मंगलवार, 29 जुलाई, 2014 | 14:11 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
Image Loading    'तृणमूल सांसद तापस पाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करें' दिल्ली में लश्कर-ए-तैयबा का शीर्ष आतंकी सुभान गिरफ्तार देशभर में आज मनाया जा रहा है ईद-उल-फितर का त्यौहार गैरहाजिर 80 कर्मचारियों को वेंकैया नायडू ने थमाया नोटिस मानसून ने जोर पकड़ा, बेहतर बारिश की संभावना: कृषि मंत्री बालाकृष्णन भ्रष्ट जज की पदोन्नति पर अड़े हुए थे: काटजू  जीतू ने साधा सोने पर निशाना, गुरपाल-नारंग को रजत जीतू ने साधा सोने पर निशाना, गुरपाल-नारंग को रजत जीतू ने साधा सोने पर निशाना, गुरपाल-नारंग को रजत नितिन गडकरी के घर जासूसी का गृह मंत्रालय ने किया खंडन
 
साइकिल चलाओ, ड्रॉइंग बनाओ
रिचा पांडेय
First Published:30-04-12 12:53 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

तुम जैसे बच्चों को साइकिल चलाना और ड्रॉइंग बनाना, दोनों पसंद होते हैं। समस्या यह आती है कि दोनों काम एक साथ नहीं हो सकते। अगर मैदान में साइकिल चला रहे हो तो ड्रॉइंग नहीं बना सकते और अगर ड्रॉइंग बना रहे हो तो साइकिल नहीं चला सकते। लेकिन अब दोनों काम एक साथ हो सकते हैं। अमेरिका के बेलिंघम में रहने वाले स्कॉट बौमन ने दोनों काम साथ करने का नया तरीका ढूंढ़ निकाला है। इसके लिए साइकिल के पीछे फिट होने वाला एक उपकरण तैयार किया गया है। यह पहिए फंसाने वाले रॉड में फिट हो जाता है और पिछले हिस्से में कलरफुल चाक लगा दी जाती है। इसकी मदद से बच्चे साइकिल चलाने के दौरान कुछ भी डिजाइन कर सकते हैं। बौमन ने इसे नाम दिया है ‘चाकट्रेल’। बौमन बताते हैं कि इसको बनाने का आइडिया तब आया, जब कुछ बच्चे साइकिल के पीछे लगे स्टैंड को नीचे करके जमीन पर ड्राइंग बना रहे थे।

बिना सहारे किया स्टंट
फिल्मों में अक्सर तुम एक बिल्डिंग से दूसरी बिल्डिंग में रस्सी के सहारे हीरो को जाते हुए देखते होगे। बिल्डिंग की हाइट देखकर देखने वाले भी हैरान हो जाते हैं। लेकिन वो तो सिर्फ एक स्टंट होता है और हीरो का डुप्लीकेट रस्सी की मदद से इधर-उधर जाता है। वह सेफ्टी उपकरण से लैस भी होता है, लेकिन हाल ही में एक व्यक्ति ने चीन में बिना सेफ्टी उपकरण के दो पहाड़ों के बीच की दूरी तय की। अमेरिका के रहने वाले डीन पोटर पहाड़ों पर चढ़ने के शौकीन हैं। वह इस तरह के हैरतअंगेज कारनामे करते रहते हैं। उन्होंने चीन के हुबेई क्षेत्र में दो पहाड़ियों की चोटी के बीच रस्सी बांधी। इसकी दूरी 41 मीटर थी। इसके बाद वो एक चोटी से दूसरी चोटी पर गए। यहां तक बैलेंस बनाने के लिए डंडा भी नहीं लिया था।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°