मंगलवार, 28 जुलाई, 2015 | 15:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
मुरादाबाद: ज़िला अस्पताल में महिला बनी 'वीरू'। शोभा नाम की महिला पति से झगड़े के बाद पानी की टंकी पर चढ़ी। एक घंटे हंगामा के बाद उसे उतारा गया।बरेली: सियालदा एक्सप्रेस पर मुरादाबाद के मूढ़ा पांडे स्टेशन के पास पथराव, कई यात्री घायलमेरठ: एसएस के लिए बल्ले बनाने वाली फैक्ट्री में आग लगीझारखंड: जामताड़ा जिला के चितरंजन में कार की चपेट में आने से एक युवक की मौत हो गई। घटना के बाद आक्रोशित लोगों को कार को क्षतिग्रस्त कर दिया।बुलंदशहर: आठ बदमाशों ने पुजारी को बंधक बनाकर चांदी का मुकुट और 800 ग्राम चांदी के आभूषण लूटेबुलंदशहर: संपत्ति विवाद में बेटे को कुल्हाड़ी से काट डालाउत्तराखंड के सितारगंज में पाकिस्तानियों के आधार कार्ड बना डालेयूपी: रामपुर के मिलक इलाक़े में तनाव, फोर्स तैनातगोरखपुर: सेना में भर्ती के लिए दौड़ लगा रहे युवकों को पिकअप ने रौंदा, 2 की मौतकुशीनगर से मथुरा जा रही बस का संत कबीरनगर में एक्सीडेंट, 6 की मौतयूपी: संभल ज़िले के चंदौसी इलाक़े में अनियंत्रित ट्रक ने रेलवे का फाटक (36 बी) तोड़ा। मुरादाबाद-अलीगढ़ मार्ग पर लगा लम्बा जाम। क्रासिंग का बैरियर टूटने से लिंक एक्सप्रेस समेत कई ट्रेनें घंटों लेट। क्रासिंग पर चेन बाँधकर निकाला जा रहा है ट्रैफिक।याकूब के मामले में SC के जजों में मतभेद, एक ने डेथ वारंट रद्द किया, दूसरे ने कहा फांसी दो, मामला सीजेआई को रैफर, सुनवाई कल संभवगृह मंत्री की अध्यक्षता में पंजाब के आतंकी हमलों को लेकर बैठक होगीDCW चेयरपर्सन के बतौर स्वाति मालीवाल ने लिया चार्जइंडोनेशिया के पूर्वी प्रांत पापुआ में आज 7.0 तीव्रता वाले भूकंप के जबरदस्त झटके महसूस किये गएसात दिवसीय राजकीय शोक की घोषणा लेकिन कोई छुट्टी नहीं12 बजे तक दिल्ली पहुंचेगा कलाम का पार्थिव शरीर, कल ले जाया जाएगा रामेश्वरम
पुलिस की कहानी, म्यूजियम की जुबानी
विवेक पांडेय First Published:14-12-2012 11:32:43 AMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM

अगर आप दिल्ली पुलिस के बारे में विस्तार से जानकारी हासिल करना चाहते हैं तो न्यू पुलिस लाइन स्थित म्यूजियम जरूर जाएं। यहां कई महत्वपूर्ण तथ्यों के साथ-साथ आपको कई रोचक दस्तावेज भी देखने को मिलेंगे।

वो पुरानी गलियों वाली दिल्ली रही हो या चौड़ी चमचमाती आज की दिल्ली, सुरक्षा के मामले में दिल्ली पुलिस ने हमेशा इस शहर का साथ दिया है। न सिर्फ आधुनिक पुलिस ने बल्कि राजा महाराजाओं की सुरक्षा टोली ने भी। मिसाल के तौर पर 12वीं शताब्दी के सिपहसालारों के पदों से लेकर कोतवाल, दरोगा, एसपी, आईजी और कमिश्नर के पद तक  सबने दिल्ली की पहरेदारी की है।

इतिहास का हिस्सा रही और कई मोर्चो पर बहादुरी की मिसाल बनकर उभरी दिल्ली ने उर्दू के कायदों से  ऑनलाइन एफआईआर तक का सफर तय किया है।

यह पूरी कहानी दिल्ली पुलिस के म्यूजियम में बखूबी दर्शाई गई है। यहां मुगलकालीन सुरक्षा व्यवस्था, इंडियन पुलिस एक्ट पास होने के बाद सन 1861 की व्यवस्था और सन 1912 में दिल्ली पुलिस की व्यवस्था शुरू होने के साथ ही आधुनिक पुलिसिंग को दर्शाया गया है। इसके साथ ही कई दुर्लभ दस्तावेज और तस्वीरें इस म्यूजियम में मौजूद हैं। दस्तावेजों में सरकारी आदेश, एफआईआर की कॉपियां और रिपोर्ट वगैरह भी मौजूद हैं।
यहां दिल्ली पुलिस के ऐतिहासिक पदों पर रहे लोगों की तस्वीरें और जानकारियां हैं। जिसमें पहले एसपी, आईजी और कमिश्नर के साथ पहली महिला अधिकारी के बारे में जानकारी हासिल की जा सकती है। इसके साथ ही भगत सिंह और सुखदेव पर हुई एफआईआर की कॉपी भी देखी जा सकती है। दिल्ली पुलिस के इतिहास की पहली एफआईआर भी कौतूहल पैदा करती है।

ये म्यूजियम छात्रों और खासतौर से शोध के छात्रों और क्रिमिनोलॉजी के छात्रों को जरूर देखना चाहिए। इसके अलावा मां-बाप बच्चों को भी यह म्यूजियम दिखा सकते हैं, इससे उनका सामान्य ज्ञान बढ़ेगा।

कैसे पहुंचे
दिल्ली पुलिस का म्यूजियम किंग्सवे कैंप स्थित न्यू पुलिस लाइन में है। जीटीबी नगर मेट्रो स्टेशन के यह काफी करीब है। वहां से रिक्शा या आटो लेकर आसानी से पहुंचा जा सकता है। हर वर्किंग डे को सुबह 10 बजे से लेकर शाम साढ़े पांच बजे तक यहां जाया जा सकता है। म्यूजियम देखने के लिए कोई फीस नहीं लगती है।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingबीसीसीआई और श्रीसंत के बीच बात होनी चाहिए :गांगुली
पूर्व भारतीय क्रिकेट कप्तान और जस्टिस लोढा समिति की रिपोर्ट पर अध्ययन करने के लिए बने कार्य समूह के सदस्य सौरव गांगुली का मानना है कि बीसीसीआई और स्पॉट फिक्सिंग के आरोपों से बरी हुए क्रिकेटर एस श्रीसंत के बीच वार्ता होनी चाहिए।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड