रविवार, 02 अगस्त, 2015 | 17:51 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    पेट्रोल पर मूल कीमत से अधिक लग रहा है टैक्स  पाकिस्तान में भारत की 'गीता' को है बजरंगी भाईजान का इंतजार  कार-घर की किस्तों में कमी के लिए करना पड़ सकता है और इंतजार  शाहरुख के वानखेड़े स्टेडियम जाने पर रोक हटी, MCA ने हटाया बैन इतिहास के आइने में वैद्यनाथधाम बम की सूचना पर उत्कल एक्सप्रेस की हुई तलाशी जौनपुर में टीडी इंटर कालेज के प्रधानाचार्य गिरफ्तार भाभी का मर्डर करने के बाद खुद को भी मार ली गोली  मानव इतिहास में मूसा विश्व में सबसे अमीर, बादशाह अकबर चौथे नंबर पर संसद में गतिरोध को दूर करने को सरकार ने बुलाई सर्वदलीय बैठक
अपने करियर को फिर करें प्यार
Shine First Published:18-12-2012 01:13:09 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

क्या आप अपने कार्य से जूझ रहे हैं? करियर में संघर्ष हमेशा चलता रहता है, लेकिन उससे पार पाना आपके अपने हाथ में है। डेब्रा ब्राउन-वोकमैन की कलम से जानिए कुछ उपाय, जो इसमें आपकी मदद करेंगे।

क्या आपको अपना काम पसंद है या अपना काम आपको अब पसंद नहीं रहा? या आप अब यह सोचते हैं कि आपने अपना यह करियर न ही चुना होता तो अच्छा था?

सबसे पहला सच तो यह है कि अपने करियर की इज्जत आपको खुद ही करनी पड़ेगी। इतना जरूर है कि बाहरी असर इस प्रेम को या तो अधिक गहरा सकते हैं या कम कर सकते हैं, परंतु अंतत: आपके दिल, सोच और भावनाओं पर आपका ही अधिकार होता है। इनके आधार पर आप क्या फैसला लेते हैं, वह आपके हाथ में होता है। इस बारे में ईमानदारी बरतनी भी बहुत जरूरी है। आप बेशक अपने ड्रीम करियर में न हों, परंतु इसका मतलब यह भी नहीं कि आप अपने काम के प्रति निष्ठाबद्ध नहीं रह सकते। इसलिए अपने कार्य से किस तरह तारतम्यता बैठाएंगे, इसके लिए इन तीन उपायों को अपनाएं और देखें :

करियर से खुद को जोड़ें
खुद निर्णय लेना जरूरी होता है, क्योंकि इससे आपके अंदर आत्मविश्वास उपजता है और आत्मविश्वास के साथ एक मकसद और कार्य के प्रति जुड़ाव भी मजबूत होता है। यह आत्मविश्वास तब भी आ सकता है, जब आपको महसूस हो रहा हो कि ऐसा नहीं हो सकता या आप इसके लिए किसी और से प्रेरणा की उम्मीद रख रहे हों। आप मात्र इतना सोच कर अपने करियर से पुन: जुडम् सकते हैं कि आपको दोबारा काम में मन लगाना है। यह निर्णय आपको अपने कार्य के प्रति मौजूदा समय में ही आजादी देता है, इसलिए अपने लिए अपने काम से प्रेम करें, क्योंकि उससे प्यार करना नफरत से अच्छा है और तब आपको और अधिक अच्छा महसूस होगा, जब आप धारा के साथ बहेंगे।

अपनी चाहत का ध्यान रखें
प्रत्येक करियर के कुछ सकारात्मक पक्ष होते हैं। खुद से प्रश्न करें कि आपको अपने भीतर क्या पसंद है? क्या आपको अपने सहकर्मी पसंद हैं? क्या आपको वह प्रोजेक्ट पसंद है, जिस पर आप काम कर रहे हैं? यदि आप अपनी पसंद की सुविधाओं की गैरमौजूदगी के प्रति अधिक शिकायत नहीं रखते तो क्या आपकी नजर में अपने किए गए श्रम के प्रति सौहार्दभाव है? दरअसल किसी भी सूरत में आपकी मेहनत का फल ही आपको मिलता है। अपना फोकस बदलें। अपने करियर के असाधारण पक्षों और उनसे मिलने वाले फल पर ध्यान केंद्रित करें। नया दृष्टिकोण नई ऊर्जा लाता है और यह नई ऊर्जा आपको अपने करियर से एकाकार होने में मदद करेगी।

अपनी बुनियाद को रखें मजबूत
आप कोई भी कार्य कर रहे हों, वह बेहतरीन हो सकता है, यदि आप उसे ऐसा ही समझें तो। फिर भी यदि वह आपके आदर्श कार्य की श्रेणी में नहीं आता तो भी उस पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास जारी रखें।

जरा सोचें कि यदि आप आज अपनी नजर में सबसे आदर्श स्थिति में होते तो वहां तक पहुंचने के लिए आपके क्या प्रयास रहे होते? जाहिर है इसके लिए आपका किया गया बेहतरीन काम ही जिम्मेदार होता, इसलिए उसे किसी भी हालत में जारी रखें। दरअसल आप अपने करियर को तब तक नहीं चाह सकते, जब तक कि आप ऐसा करना शुरू नहीं करेंगे। याद रखें, आप अपने कार्यक्षेत्र में शीर्ष पर होंगे, यदि आप उससे निजी स्तर पर संघर्ष करना नहीं छोड़ेंगे। इसका मतलब कि जितना आप सोचते हैं, अपने करियर पर आपका उससे अधिक असर होता है। तो आखिर अपने करियर के बारे में क्या सोचा आपने?

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingशाहरुख के वानखेड़े स्टेडियम जाने पर रोक हटी, MCA ने हटाया बैन
मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन ने शाहरुख खान पर वानखेड़े स्टेडियम में घुसने पर लगा प्रतिबंध हटा लिया है। एमसीए वाइस प्रेसीडेंट आशीष शेलार के मुताबिक एमसीए ने यह फैसला रविवार को हुई मैनेजिंग कमेटी की बैठक में लिया है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?