहजन के पौधों को तैयार किया गया है। स्वस्थ पेड़ की कटिंग कर क्लोन तैयार किए जा रहे हैं। बिहार, उड़ीसा और पश्चिम बंगाल से भी सहजन की प्रजातियां मंगाई गई हैं। इसमें से भी स्वस्थ पौधों का चयन किया जा रहा है।

इस शोध को और आगे बढ़ाया जाएगा। विदेशों में भी इसका उपयोग हो रहा है। किसानों के लिए भी लाभदायक साबित होगा। उत्पादकता में वृद्धि होगी। डॉ संजय सिंह, वरिष्ठ वैज्ञानिक, वन उत्पादकता संस्थान

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
Image Loadingअंतिम 11 में जगह मिलने की नहीं थी उम्मीद : सरफराज
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में अपने प्रदर्शन से प्रभावित करने वाले रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) के सबसे युवा बल्लेबाज सरफराज खान का कहना है कि उन्हें क्रिस गेल, ए.बी. डीविलियर्स और विराट कोहली जैसे विध्वंसक बल्लेबाजों के बीच अंतिम 11 में जगह मिलने का यकीन नहीं था और नम्बर छह की बेहद महत्वपूर्ण स्थान पर मौका दिये जाने से उनका आत्मविश्वास सातवें आसमान पर है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड