बुधवार, 26 नवम्बर, 2014 | 21:39 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
अन्ना हजारे देहरादून से करेंगे भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन का आगाज
मुलायम को ‘नागिन’ ने दिखाया फन!
बांदा, एजेंसी First Published:14-12-12 09:50 AMLast Updated:14-12-12 12:19 PM
Image Loading

उत्तर प्रदेश में बढ़ रहीं बलात्कार की घटनाओं से क्षुब्ध होकर महिला संगठन ‘नागिन गैंग’ की चीफ कमांडर शीलू निषाद ने समाजवादी पार्टी (सपा) के मुखिया मुलायम सिंह यादव को फन दिखाना शुरू कर दिया है। सपा प्रमुख को विधानसभा चुनाव में किया गया वादा याद दिलाते हुए शीलू ने कहा कि मुलायम को झूठा वादा करने के लिए प्रदेश की महिलाओं से माफी मांगनी चाहिए।

मीडिया में जारी बयान में गुरुवार को शीलू सपा अध्यक्ष पर खूब बरसीं। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में मुलायम सिंह ने तकरीबन अपनी हर जनसभा में कहा था कि प्रदेश में उनकी सरकार बनी तो बलात्कार पीडित महिलाओं को न्याय दिलाया जाएगा। लेकिन प्रचंड बहुमत की अखिलेश सरकार में बलात्कार की घटनाओं में जो इजाफा हो रहा है, उससे मानवता भी कांप रही है।

शीलू निषाद ने तीखे तेवर अख्तियार करते हुए सवाल किया कि क्या इसी न्याय का वादा किया गया था? उदाहरण पेश करते हुए शीलू ने कहा, ‘‘फतेहपुर शहर में रेप केस दर्ज कराने वाली एक छात्रा को पहले चार दिन महिला थाने में पुलिस बंद किए रही, अब उसे नारी निकेतन में रखा गया, जबकि वह बालिग है। विवेचना के नाम पर पुलिस अब तक घटनास्थल का भी निरीक्षण नहीं कर पाई है। इसी प्रकार खागा थाने के अमांवा गांव में रुबीना नाम की युवती की सामूहिक बलात्कार के बाद हत्या कर दी गई है, पुलिस ने सिर्फ हत्या की धारा में अपराध दर्ज किया है।’’

उन्होंने कहा कि चित्रकूट जनपद के पराको गांव में बलात्कार से एक नाबालिग गर्भवती हो गई है, एक हफ्ते से मुकदमा ही नहीं लिखा जा रहा है।
 
शीलू ने कहा, ‘‘जब दो साल पहले मेरे साथ बसपा के एक विधायक ने अत्याचार किया था, तब सपा के लोगों ने चैतरफा आंदोलन किया था। अखिलेश सरकार में तो हर रोज एक शीलू की अस्मत लूटी जा रही है, मगर सरकार और पुलिस चुप है।’’

उन्होंने कहा कि अब तक हुईं बलात्कार की घटनाएं इस बात का सबूत हैं कि सपा ने सरकार बनाने के लिए महिलाओं से झूठा वादा किया था, लिहाजा मुलायम सिंह को महिलाओं से सार्वजनिक तौर पर माफी मांगना चाहिए।

उल्लेखनीय है कि बुधवार को राज्यसभा में केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री कृष्णा तीरथ ने एक सवाल पर सदन को बताया था कि राज्य महिला आयोग में इस वर्ष बलात्कार की 570 शिकायतें आई हैं, इनमें 319 उत्तर प्रदेश से आई हैं। केंद्रीय मंत्री के इस बयान से जाहिर है कि उत्तर प्रदेश सरकार महिलाओं के खिलाफ होने वाली हिंसा रोक पाने में विफल साबित हो रही है।

 
 
 
टिप्पणियाँ