रविवार, 05 जुलाई, 2015 | 02:15 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    यूपीएससी में बेटियों ने बाजी मारी, दिल्ली की इरा ने टॉप किया, लड़कों में बिहार का सुहर्ष अव्वल इलाहाबाद जंक्शन पर पटरी से उतरी मालगाड़ी, परिचालन ठप मुजफ्फरनगर: सड़क हादसे में दो बच्चों की मौत के बाद जमकर हुआ बवाल झारखंड: पटरी से उतरी मालगाड़ी, दो मरे, चार ट्रेनें रद्द अनूप चावला की हालत बिगड़ी, एयर एंबुलेंस से भेजा मेदांता अनंत विक्रम सिंह गिरफ्तार, अमेठी में भारी पुलिसबल तैनात आतंकी भटकल ने जेल से किया पत्नी को फोन, बताई गुप्त योजना, मचा हडकंप माफिया डॉन दाउद इब्राहिम ने लंदन में रामजेठमलानी को किया था फोन, सरेंडर करने की बात कही थी हेमा मालिनी को मिली अस्पताल से छुटटी, बेटी ईशा के साथ पहुंचीं मुंबई अब विश्वविद्यालयों में कोर्स का दस फीसदी ऑनलाइन पढ़ सकेंगे छात्र
सच्चे दोस्त होते हैं डॉगी...
जय कुमार सिंह First Published:04-12-12 02:12 PM

पालतू जानवरों में कुत्ते हमारे सबसे करीब होते हैं, क्योंकि कुत्तों को दोस्ती का हुनर मालूम होता है। ये जितने अच्छे दोस्त होते हैं, उतने ही अच्छे बॉडीगार्ड भी बन जाते हैं। किसी की भी भावनाओं को ये खूब अच्छी तरह समझ पाते हैं। कुत्तों के बारे में ऐसी ही कुछ आश्चर्यजनक बातें भी हैं, जो इन्हें सबसे अलग बनाती हैं। जैसे कुत्तों के पास किसी खतरे को पहले से ही महसूस कर लेने की ताकत होती है। अच्छा-बुरा क्या होने वाला है, कुत्ते अपनी हरकतों से बता देते हैं:

दुनिया में कुत्तों की 100 से ज्यादा प्रजातियां हैं और 40 करोड़ से ज्यादा कुत्ते हैं।
15,000 साल से लोग घर में कुत्तों को पाल रहे हैं
शिकार, खेती और सुरक्षा के अलावा कुत्ते विकलांगों को सहायता भी करते हैं
बुलडॉग, जर्मन शेफर्ड, कूली, गोल्डन रीट्राइवर, सेंट बरनार्ड, ग्रेहाउंड, ब्लडहाउंड, चीहुआहुआ, लैब्राडोर, डेन, रोटविलर, बॉक्सर और कॉकर स्पैनियेल समेत कुत्तों की दुनियाभर में सौ से ज्यादा प्रजातियां हैं।
इनमें लैब्राडोर सबसे ज्यादा प्रचलित प्रजाति है। लैब्राडोर के सौम्य स्वभाव के चलते इसे सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है।
लैब्राडोर जितना आज्ञाकारी होता है, उतना ही चालाक भी होता है। लैब्राडोर की एक और खास बात यह है कि इसमें अथाह ऊर्जा होती है। ये जल्दी थकता नहीं और इसीलिए लैब्राडोर को पुलिस गाइड की तरह भी इस्तेमाल करते हैं।
कुत्तों के सुनने की क्षमता तेज होती है। ये मनुष्यों के मुकाबले चार गुना ज्यादा दूरी से आ रही आवाज को सुन सकते हैं।
कुत्तों के सूंघने की क्षमता भी मनुष्यों से कई हजार गुना ज्यादा होती है।
कुत्तों की जिंदगी दस से चौदह साल की होती है।
पुराने जमाने में मिस्र् के लोग कुत्तों से इतना प्यार करते थे कि उसके मर जाने पर उनका दाह संस्कार करते थे और पूरे दिन रोते थे। यही नहीं शोक मनाने के लिए अपनी भौहें भी हटा देते थे और बालों पर गीली मिट्टी लगाते थे।
अंगूर और किसमिस से कुत्तों का पेट खराब हो सकता है। चॉकलेट, पका प्याज या ऐसा कुछ जिसमें कैफीन की मात्रा पाई जाती है, वह कुत्तों की सेहत के लिए अच्छा नहीं होता।
नवजात बच्चा जन्म के वक्त अन्धा, बहरा होता है और उसके दांत नहीं होते।
बेसेन्जी विश्व का एक मात्र ऐसा कुत्ता है, जो कभी भौंकता नहीं है।
अमेरिका में सबसे ज्यादा कुत्ते पाए जाते हैं। इस मामले में फ्रांस दूसरे स्थान पर है।
मनुष्यों की उंगलियों की तरह कुत्तों की नाक खास होती है। फिंगर प्रिंट से जैसे किसी व्यक्ति को पहचाना जा सकता है, ठीक उसी तरह कुत्तों की नाक की छाप से भी उन्हें पहचाना जा सकता है।
कुत्ते औसतन 19 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ सकते हैं। ग्रेहाउंड धरती का सबसे तेज कुत्ता है, जो 45 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ता है।
एक मादा कुत्ता सात साल में 4,372 कुत्तों को जन्म दे सकती है। कुत्तों की सबसे पुरानी प्रजाती ग्रेहाउंड है।
कुत्तों को मीठा बहुत पसंद होता है।
कुत्ते 150 से 200 शब्द समझ सकते हैं।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingमैकलम ने खेली 158 रन की रिकॉर्ड पारी
न्यूजीलैंड के कप्तान ब्रैंडन मैकलम ने इंग्लिश ट्वेंटी 20 ब्लास्ट प्रतियोगिता में अपनी काउंटी टीम वॉरविकशायर के लिए मात्र 64 गेंदों में नाबाद 158 रन का ताबड़तोड़ स्कोर बनाने के साथ एक अनोखा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड