शनिवार, 25 अक्टूबर, 2014 | 23:43 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    राजनाथ सोमवार को मुंबई में कर सकते हैं शिवसेना से वार्ता नरेंद्र मोदी ने सफाई और स्वच्छता पर दिया जोर मुंबई में मोदी से उद्धव के मिलने का कार्यक्रम नहीं था: शिवसेना  कांग्रेस ने विवादित लेख पर भाजपा की आलोचना की केन्द्र ने 80 हजार करोड़ की रक्षा परियोजनाओं को दी मंजूरी  कांग्रेस नेता शशि थरूर शामिल हुए स्वच्छता अभियान में हेलमेट के बगैर स्कूटर चला कर विवाद में आए गडकरी  नस्ली घटनाओं पर राज्यों को सलाह देगा गृह मंत्रालय: रिजिजू अश्विका कपूर को फिल्मों के लिए ग्रीन ऑस्कर अवार्ड जम्मू-कश्मीर और झारखंड में पांच चरणों में मतदान की घोषणा
कितनी साफ है आपकी कार
सरोज मल्होत्रा First Published:07-12-12 02:59 PM
Image Loading

क्या आपकी कार वाकई साफ है? यह सवाल चौंकाने वाला हो सकता है, लेकिन है पूरी तरह वाजिब। जैसे हर चमकती चीज सोना नहीं होती, वैसे ही हर साफ दिखने वाली चीज साफ हो, ऐसा जरूरी नहीं है। आप इस बात की कल्पना भी नहीं कर सकते कि आपकी चमचमाती कार में कितने बैक्टीरिया हो सकते हैं। भले ही आपकी कार बंद हो, लेकिन बावजूद इसके कई दरारें और ऐसे रास्ते होते हैं, जिनसे इन चिपचिपे कीटाणुओं को पनपने का मौका और रास्ता मिलता है।

कार बूट
जब भी कार के इंटीरियर की सफाई की बात होती है, तो बूट को हमेशा नजरअंदाज कर दिया जाता है। आमतौर पर महज इसे महज कपड़े से पोंछ कर कर्तव्य की इतिश्री समझ ली जाती है। लेकिन, इस पर जमा कीटाणु आपकी सेहत के लिए कितने खतरनाक हो सकते हैं, इस बात का शायद आपको अंदाजा भी नहीं होगा। शोधकर्ता इस बात की पुष्टि करते हैं कि कार के बूट पर हर वर्ग इंच पर 650 बैक्टीरिया होते हैं। ऐसे में अपनी कार के बूट की उचित सफाई को नजरअंदाज करना आपकी सेहत के लिए ठीक नहीं होगा।

ग्लव कम्पार्टमेंट
शायद हम इसका अर्थ भूल गए हैं। कार के इंटीरियर में जो कम्पार्टमेंट महज एक जोड़ी दस्ताने रखने के लिए बनाया गया था, उसमें हम अपनी पुरानी सीडी, पर्चियां, बिल और भी न जाने क्या-क्या ठूंस देते हैं। उनकी सफाई भी की जानी जरूरी है।

सीट कवर
जल्दबाजी में सुबह का नाश्ता कार में करना हो या फिर दोस्तों के साथ पार्टी की बात हो, अक्सर कई बार हम अपनी कार को ही डायनिंग हॉल बना लेते हैं। कार में खाने का सबसे ज्यादा असर उसकी सीटों पर नजर आता है। अगर गलती से कार की सीट पर कुछ गिर जाए तो हमें दुख तो होता है, लेकिन हम जल्द ही उसे भूल जाते हैं और उसके दूरगामी प्रभावों पर भी चिंता व्यक्त नहीं करते। कभी अपनी कार की सीटों को ध्यान से देखिए। शायद आपको इस बात का अहसास हो जाए कि आपकी सीटों की सफाई की जानी कितनी जरूरी है।

सीट के नीचे
कार की सीट के नीचे की जगह को हम घर के स्टोर रूम की तरह इस्तेमाल करते हैं। जो बेकार की चीज मिली उसे सीट के नीचे सरका दो। कार में यह जगह आसानी से नजर नहीं आती, इसलिए यहां ठीक से सफाई करना भी जरा मुश्किल होता है। जरा एक बार अपनी कार की सीटों के नीचे झांक कर देखिए वहां की हालत क्या है। और लगे हाथ अगर उसकी सफाई भी हो जाए तो क्या बात है।

स्टियिरग व्हील
आमतौर पर लोग यह मानने के लिए तैयार ही नहीं होते कि उनकी कार का स्टीयरिंग व्हील गंदा हो सकता है। कई लोग तो फिर भी उसे कभी-कभार साफ करते हुए नजर आ जाते हैं, लेकिन अधिकतर लोग इसकी भी चिंता नहीं करते। उन्हें अपनी कार के स्टीयरिंग व्हील पर कपडम तक मारने की जरूरत भी महसूस नहीं होती।
लेकिन, आपको यह अगर यह पता चले कि स्टीयरिंग व्हील पर सार्वजनिक टॉयलेट सीट के मुकाबले नौ गुणा अधिक कीटाणु हो सकते हैं तो़.. यह बात शायद आपको हैरान करे, लेकिन यह पूरी तरह सच है। एक शोध में पाया गया था सार्वजनिक टॉयलेट सीट पर जहां प्रति वर्ग इंच में 80 बैक्टीरिया होते हैं, वहीं कार के इंटीरियर में यह आंकडम 700 था। इसके बाद आप शायद आप अपनी कार के स्टीयरिंग व्हील को किसी अच्छे एंटीबॉयोटिक से धोना चाहेंगे। क्यों, सही कहा ना!

फुटमैट
इसे तो गंदा होना ही है। आपके जूतों की मिट्टी हो या फिर कुछ और, सब कुछ इसी पर रह जाता है। लेकिन इसकी सही तरीके से सफाई नहीं जाए तो यह भी कई बीमारियों को न्योता दे सकता है।

कार मोटे तौर पर आपके घर की ही तरह है। तो जरूरी है कि आप इसकी साफ-सफाई पर भी उतना ही ध्यान दें, जितना आप अपने घर को देते हैं। एक साफ कार न सिर्फ अच्छी दिखती है, बल्कि यह आपको भी फिट रखने का काम करती है।
 
 
 
टिप्पणियाँ