बुधवार, 05 अगस्त, 2015 | 05:25 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    परिवार मोह में फंसकर लालू बन गए हैं नेता से नीतीश का पिछलग्गुः रामकृपाल  होंडा ने 7.30 लाख में पेश की सीबीआर-650  आतंकियों तक जाने वाले कालेधन के रूट पर कसेगी लगाम  बेनकाब हुआ पाक का नापाक चेहरा, पाकिस्तान में रची गई थी मुंबई अटैक की साजिश सीबीआई ने यादव सिंह के खिलाफ भ्रष्टाचार के दो मामले दर्ज किए  आरबीआई की नीतिगत दर में बदलाव नहीं, फिलहाल नहीं घटेगी ईएमआई  खुशखबरी...और सस्ता होने वाला है पेट्रोल और डीजल बॉस हो तो ऐसा, हर एक कर्मचारी को बोनस में दिए 1.6 करोड़ रुपये  पाकिस्तानी पत्रकार चांद नवाब का नया वीडियो वायरल, क्या आपने देखा  हॉकी: पहले टेस्ट मैच में भारत ने फ्रांस को 2-0 से हराया
चकराता की खूबसूरती
डी एस. जीना First Published:01-12-2012 03:01:50 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

घूमने-फिरने की जब भी बात आती है तो हर किसी के मन में पहला ख्याल पहाड़ों की तरफ जाता है। इससे उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता कि वहां के लोग तो पहाड़ों को तन्हा छोड़कर मैदानी इलाकों में आ बसे हैं। खैर आपका घूमने का मन हो तो उत्तराखंड में देहरादून के पास एक जगह है चकराता, जहां के बारे में बहुत कम लोगों को पता है और यही कारण है कि वहां भीड़-भाड़ भी ना के बराबर है।


हाड़ों के बीच बसा चकराता बहुत ही सुंदर जगह है। हालांकि यह बहुत लंबा चौड़ा नहीं है लेकिन यहां की खूबसूरती आपके मन में बस जाएगी। खासकर अगर आप हनीमून का प्लान बना रहे हैं तो यह आपके लिए बेहतरीन जगह हो सकती है, क्योंकि यहां भीड़ नहीं होने के कारण आप दोनों एक दूसरे के साथ बहुत अच्छा वक्त गुजार सकते हैं। चकराता आर्मी कैंट का इलाका है।
 
यहां जाएं तो कैंट इलाके की सुंदरता को करीब से जरूर निहारें। चकराता की मार्केट छोटी सी लेकिन सुंदर है और यहां अखरोट की अच्छी वैरायटी मिलती है। शाम के वक्त बैठने के लिए यहां एक जगह भी बनायी गई है जहां पर लोग अक्सर धूप सेंकते हुए मिल जाएंगे। यहां की गर्मियों में भी ठिठुरा देने वाली ठंड होती है लेकिन यहां आप गर्मा-गर्म मोमोज व नूडल्स का मजा ले सकते हैं, जो आपको जगह-जगह मिल जाएंगे।
 
घूमने के लिहाज से चकराता से करीब 17 किमी की दूरी पर टाइगर फॉल बेहद सुंदर जगह है। यह फॉल इतना सुंदर है कि यहां से वापस आने का ही मन न करे। टाइगर फॉल तक पहुंचने के लिए आपको सड़क से करीब डेढ़ किमी पैदल खड़ी ढ़लान पर उतरना होगा।

सड़क पर ही आपको यहां आसपास के गांवों के बच्चे मिल जाएंगे जो आपका सामान ढ़ोने के लिए तत्पर रहते हैं। 100-200 रुपये में वे आपको वापस सड़क तक पहुंचा जाते हैं। इस इलाके को जौनसार कहा जाता है और यहां पर अभी भी गरीब लोगों में बहु-विवाह का प्रचलन है। परिवार में जितने भी लड़के हैं उनके लिए एक लड़की ब्याह कर लायी जाती है। साधारण भाषा में लोग इसे द्रौपदी प्रथा भी कह देते हैं।

खैर एक बार आप टाइगर फॉल पहुंच गए तो आपका यहां से हटने का मन ही नहीं करेगा। यह बेहद सुंदर है और पानी जबरदस्त ठंडा। यहां मौसम अक्सर खराब हो जाता है और देखते ही देखते बादल छा जाते हैं, जो घनघोर बारिश साथ लेकर आते हैं। अगर आप यहां जाने का मन बना रहे हैं जो मौसम बिगड़ता देखने पर जल्द यहां से निकल जाएं, क्योंकि एक बार तेज बारिश शुरू हो गई तो सड़कें जल्दी टूट जाती हैं और आप वहां फंसे रह जाएंगे।

हिमाचल यहां से बहुत करीब है, इसलिए यहां के खाने में पंजाबीपन साफ दिखता है। यहां से सबसे नजदीकी शहर विकासनगर है, विकासनगर को क्रिकेट के दीवाने टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धौनी के विवाह स्थल के रूप में ज्यादा जानते हैं।

विकास नगर से चकराता करीब 55 किमी दूरी पर है और विकासनगर में भी रुकने व खाने-पीने की अच्छी व्यवस्था है। विकासनगर और देहरादून के बीच करीब 40 किमी की दूरी है। देहरादून के लिए देश के लगभग सभी शहरों से ट्रेन की व्यवस्था है।

अगर आप हवाई जहाज से यहां पहुंचना चाहते हैं तो देहरादून में ही जॉलीग्रांट हवाई अड्डा भी है। देहरादून पहुंचने पर एक बार सहस्रधारा जरूर जाएं। देहरादून से आधे घंटे की दूरी पर सहस्रधारा में पातिक गंधक जलस्रोत बह रहा है। गंधक का पानी चर्म रोगों के लिए बेहद फायदेमंद होता है और यहां पर देशभर से लोग आते हैं। यहां पर गढ़वाल मंडल विकास निगम के गेस्टहाउस भी हैं जिन्हें आप ऑनलाइन भी बुक कर सकते हैं। तो देर किस बात की है, आप अपने नए साल की छुट्टियों के लिए भी इस जगह का चुनाव कर सकते हैं

 
 
 
|
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingतेंदुलकर ने मलिंगा की तारीफों के पुल बांधे
तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा की तारीफ करते हुए महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने आज कहा कि श्रीलंका का यह क्रिकेटर विश्व स्तरीय गेंदबाज है और उनके साथ इंडियन प्रीमियर लीग में खेलना शानदार अनुभव रहा।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

संता बंता और अलार्म

संता बंता से - 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह सुबह मेरी नींद खुल गई।

बंता - क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?

संता - नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।