शुक्रवार, 31 अक्टूबर, 2014 | 14:38 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
आजम खान की पत्नी तजिन फातिमा ने राज्यसभा के लिये सपा का टिकट ठुकरायारामगोपाल यादव, रवि प्रकाश वर्मा, तजिन फातिमा, नीरज शेखर, जावेद अली खान और चंद्र पाल सिंह के नाम शामिलसपा ने की छह नामों की सूची जारी
पीछा नहीं छोड़ता वागले
हिन्दुस्तान रीमिक्स First Published:05-01-13 12:04 PM
Image Loading

करीब तीस साल पहले दूरदर्शन पर धारावाहिक‘वागले की दुनिया’ बेहद लोकप्रिय हुआ था, जिसमें वागले का किरदार अभिनेता अजंन श्रीवास्तव ने निभाया था। उस किरदार की बानगी और उसे अजंन ने कुछ इस तरह निभाया था कि आज भी वागले ने उनका पीछा नहीं छोड़ा। अब यही किरदार एक बार फिर, लेकिन दूसरे रूप यानि डिटेक्टिव वागले बन कर डी डी पर आ रहा है। इस धारावाहिक का निर्माण निर्माता रूपेश गोहिल ने किया है।

धारावाहिक की शुरुआत होती है जब पुलिस स्टेशन में वागले की रिटायरमेंट का आखरी दिन है और स्टेशन इंचार्ज इंस्पेक्टर दलजीत कौर उनके लिये विदाई गिफ्ट लेकर तैयार है। लेकिन वागले आज भी केस की कुछ फाइलों में उलझे हुए हैं। दरअसल शहर में दो आत्महत्याएं हुई हैं, लेकिन वागले को शक है कि वे हत्याएं हैं। इंसपेक्टर दलजीत उन्हें रिलैक्स करने की कोशिश करती है, लेकिन वागले का कहना है बेशक मैं कल से पुलिस स्टेशन नहीं आऊंगा, वर्दी नहीं पहनूंगा, लेकिन दिल से मैं हमेशा पुलिस वाला ही रहूंगा।

रिटायरमेंट के अगले दिन भी वागले टीवी पर आ रही न्यूजों में ही उलझे हैं। इस पर उनकी पत्नी सुलभा आर्या उन पर झुंझलाते हुए उन्हें बाजार से सब्जी लाने के लिये कहती है। लेकिन वागले बाजार की जगह पहुंच जाते हैं मुर्दाघर, ये जानने के लिये कि उन आत्महत्याओं में किस किस्म के जहर का इस्तेमाल हुआ है। इस तरह आगे वे अपने बुद्घि कौशल से ये केस सॉल्व कर दिखाते हैं।

बाद में वागले इस काम को सोशल वर्क से जोड़ लेते हैं। वे शहर या अपने आसपास घटने वाली घटनाओं को अपनी तीखी और प्रखर बुद्घि से सॉल्व करते रहते हैं, और इस काम में उनकी मदद करती है दीप्ती, उनके घर पर रहने वाली पेइंग गेस्ट एक्टर शुभि आहूजा तथा इंस्पेक्टर दलजीत कौर। बकौल अजंन, ‘ये शो मेरे लिए काफी अलग रहा है, लिहाजा इस पर मैं पिछले एक-डेढ़ साल से वर्क कर रहा था। इसके निर्माता के साथ मिलकर मैंने इसमें काफी प्रयोग किये हैं। दूसरे शो में वागले तो होगा, लेकिन अब वो साठ पैंसठ साल का एक रिटायर्ड शख्स है,जो अभी भी अपने काम से जुड़े रहना चाहता है। तो वो कुछ केस सॉल्व कर पुलिस डिपार्टमेन्ट की सेवा कर रहा है।’

 
 
 
टिप्पणियाँ