गुरुवार, 29 जनवरी, 2015 | 17:51 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
मेरठ में दो दिन पहले हुए नरसंहार में पुलिस ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।यूपी के उन्नाव में पुलिस लाइन कैम्पस में एक बंद कमरे में ढेरों नर कंकाल मिलने की सूचना, कारण अजातबरेली के शाहाबाद में दोस्‍त के घर मिली लापता सब्‍जी आढ़ती की लाश, बुधवार से लापता था कुतुबखाना मंडी का आढती ताहिर, जांच में जुटी पुलिस।पटना विश्वविद्यालय के सिनेट की बैठक के दौरान विरोध कर रहे छात्रों पर लाठी चार्ज, छपरा संघ के चुनाव की मांग को लेकर विरोधमुरादाबाद: वकीलों ने दिया सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन। आज का आंदोलन समाप्त। कल रेल रोकेंगे। वकीलों की सीओ से नोंकझोंक भी हुई।लोकायुक्त की रिपोर्ट के बाद यूपी के दो विधायक बर्खास्तसंभल के मोहल्ला ठेर में रूम हीटर से दम घुटने की वजह से एक व्यापारी की मौत हो गई। कमरे में व्यापारी के साथ सो रही उसकी पत्नी व एक साल के मासूम की हालत भी गंभीर।अमरोहा के मेहंदीपुर गांव में नकली दूध बनाने की फैक्टी पकड़ी. पचास लीटर दूध व सामान बरामद. खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की कार्रवाई.बरेली के फतेहगंज पश्चिमी कस्बे में प्रॉपर्टी डीलर के घर लाखों का डाकाआगरा : हाईकोर्ट बेंच को लेकर वकीलों में आपसी टकराव, संघर्ष समिति और ग्रेटर बार के पदाधिकारी भिड़े, बड़ी संख्या में फोर्स तैनात, पुलिस को फटकारनी पड़ीं लाठियांरामपुर के लालपुर में ट्रैक्टर ने बालक को रौंदा, मौत। हादसे के बाद हंगामा।
संघवाद का उल्लंघन करता है NCTC: नीतीश
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:05-05-12 02:22 PM
Image Loading

राष्ट्रीय आतंकवाद रोधी केन्द्र के गठन का विरोध करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को कहा कि यह प्रस्ताव संघवाद के सिद्धांत का उल्लंघन करता है।
   
आपातकाल के दिनों की याद दिलाते हुए नीतीश ने कहा कि यदि केन्द्र सरकार की किसी खुफिया एजेंसी को इस तरह के अधिकार दिये गये तो पूरी संभावना है कि राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों के खिलाफ उसका दुरुपयोग हो।
   
एनसीटीसी पर मुख्यमंत्रियों की बैठक में उन्होंने कहा कि यह स्मरण करने के लिए इतिहास में ज्यादा पीछे जाने की जरूरत नहीं है कि प्रख्यात राजनेताओं को राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया गया था और 1975 से 1977 के बीच आपातकाल में उन्हें सीखचों के पीछे भेज दिया गया था।
   
नीतीश ने एनसीटीसी के अधिकारक्षेत्र को लेकर कई मुद्दे उठाये। उन्होंने कहा कि वह इस बात से खासे परेशान हैं कि संघवाद के सिद्धांत का उल्लंघन किया जा रहा है। एनसीटीसी के बारे में जो आदेश जारी किया गया है, उसमें भी कई कानूनी और प्रक्रियागत खामियां हैं।
   
उन्होंने कहा कि रोजमर्रा के शासन से जुडे मामलों में केन्द्र का ज्यादा हस्तक्षेप संविधान की भावना के खिलाफ है। राज्यों के पास कानून व्यवस्था और पुलिस कार्रवाई को नियंत्रित करने का महत्वपूर्ण क्षेत्र है लेकिन केन्द्र अब उस पर प्रहार कर रहा है।
   
नीतीश ने कहा कि उनकी राय में एनसीटीसी के गठन के लिए जारी आदेश को तुरंत वापस लिया जाना चाहिए।

 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड