मंगलवार, 04 अगस्त, 2015 | 15:13 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
डिब्रूगढ़ से अरुणाचल प्रदेश के खोन्सा जिले के लिए उड़ान भरने के बाद पवन हंस हेलीकॉप्टर लापता, इसमें तीन लोग सवार थे।सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली न्यायिक सेवा में कथित धांधली पर नोटिस दिया, आरोप है चयनित लोगों में ज्यादातर लोग जजों के संबंधी।बिहार: पत्नी ने की पति की हत्या
रॉकेट कैसे ऊपर जाता है?
हिन्दुस्तान रीमिक्स First Published:07-01-2013 12:21:34 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

रॉकेट जब छोड़ा जाता है तो उसके नीचे से आग की एक पूंछ निकलती है और फिर वह ऊपर उठता है। दरअसल, रॉकेट में ईंधन जलता है, जिससे गर्म गैस निकलती है। स्पेस शटल में तरल हाइड्रोजन और ठोस प्रोपालेंट का उपयोग होता है। ठोस प्रोपालेंट जलता है, पर विस्फोटक नहीं होता। रॉकेट को पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल से बाहर निकालना आसान काम नहीं होता है। इसमें एक बंद चैंबर में विस्फोटक रासायनिक प्रक्रिया होती है, जिससे रॉकेट के पीछे के भाग से कोन के आकार में गर्म गैसें निकलती हैं। इसी ऊर्जा से रॉकेट का इंजन 16,000 कि.मी. प्रति घंटे की रफ्तार से जमीन से ऊपर उठ पाता है। इंजन रॉकेट लॉन्च के 2 मिनट बाद ही शटल से अलग हो जाता है। रॉकेट का बाहरी टैंक भी कुछ देर बाद ही खाली हो जाता है, पर तब तक रॉकेट अंतरिक्ष में बहुत दूर जा चुका होता है।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

पागल की बच्ची

बीवी ने शोहर का मोबाइल देखा, फ़ोन बुक में लड़कियों के नाम यूं सेव थे,
.
पड़ोसन की बच्ची,
.
न्यू बच्ची,
.
पुरानी बच्ची,
.
सामने वाली बच्ची,
.
ऊपर वाली बच्ची,
.
कॉलेज वाली बच्ची,
.
इंसोरेंस वाली बच्ची,
.
हॉस्पिटल वाली बच्ची,
.
.
.
बीवी को excitement हुई कि मेरा number किस नाम से save होगा ?
.
बीवी ने अपना number डायल किया तो लिखा था,
.
.
पागल की बच्ची