रॉकेट कैसे ऊपर जाता है?
हिन्दुस्तान रीमिक्स
First Published:07-01-13 12:21 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

रॉकेट जब छोड़ा जाता है तो उसके नीचे से आग की एक पूंछ निकलती है और फिर वह ऊपर उठता है। दरअसल, रॉकेट में ईंधन जलता है, जिससे गर्म गैस निकलती है। स्पेस शटल में तरल हाइड्रोजन और ठोस प्रोपालेंट का उपयोग होता है। ठोस प्रोपालेंट जलता है, पर विस्फोटक नहीं होता। रॉकेट को पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल से बाहर निकालना आसान काम नहीं होता है। इसमें एक बंद चैंबर में विस्फोटक रासायनिक प्रक्रिया होती है, जिससे रॉकेट के पीछे के भाग से कोन के आकार में गर्म गैसें निकलती हैं। इसी ऊर्जा से रॉकेट का इंजन 16,000 कि.मी. प्रति घंटे की रफ्तार से जमीन से ऊपर उठ पाता है। इंजन रॉकेट लॉन्च के 2 मिनट बाद ही शटल से अलग हो जाता है। रॉकेट का बाहरी टैंक भी कुछ देर बाद ही खाली हो जाता है, पर तब तक रॉकेट अंतरिक्ष में बहुत दूर जा चुका होता है।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°