शनिवार, 29 अगस्त, 2015 | 11:38 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
बरूराज से राजद विधायक ब्रजकिशोर सिंह आज भाजपा में होंगे शामिल।उत्तर प्रदेश: बदायूं में बिसौली-सहसवान रोड पर टेम्पो पलटा, 2 की मौत, शनिवार सुबह दस बजे हुआ बड़ा हादसा, दुर्घटना में आठ लोग हो गए गंभीर घायल, मृतकों में ड्राईवर रामकिशोर और सवारी शेलेन्द्र, बहन से राखी बंधवाने जा रहा था रसूलपुर शैलेन्द्र।बिहारीगंज से जदयू विधायक रेणू कुशवाहा के भाजपा में शामिल होने की सूचना, पटना में आज शामिल हो सकती हैं।जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सेना के हथियार डिपो के पास विस्फोट, एक दर्जन से ज्यादा जवानों के जख्मी होने की खबर।
साइकिल चलाओ, ड्रॉइंग बनाओ
रिचा पांडेय First Published:30-04-2012 12:53:32 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

तुम जैसे बच्चों को साइकिल चलाना और ड्रॉइंग बनाना, दोनों पसंद होते हैं। समस्या यह आती है कि दोनों काम एक साथ नहीं हो सकते। अगर मैदान में साइकिल चला रहे हो तो ड्रॉइंग नहीं बना सकते और अगर ड्रॉइंग बना रहे हो तो साइकिल नहीं चला सकते। लेकिन अब दोनों काम एक साथ हो सकते हैं। अमेरिका के बेलिंघम में रहने वाले स्कॉट बौमन ने दोनों काम साथ करने का नया तरीका ढूंढ़ निकाला है। इसके लिए साइकिल के पीछे फिट होने वाला एक उपकरण तैयार किया गया है। यह पहिए फंसाने वाले रॉड में फिट हो जाता है और पिछले हिस्से में कलरफुल चाक लगा दी जाती है। इसकी मदद से बच्चे साइकिल चलाने के दौरान कुछ भी डिजाइन कर सकते हैं। बौमन ने इसे नाम दिया है ‘चाकट्रेल’। बौमन बताते हैं कि इसको बनाने का आइडिया तब आया, जब कुछ बच्चे साइकिल के पीछे लगे स्टैंड को नीचे करके जमीन पर ड्राइंग बना रहे थे।

बिना सहारे किया स्टंट
फिल्मों में अक्सर तुम एक बिल्डिंग से दूसरी बिल्डिंग में रस्सी के सहारे हीरो को जाते हुए देखते होगे। बिल्डिंग की हाइट देखकर देखने वाले भी हैरान हो जाते हैं। लेकिन वो तो सिर्फ एक स्टंट होता है और हीरो का डुप्लीकेट रस्सी की मदद से इधर-उधर जाता है। वह सेफ्टी उपकरण से लैस भी होता है, लेकिन हाल ही में एक व्यक्ति ने चीन में बिना सेफ्टी उपकरण के दो पहाड़ों के बीच की दूरी तय की। अमेरिका के रहने वाले डीन पोटर पहाड़ों पर चढ़ने के शौकीन हैं। वह इस तरह के हैरतअंगेज कारनामे करते रहते हैं। उन्होंने चीन के हुबेई क्षेत्र में दो पहाड़ियों की चोटी के बीच रस्सी बांधी। इसकी दूरी 41 मीटर थी। इसके बाद वो एक चोटी से दूसरी चोटी पर गए। यहां तक बैलेंस बनाने के लिए डंडा भी नहीं लिया था।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image LoadingLIVE: भारत को तीसरा झटका, कोहली आउट
भारतीय क्रिकेट टीम ने शुक्रवार को सिन्हलीज स्पोर्ट्स क्लब मैदान पर श्रीलंका के खिलाफ तीसरा निर्णायक टेस्ट में बल्लेबाजी करते हुए अपना तीसरा विकेट गंवा दिया।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब जय की हुई जमकर पिटाई...
वीरू (जय से): कल तुझे मेरे मोहल्ले के दस लड़कों ने बहुत बुरी तरह पीटा। फिर तूने क्या किया?
जय: मैंने उन सभी से कहा कि कि अगर हिम्मत है, तो अकेले-अकेले आओ।
वीरू: फिर क्या हुआ?
जय: होना क्या था, उसके बाद उन सबने एक-एक करके फिर से मुझे पीटा।