रविवार, 23 नवम्बर, 2014 | 14:05 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
आज चुनाव प्रचार का आखिरी दिनझारखंड के गुमला में सोनिया गांधी की रैली
गैंगरेप पीड़िता का गुपचुप तरीके से अंतिम संस्कार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:30-12-12 10:06 AMLast Updated:30-12-12 02:04 PM
Image Loading

देशभर में फैले आक्रोश और मातम के बीच गैंगरेप की शिकार छात्रा के पार्थिव शरीर को विशेष विमान के जरिए दिल्ली लाए जाने के तुरंत बाद रविवार तड़के ही गुपचुप तरीके से उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया।

एयर इंडिया का विशेष विमान पार्थिव शरीर को लेकर तड़के करीब साढ़े तीन बजे इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर पहुंचा। विमान को हवाईअड्डे के तकनीकी क्षेत्र में ले जाया गया जहां प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी मौजूद थे।

सिंह और सोनिया ने लड़की के परिजनों से बात की और उन्हें ढांढस बंधाया। लड़की का पार्थिव शरीर महावीर एन्क्लेव स्थित उसके आवास ले जाया गया और धार्मिक रस्में पूरी की गईं। इसके बाद उसे द्वारका सेक्टर 24 स्थित शवदाह गृह ले जाया गया।

घर के आसपास से लेकर शवदाह गृह तक दिल्ली पुलिस और रैपिड एक्शन फोर्स के जवान बड़ी संख्या में तैनात थे। घने कोहरे के बीच ही लड़की का अंतिम संस्कार कर दिया गया। पत्रकारों को शवदाह गृह में जाने की अनुमति नहीं दी गई।

गृह राज्य मंम्त्री आरपीएन सिंह, पश्चिमी दिल्ली के सांसद महाबल मिश्रा, दिल्ली भाजपा प्रमुख विजेन्द्र गुप्ता भी अंतिम संस्कार के समय मौजूद थे। यहां मीडिया को जाने की अनुमति नहीं दी गयी थी। युवती के शव को एक निजी अस्पताल की एम्बुलेंस से पालम तकनीकी क्षेत्र के रास्ते हवाईअड्डे से बाहर लाया गया।

सिंगापुर में भारतीय उच्चायोग अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार, पीड़ित के शव को लेकर एयर इंडिया के एआईसी-380 विमान ने स्थानीय समयानुसार करीब साढ़े 12 बजे (भारतीय समयानुसार रात्रि दस बजे) उड़ान भरी थी। पीड़ित युवती ने शनिवार तड़के चार बजकर 45 मिनट पर (भारतीय समयानुसार तड़के सवा दो बजे) अंतिम सांस ली थी।

भारत सरकार द्वारा भेजे गए चार्टर्ड विमान में पीड़ित के परिवार के सदस्य साथ थे जो वहां युवती को इलाज के लिए भर्ती कराए जाने के समय से ही उसके साथ थे। युवती को बेहद गंभीर हालत में सिंगापुर ले जाया गया था। दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में इलाज के दौरान पीड़ित युवती के तीन आपरेशन किए गए थे। उसके अंदरूनी अंगों में बहुत चोटें आयी थीं। उसे इलाज के दौरान दिल का दौरा भी पड़ा और उसके मस्तिष्क में भी चोट लगी हुई थी।

सिंगापुर में पीड़ित के दम तोड़ने के बाद पुलिस ने इस मामले में छह आरोपियों के खिलाफ हत्या के आरोप लगाए हैं जिसमें दुर्लभ से दुर्लभतम मामलों में मौत की सजा का प्रावधान है। पुलिस तीन जनवरी को आरोपियों के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल करेगी। जांचकर्ताओं का कहना है कि वे दोषियों के लिए कड़ी से कड़ी सजा की मांग करेंगे।

फिजियोथैरेपी की छात्रा का 16 दिसंबर की रात को बर्बर तरीके से दक्षिणी दिल्ली में एक चलती बस में कथित रूप से छह लोगों द्वारा गैंगरेप किया गया था। उसे इलाज के लिए सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया था और बेहतर इलाज के लिए उसे बाद में सिंगापुर ले जाया गया था।

 
 
 
टिप्पणियाँ