रविवार, 26 अप्रैल, 2015 | 11:49 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
विश्वकप में टीम की हार के बारे में गलत बातें कहीं गईं, हम पराजय के साथ भी सीखेंगे :मोदीसानिया और सायना ने देश का नाम रोशन किया :मोदीअफसोस है कि बेटियों तक शिक्षा पहुंची नहीं :मोदीभारत दुनिया के सुख के बारे में सोचता है और करता है : मोदीविदेश में यमन ऑपरेशन के लिए बधाई मिली, यमन से 48 देशों के नागरिकों को निकाला : मोदीभूकंप ने पूरी दुनिया को हिलाया, मन की बात करने का मन नहीं हो रहा है :मोदीनेपाल का दुख भारत का दुख : मोदीकोशिश रहेगी कि लोगों को जिंदा बचाएं, राहत का काम लंबे वक्त तक चलेगा : मोदीभारत सहायता के लिए नेपाल के साथ, हर नोपाली के आंसू पोछेंगे : मोदीमैंने कच्छ का भूकंप नजदीक से देखा : मोदीमोदी : प्राकृतिक आपदा का सिलसिला चल पड़ाप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात में कहा कि मैं कल्पना कर सकता हूं कि नेपाल में लोगों पर क्या बीत रही होगी।भारत के विभिन्न हिस्सों में भूकंप से जान गंवाने वाले लोगों के परिवार वालों को सरकार ने दो लाख रूपये की अनुग्रह राशि देने का ऐलान किया
सच्चे दोस्त होते हैं डॉगी...
जय कुमार सिंह First Published:04-12-12 02:12 PM

पालतू जानवरों में कुत्ते हमारे सबसे करीब होते हैं, क्योंकि कुत्तों को दोस्ती का हुनर मालूम होता है। ये जितने अच्छे दोस्त होते हैं, उतने ही अच्छे बॉडीगार्ड भी बन जाते हैं। किसी की भी भावनाओं को ये खूब अच्छी तरह समझ पाते हैं। कुत्तों के बारे में ऐसी ही कुछ आश्चर्यजनक बातें भी हैं, जो इन्हें सबसे अलग बनाती हैं। जैसे कुत्तों के पास किसी खतरे को पहले से ही महसूस कर लेने की ताकत होती है। अच्छा-बुरा क्या होने वाला है, कुत्ते अपनी हरकतों से बता देते हैं:

दुनिया में कुत्तों की 100 से ज्यादा प्रजातियां हैं और 40 करोड़ से ज्यादा कुत्ते हैं।
15,000 साल से लोग घर में कुत्तों को पाल रहे हैं
शिकार, खेती और सुरक्षा के अलावा कुत्ते विकलांगों को सहायता भी करते हैं
बुलडॉग, जर्मन शेफर्ड, कूली, गोल्डन रीट्राइवर, सेंट बरनार्ड, ग्रेहाउंड, ब्लडहाउंड, चीहुआहुआ, लैब्राडोर, डेन, रोटविलर, बॉक्सर और कॉकर स्पैनियेल समेत कुत्तों की दुनियाभर में सौ से ज्यादा प्रजातियां हैं।
इनमें लैब्राडोर सबसे ज्यादा प्रचलित प्रजाति है। लैब्राडोर के सौम्य स्वभाव के चलते इसे सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है।
लैब्राडोर जितना आज्ञाकारी होता है, उतना ही चालाक भी होता है। लैब्राडोर की एक और खास बात यह है कि इसमें अथाह ऊर्जा होती है। ये जल्दी थकता नहीं और इसीलिए लैब्राडोर को पुलिस गाइड की तरह भी इस्तेमाल करते हैं।
कुत्तों के सुनने की क्षमता तेज होती है। ये मनुष्यों के मुकाबले चार गुना ज्यादा दूरी से आ रही आवाज को सुन सकते हैं।
कुत्तों के सूंघने की क्षमता भी मनुष्यों से कई हजार गुना ज्यादा होती है।
कुत्तों की जिंदगी दस से चौदह साल की होती है।
पुराने जमाने में मिस्र् के लोग कुत्तों से इतना प्यार करते थे कि उसके मर जाने पर उनका दाह संस्कार करते थे और पूरे दिन रोते थे। यही नहीं शोक मनाने के लिए अपनी भौहें भी हटा देते थे और बालों पर गीली मिट्टी लगाते थे।
अंगूर और किसमिस से कुत्तों का पेट खराब हो सकता है। चॉकलेट, पका प्याज या ऐसा कुछ जिसमें कैफीन की मात्रा पाई जाती है, वह कुत्तों की सेहत के लिए अच्छा नहीं होता।
नवजात बच्चा जन्म के वक्त अन्धा, बहरा होता है और उसके दांत नहीं होते।
बेसेन्जी विश्व का एक मात्र ऐसा कुत्ता है, जो कभी भौंकता नहीं है।
अमेरिका में सबसे ज्यादा कुत्ते पाए जाते हैं। इस मामले में फ्रांस दूसरे स्थान पर है।
मनुष्यों की उंगलियों की तरह कुत्तों की नाक खास होती है। फिंगर प्रिंट से जैसे किसी व्यक्ति को पहचाना जा सकता है, ठीक उसी तरह कुत्तों की नाक की छाप से भी उन्हें पहचाना जा सकता है।
कुत्ते औसतन 19 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकते हैं। ग्रेहाउंड धरती का सबसे तेज कुत्ता है, जो 45 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ता है।
एक मादा कुत्ता सात साल में 4,372 कुत्तों को जन्म दे सकती है। कुत्तों की सबसे पुरानी प्रजाती ग्रेहाउंड है।
कुत्तों को मीठा बहुत पसंद होता है।
कुत्ते 150 से 200 शब्द समझ सकते हैं।

 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें
Image Loadingआईपीएल : मुंबई इंडियंस, सनराइजर्स का मुकाबला आज
इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आठवें संस्करण के 23वें मुकाबले में शनिवार को वानखेड़े स्टेडियम में मुंबई इंडियंस और सनराइजर्स हैदराबाद की टीमें आमने-सामने होंगी।