गुरुवार, 02 जुलाई, 2015 | 04:42 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    अब मोबाइल फोन से डायल हो सकेगा लैंडलाइन नंबर गोद से गिरी बच्ची, बचाने के लिए मां भी चलती ट्रेन से कूदी बलात्कार मामलों में कोई समझौता नहीं, औरत का शरीर उसके लिए मंदिर के समान होता है: सुप्रीम कोर्ट अब यूपी पुलिस 'चुड़ैल' को ढूंढेगी, जानिए क्या है पूरा मामला  खुलासा: एक रुपया तैयार करने का खर्च एक रुपये 14 पैसे दार्जिलिंग: भूस्‍खलन के कारण 38 लोगों की मौत, पीएम ने जताया शोक, 2-2 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान यूनान ने किया डिफॉल्ट, नहीं चुकाया अंतरराष्ट्रीय मुद्राकोष का कर्ज विकी‍पीडिया पर नेहरू को मुस्लिम बताये जाने पर भड़की कांग्रेस, पूछा अब क्या कार्रवाई करेगी मोदी सरकार PHOTO: जब मंत्रीजी ने पकड़ी लेडी डॉक्टर की कॉलर और बोले... ललित मोदी के ट्वीट पर बवाल, भाजपा नहीं करेगी वरुण गांधी का बचाव
मोटी महिलाएं ज्यादा मात्रा में कम बार खाएं
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:07-12-12 08:08 PM
Image Loading

दिन में छह बार थोड़ी-थोड़ी मात्रा में भोजन करने की बजाय तीन बार ज्यादा मात्रा में भोजन करना मोटापाग्रस्त महिलाओं के रक्त में वसा की मात्रा को कम करता है। इसके अलावा यह हृदय संबंधी रोगों के खतरे को भी घटाता है। यह जानकारी हाल ही में हुए एक अध्ययन से मिली।

अध्ययन का नेतृत्व करने वाले मिसौरी विश्वविद्यालय के आहार एवं व्यायाम शरीर विज्ञान विभाग के पीएचडी विद्यार्थी टिम हेडेन ने बताया कि हमारे आंकड़ों के अनुसार मोटापाग्रस्त महिलाओं के लिए दिन भर में अधिक मात्रा में कम बार खाना, थोड़ी-थोड़ी मात्रा में अधिक बार भोजन करने की तुलना में अधिक फायदेमंद है।

शोध पत्रिका 'ओबेसिटी' के मुताबिक हेडेन ने कहा कि समय के साथ लगातार प्रत्येक दिन कम बार अधिक मात्रा में भोजन करना महिलाओं के रक्त में वसा के स्तर को कम करता है और उनमें हृदय सम्बंधी रोगों के पैदा होने के खतरे को भी घटाता है।

हेडेन और अन्य शोधकर्ताओं ने मोटापाग्रस्त महिलाओं पर किए गए एक अध्ययन में यह पता लगाने की कोशिश की कि भोजन तुरंत किस तरह से रक्त शर्करा और रक्त-वसा स्तरों को प्रभावित करता है।

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड