मंगलवार, 30 जून, 2015 | 04:38 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    PHOTO: सचिन ने खींची बेटी सारा के साथ सेल्फी, इंटरनेट पर हुई वायरल बांग्लादेश में जिसे धौनी ने प्लेइंग इलेवन से किया बाहर, BCCI ने उसी रहाणे को बनाया नया कप्तान जब 1200 पाकिस्तानी सैनिकों पर भारी पड़ा एक हिन्‍दुस्तानी, पढ़िए पूरी कहानी तिहाड़ में सुरंग: LG ने दिए जांच के आदेश, कैदी की भी तलाश जारी व्यापमं आरोपियों की मौत सामान्य, सीबीआई जांच की जरूरत नहीं: गौर आर्डिनेंस फैक्टरियों ने रक्षा मंत्रालय को उत्पादन घटने की चेतावनी दी लाफार्ज के मैनेजर की लापता पत्नी की लाश मिली मौके लेकर आएगी दूसरी कटऑफ जिम्बाब्‍वे दौरा: धोनी-विराट-रोहित को आराम, अजिंक्य रहाणे होंगे कप्तान, हरभजन की वनडे में वापसी IPL स्पॉट फिक्सिंग: श्रीसंथ मामले की सुनवाई 25 जुलाई तक स्थगित
पुलिस आयुक्त ने अफसोस तो जताया, पर नहीं मांगी माफी
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:24-12-12 09:28 PMLast Updated:24-12-12 10:35 PM
Image Loading

दिल्ली के पुलिस आयुक्त नीरज कुमार ने इंडिया गेट पर पुलिस कार्रवाई में किसी भी निर्दोष व्यक्ति को चोट पहुंचने की स्थिति के लिए सोमवार को अफसोस प्रकट किया, लेकिन प्रदर्शनों को शांत करने के लिए पुलिस ने जो भी किया, उसके लिए माफी मांगने से इनकार कर दिया।

कुमार ने एक चैनल से कहा कि यदि किसी निर्दोष व्यक्ति को चोट पहुंची है, तो मैं अपना अफसोस जताता हूं, लेकिन पुलिस ने वहां जो कुछ किया, उसके लिए मैं माफी नहीं मांगूगा। जब उनसे पूछा गया कि क्या वह यह महसूस करते हैं कि मीडिया ने प्रदर्शन भड़काया, तो उन्होंने कहा कि हां, बिल्कुल ऐसा है।

जब उनसे पूछा गया कि चलती बस में युवती के साथ गैंगरेप होने के बाद क्या उन पर इस्तीफा के लिए दबाव पड़ा था तो उन्होंने इसका नकारात्मक जवाब दिया और कहा कि वह मैदान छोड़ने वाले नहीं हैं।

कुमार ने कहा कि यदि हम केवल पुलिस को कोसते रहें, यदि हम हर रोज तंत्र को कोसते रहें, तो इससे हम कहीं (किसी नतीजे पर) नहीं पहुंचने वाले हैं। यदि पुलिस आयुक्त को बर्खास्त करने से महिलाओं की सुरक्षा सुधर जाए तो, हर रोज ऐसा किया जाए।

उन्होंने कहा कि पूर्णत: फालतू किस्म के तत्व इंडिया गेट पर प्रदर्शन पर हावी हो गए और पुलिस को कार्रवाई के लिए बाध्य होना पड़ा। जब उनसे कहा गया कि कई निर्दोष प्रदर्शनकारियों को भी निशाना बनाया गया तो उन्होंने उलटा सवाल किया, क्या ऐसी स्थिति में उपद्रवियों के बीच से असल प्रदर्शनकारियों को अलग करना संभव है।

कुमार ने लड़की के साथ गैंगरेप को बहुत ही बर्बर कृत्य करार दिया और कहा कि जनता की प्रतिक्रिया तो स्वभाविक है।

 
 
 
अन्य खबरें
 
 
 
 
 
 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड