शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 00:18 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
हॉस्पिटल से अच्छी खबर, पीड़िता की हालत में सुधार
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:22-12-2012 03:40:24 PMLast Updated:22-12-2012 06:32:35 PM
Image Loading

पिछले रविवार की रात चलती बस में गैंगरेप की शिकार एवं बुरी तरह से प्रताड़ित की गई 23 वर्षीय पीड़िता की स्थिति में सुधार हो रहा है और मानसिक रूप से पहले से बेहतर और भविष्य के बारे में आशावान नजर आ रही है।

सफदरजंग अस्पताल में पीड़िता का उपचार करने वाले डॉ. वर्मा ने अपने प्रेस बयान में कहा कि ल्यूकोसाइट, बिलिरूबिन और प्लेटलेट्स काउंट के अलावा अन्य चीजें मापदंडों पर पूरी हैं। शुक्रवार की अपेक्षा आज उनकी स्थिति में सुधार हुआ है और वह अपनी बात पहुंचा पा रही हैं और पहले से सजग नजर आ रही हैं।

अस्पताल के मनोवैज्ञानिक विभाग के डॉ. कुलदीप और डॉ. अभिलाषा यादव ने कहा कि वह मानसिक तौर पर दृढ़ और संतुलित नजर आ रही हैं। वह बहादुर हैं और भविष्य के बारे में उनका रुख सकारात्मक है। डॉक्टरों ने कहा कि वह आज सुबह से पानी और सेब का जूस ले रही हैं।

उन्होंने कहा कि उन्हें चार यूनिट प्लाजमा चढ़ाया गया है। डॉक्टरों का कहना है कि कम प्लेटलेट्स के कारण संक्रमण का खतरा हो सकता है और इसी लिए उन्हें एंटीबायोटिक दिया जा रहा है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।