मंगलवार, 27 जनवरी, 2015 | 19:51 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
देवघर कोर्ट ने भड़काऊ भाषण मामले में केंद्रीय राज्य मंत्री गिरिराज सिंह के खिलाफ सम्मन जारी किया।मुजफ्फरपुर: ट्रेन इंजन से टकराई कार, एक की मौत।कोली की फांसी रोकने संबंधी याचिका पर सुनवाई पूरी, कल आएगा फैसला।दुकान के खुलने पर चला चोरी का पता।पटनाः दवा दुकान में 30 लाख की चोरी।
नोएडा रेप-मर्डर मामले में दो आरोपी गिरफ्तार
नोएडा, एजेंसी First Published:07-01-13 11:39 AM
Image Loading

नोएडा में 21 वर्षीय युवती के साथ कथित रूप से बलात्कार और फिर उसकी हत्या करने के मामले में पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एसएसपी प्रवीण कुमार ने बताया कि दोनों आरोपियों के नाम नरेश और कैलाश हैं। तीसरा आरोपी उदयवीर अभी फरार है।
   
युवती एक कपड़ा फैक्ट्री में काम करती थी। बताया जाता है कि नरेश भी पहले उसी फैक्ट्री में काम करता था। नरेश ने पीड़िता से शादी का वायदा किया था। बाद में युवती को पता लगा कि नरेश पहले से ही विवाहित है। इसके बाद युवती ने नरेश से दूरी बना ली।
   
नरेश ने पुलिस को बताया कि युवती उसे पुलिस में प्राथमिकी दर्ज कराने की धमकी दे रही थी, जिससे डर कर ही उसने युवती को जान से मारने की योजना बनायी। घटना वाले दिन नरेश युवती को सेक्टर 63 में एक निर्माणधीन फैक्ट्री में ले गया, जहां कैलाश और उदयवीर पहले से ही मौजूद थे।
   
कैलाश और उदयवीर की भी युवती से दुश्मनी थी। पीड़िता ने पहले भी कैलाश के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी, साथ ही उदयवीर ने भी कुछ साल पहले उसके घर में प्रवेश कर उसके साथ छेड़छाड़ की थी।
   
एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा कि युवती के साथ बलात्कार हुआ था। हालांकि घटनास्थल से ऐसा प्रतीत होता है कि अभियुक्तों ने युवती के साथ बलात्कार का प्रयास किया।
   
कुमार ने बताया कि हम अभियुक्तों से पूछताछ कर रहे हैं जिससे और जानकारी मिल सके। उदयवीर को गिरफ्तार करने के प्रयास जारी हैं। घटना के चलते कल चार पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया था और थाना प्रभारी को पुलिस लाइन हाजिर कर दिया गया था।
   
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने पीड़िता के परिजन को 15 लाख रुपये और रोजगार देने की घोषणा की। शनिवार की सुबह सेक्टर 63 के पुश्ता इलाके में युवती का अर्धनग्न शव पड़ा मिला था जिस पर चोटों के निशान थे।
   
कल उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। उसके परिवार वालों का आरोप है कि पुलिस ने पहले शिकायत दर्ज करने से मना कर दिया था और बाद में युवती का शव भी बहुत देर से परिजनों को सौंपा गया।
   
यह युवती अपने परिवार की सबसे बड़ी बेटी थी। घटना के दिन वह अपने परिवार के लिए अतिरिक्त आमदनी की खातिर देर तक काम करती रही थी।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड