शुक्रवार, 27 मार्च, 2015 | 22:49 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
रिक्शे से जाते समय बाइक सवार बदमाशों ने सिर पर राड मारकर बैग छीना।मुरादाबाद के कोठीवाल नगर में लुधियाना के व्यापारी से दस लाख रुपये की लूट।
रॉकेट कैसे ऊपर जाता है?
हिन्दुस्तान रीमिक्स First Published:07-01-13 12:21 PM
Image Loading

रॉकेट जब छोड़ा जाता है तो उसके नीचे से आग की एक पूंछ निकलती है और फिर वह ऊपर उठता है। दरअसल, रॉकेट में ईंधन जलता है, जिससे गर्म गैस निकलती है। स्पेस शटल में तरल हाइड्रोजन और ठोस प्रोपालेंट का उपयोग होता है। ठोस प्रोपालेंट जलता है, पर विस्फोटक नहीं होता। रॉकेट को पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल से बाहर निकालना आसान काम नहीं होता है। इसमें एक बंद चैंबर में विस्फोटक रासायनिक प्रक्रिया होती है, जिससे रॉकेट के पीछे के भाग से कोन के आकार में गर्म गैसें निकलती हैं। इसी ऊर्जा से रॉकेट का इंजन 16,000 कि.मी. प्रति घंटे की रफ्तार से जमीन से ऊपर उठ पाता है। इंजन रॉकेट लॉन्च के 2 मिनट बाद ही शटल से अलग हो जाता है। रॉकेट का बाहरी टैंक भी कुछ देर बाद ही खाली हो जाता है, पर तब तक रॉकेट अंतरिक्ष में बहुत दूर जा चुका होता है।

 
 
|
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें