शुक्रवार, 29 अगस्त, 2014 | 23:34 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
भारत-पाक के बीच प्लैग मीटिंग खत्मबीएसएफ, डीआईजी, पाक रेंजर्स की बैठकसीजफायर कायम रखने पर सहमतिआगे भी फ्लैग मीटिंग करने पर सहमतिसाढ़े तीन घंटे चली प्लैग मीटिंगधनबाद के गोविंदपुर के पास 2000 मवेशी लदे सौ ट्रक पकडे़ गए
 
10 आदतें सेहत की दुश्मन
अशोक कुमार मिश्र
First Published:06-12-12 12:39 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

सही साइज के कपड़े न पहनना, अपनी नींद का ध्यान न रखना, हर समय ऊंची हील्स और हैवी बैग्स कैरी करना आदि सामान्य-सी दिखने वाली बातें आपकी सेहत को भारी नुकसान पहुंचाती हैं। यहां दी जा रही हैं कुछ ऐसी आदतें, जिनसे लंबे समय तक आपकी यारी आपकी सेहत पर भारी पड़ सकती है। कैसे? बता रहे हैं अशोक कुमार मिश्र

1.हील्स पहनना
स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रभाव से अनजान कई महिलाएं हर रोज ऊंची हील्स पहनती हैं। ऊंची हील्स पहनने से हमारा पोस्चर बिगड़ जाता है और जोड़े पर ज्यादा जोर पड़ता है। लंबे समय तक ऐसा करने से आर्थराइटिस, पीठदर्द और मांसपेशियों में खिंचाव जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं। इस क्षति को कम करने के लिए नियमित रूप से डेढ़ इंच से ज्यादा हील्स वाले जूते या सैंडिल न पहनें। जोड़े पर दबाव न हो, इसके लिए एड़ी पर सोल लगवायें।

2. गलत साइज के अंतर्वस्त्र पहनना
ऐसा माना जाता है कि लगभग 70 फीसदी महिलाएं गलत साइज के अंतर्वस्त्र पहनती हैं। गलत साइज पहनने से न सिर्फ पहने जाने वाले कपड़े की फिटिंग बिगड़ती है, बल्कि कई शोध बताते हैं कि इससे स्वास्थ्य पर भी बुरा असर पड़ सकता है। गलत साइज के अंतर्वस्त्र पहनने से पीठ, गर्दन और स्तन में दर्द, सांस लेने में तकलीफ, पोस्चर खराब होना, त्वचा संबंधी रोग, रक्त प्रवाह पर असर, यहां तक कि पेट संबंधी बीमारियां तक हो सकती हैं। अपने साइज का अनुमान लगाने की बजाय उसे मापें, तभी कपड़े खरीदें।

3. मेकअप किए हुए सोना
कई महिलाएं मेकअप किए हुए ही सो जाती हैं। बहुत बार इसकी वजह आलस होती है, लेकिन इस आदत को तिलांजलि दे दें। दरअसल मेकअप के साथ गंदगी और त्वचा से निकलने वाले तेल की परत भी आपके चेहरे पर जम जाती है। अगर आप इसे रात में सोने से पहले नहीं हटातीं तो इससे रोमछिद्र बड़े हो जाते हैं। त्वचा पर दाग व धब्बे भी बनने शुरू हो जाते हैं। मस्कारा और काजल लगा होने से आंखों में खुजली, जलन, उनके लाल और संक्रमित होने का खतरा बढ़ जाता है।

4. भारी हैंड बैग लेना
मेकअप के सामान, लंच, गैजेट्स और तरह-तरह की एक्सेसरीज से लदे भारी बैग को ढोती लडकियां हमें रोज दिखती हैं। कितनी ही बार उस बैग में अनावश्यक चीजें रखी होती हैं। अगर यह सिलसिला हर रोज होता है तो शुरुआत में भले ही इसका असर न दिखे, पर बाद में इससे पीठदर्द की शिकायत हो सकती है। यह समस्या गंभीर रूप भी ले सकती है और गर्दन में दर्द भी हो सकता है। समय से पहले चेतें और छोटा बैग लेने की आदत डालें।

5. अपने लुक को लेकर परेशान होना
यूं तो महिलाएं व पुरुष सब अच्छा दिखना चाहते हैं और अपनी लुक को लेकर सजग भी रहते हैं, पर महिलाओं में अपने लुक को लेकर चिंता अधिक देखने को मिलती है। उनमें परफेक्ट बॉडी और खूबसूरत चेहरे की चाह अधिक बनी रहती है। एक शोध से पता चला है कि 16 फीसदी महिलायें परफेक्ट शेप में या मानक वजन से कम होने के बाद भी खुद को मोटी मानती हैं। अपने शरीर को लेकर ज्यादा चिंतित रहने से न सिर्फ मानसिक तनाव होता है, बल्कि वे पतले होने के लिए डाइटिंग का सहारा लेती हैं, जिससे शरीर पर भी बुरा असर पड़ता है।

6. चिंता या पछतावा करना
तनाव शरीर और मानसिक स्वास्थ्य दोनों के लिए हानिकारक है। तनाव संबंधी बीमारियां महिलाओं में पुरुषों की अपेक्षा दोगुनी पाई जाती हैं। महिलाएं जल्द ही अवसाद या चिंता की शिकार बन जाती हैं। अपनी गलती को वे बहुत बड़ मानती हैं और देर तक उसके लिए पछतावा करती रहती हैं। वे भविष्य के लिए भी अधिक आशंकित रहती हैं। शोध से पता चला है कि रिश्तों में आयी दरार या किसी को खोने का ज्यादा असर महिलाओं पर होता है।

7. पुरुषों की तरह पीना
एक बड़े तबके में महिलाओं का पीना आम हो गया है। नेटवर्क बनाने के लिए, डेट पर या किसी पार्टी में महिलाएं अक्सर पुरुषों की तरह बड़े साइज का पैग लेती हैं। पीने से पहले यह जानना ज्यादा जरूरी है कि हम कितनी पचा सकते हैं। दरअसल महिलाएं पुरुषों की तुलना में कम वजन की होती हैं और उनके शरीर में मौजूद पानी की मात्रा भी पुरुषों की तुलना में कम होती है। शरीर में मौजूद पानी की मात्रा ही अल्कोहल को डायल्यूट करती है। कम पानी होने के कारण महिलाओं पर अल्कोहल का असर जल्दी और ज्यादा होता है।

8. सोने में कमी
नींद पूरी न होने का प्रभाव हमारे चेहरे पर तो पड़ता ही है, साथ ही हमारा मूड भी खराब हो जाता है। कम सोने के कारण हमेशा नींद आती रहती है, जिससे दुर्घटनायें बढ़ सकती हैं और दिल की बीमारी होने का खतरा बढ़ सकता है। इसका असर रोजमर्रा की गतिविधियों में थकान के रूप में भी देखने को मिलता है। अमेरिकी विश्वविद्यालय के शोध से यह पता चला है कि महिलायें दूसरों के सुख का ख्याल करते हुए अपनी नींद कुर्बान कर देती हैं। यदि आपको लंबे समय से नींद आने में परेशानी हो रही है तो डॉक्टर से संपर्क अवश्य करें।


9. खुद को सबसे अंत में रखना
रोजमर्रा के कामों और घर-परिवार में अधिक से अधिक खुशियां जुटाने के दौरान अक्सर महिलाएं अपनी सेहत की जरूरत को ध्यान नहीं रखतीं। न सिर्फ सेहत, बल्कि अपने मनोरंजन, पसंद-नापसंद के लिए भी समय नहीं निकालतीं। अगर आप सच में अपने परिवार को चाहती हैं तो न कहना सीखें और मदद मांगें। अपने लिए समय बचाएं। आप खुश होंगी, तभी दूसरों को खुशी दे पाएंगी।

10. दुखी होने पर ज्यादा खाना
भावुक या दुखी होने पर महिलाएं पुरुषों की तुलना में ज्यादा खाती हैं, उस पर भी अधिक जोर मीठी व हाई कैलोरी वाली चीजों पर होता है। इससे बचने के लिए बेहतर होगा कि आप कुछ ऐसा करें, जिससे मन खाने से भटके, जैसे गाने सुनना, दोस्तों से बात करना आदि।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°