शुक्रवार, 19 सितम्बर, 2014 | 03:15 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
 
परिश्रम और ग्लैमर का खूबसूरत मेल
संतोष सिंह
First Published:18-12-12 01:15 PM
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ-

मॉडलिंग का क्षेत्र सिर्फ ग्लैमर और रंग-बिरंगे परिवेश के लिए ही नहीं जाना जाता। इस पेशे की पृष्ठभूमि में छिपी है कड़ी मेहनत और पेशेवराना नजरिया, जिनके बिना इस क्षेत्र में सफलता नामुमकिन है। यदि आप सोचते हैं कि आपके अंदर एक मॉडल बनने के गुण हैं तो जानिए कि इसकी शुरुआत आप कैसे कर सकते हैं। बता रहे हैं संतोष सिंह

क्‍या आपके दोस्त आपको ‘मॉडल’ कह कर हल्की-फुल्की छेड़छाड़ करते हैं? अगर हां, तो जरा उनकी इस प्यार भरी छेड़छाड़ को गंभीरता से लीजिये। हो सकता है, आप में एक सफल मॉडल बनने के तमाम गुण मौजूद हों और आप अपनी इस प्रतिभा से बेखबर हों। अगर ऐसा है तो मॉडलिंग के क्षेत्र में आप निश्चित ही सफलता पा सकते हैं, बशर्तें आप में कठिन परिश्रम के साथ एक दीवानापन भी हो। यह दीवानगी आपको दौलत के साथ-साथ शोहरत भी दिलवा सकती है, लेकिन मॉडलिंग एक दिन की कला नहीं है। नित्य-प्रतिदिन के अभ्यास से ही इसको निखारा जा सकता है। दरअसल, यह फील्ड शुद्ध रूप से आपके व्यक्ति (पर्सनेलिटी) से ही जुड़ा हुआ है। यहां आप अपने आपको कैसे पेश करते हैं, यह ज्यादा महत्वपूर्ण होता है।

क्या-क्या गुण चाहिए
एक सफल मॉडल बनने के लिए सर्वप्रथम आपका चेहरा फोटोजनिक होना चाहिए। प्रारम्भ में मॉडलों का चयन फोटो देख कर ही किया जाता है। उसके बाद रैम्प पर उतरने के पूर्व कई परीक्षाओं से गुजरना पड़ता है। इसमें व्यक्तित्व को खास रूप से परखा जाता है। अच्छी हाइट, फिटनेस, फिगर एवं खूबसूरत चेहरा होने के साथ ही ‘प्लीजिंग’ एवं ‘स्माइलिंग पर्सनेलिटी’ भी इस क्षेत्र के विशेषज्ञों को लुभाने की क्षमता रखते हैं। मॉडलिंग में ‘बॉडी लेंग्वेज’ का भी अपना खास महत्व होता है। आपकी हर अदा को परखा जाता है।

शुरुआत कैसे करें?
अगर आपने मॉडलिंग के क्षेत्र में अभी पहला कदम रखा है तो आप अपनी शुरुआत स्कूल-कॉलेज में आयोजित मिस्टर फ्रेशर, मिस्टर कॉलेज, मिस कैम्पस जैसी छोटी-मोटी सौन्दर्य प्रतियोगिताओं से कर सकते हैं, जहां आपके व्यक्तित्व को बखूबी परखा जाता है। इसके लिये आपको हर क्षेत्र की पर्याप्त जानकारी भी होनी चाहिए। ‘प्रेजेन्स ऑफ माइंड’ का महत्व भी यहां महत्वपूर्ण होता है। यूं तो मॉडलिंग का संसार मुम्बई, कोलकाता, बेंग्लुरू और चेन्नई समेत कई महानगरों में फैल गया है, लेकिन मॉडलिंग विशेषज्ञों के मतानुसार नये मॉडलों के उभरने के लिए दिल्ली सबसे अच्छी जगह है। एक अच्छा मॉडल किसी उत्पाद के विज्ञापन में जान डाल देता है। इसके लिए यह भी जरूरी है कि उसकी शुरुआत व्यवस्थित ढंग से हो। मॉडल बनने की चाह रखने वाले युवक-युवती को सबसे पहले एक पोर्टफोलियो की जरूरत पड़ती है। एक अच्छा फोटोग्राफर ऐसा फोलियो बना देता है, जिससे मॉडल को काम मिलने लग जाए। एक अच्छे फोलियो पर आने वाला खर्च लगभग 20 हजार रुपये हो सकता है। बेशक इसमें एक बार मॉडल की जेब से पैसे जाते हैं, लेकिन सफल होने के बाद वह कुछ ही समय में फीस में दिये गये पैसों से कई गुना ज्यादा कमा लेता है।

स्थापित होने के लिए क्या करें?
मॉडलिंग एक कला है। वे मॉडल, जिनमें जन्मजात प्रतिभा होती है, उन्हें किसी खास ग्रूमिंग की जरूरत नहीं होती। हां, व्यवहारिक अनुभवों के साथ ही क्रमबद्ध रूप से कई कोर्स इस दिशा में लाभ जरूरत पहुंचा सकते हैं, जिससे आप स्वयं को मॉडलिंग के क्षेत्र में लम्बे समय तक स्थापित रख सकते हैं। इसके लिये किसी कुशल कोरियोग्राफर का साथ एक मॉडल को उन्नति के शिखर पर पहुंचा सकता है। वह ही मुख्य रूप से गाइड करता है कि मॉडल की भूमिका क्या होगी। रैम्प पर चलने के लिए विशिष्ट वॉक (कैट वॉक) को निखारने की जिम्मेदारी भी उसी की होती है। मॉडलिंग के लिये आकर्षक फिगर के लिये जिम का सहारा लिया जा सकता है। ‘पर्सनेलिटी ग्रूमिंग’ एवं ‘ब्यूटी कल्चर’ का कोर्स इस क्षेत्र में आपकी सफलता का साधन बन सकता है। मॉडलिंग में कामयाब होने के लिए आपका सम्पर्क विज्ञापन-मॉडलिंग एजेन्सियों एवं मॉडल कोऑर्डिनेटरों से होना चाहिए। ‘ईवेन्ट मैनेजमेंट ग्रुप’ से आपका परिचय होना भी बेहद जरूरी है, क्योंकि किसी भी शो के समय वह एक मौका उपलब्ध करवा सकता है जो आपके करियर को एक नई दिशा और रंगत प्रदान कर सकता है।

मॉडलिंग से होने वाली आय
मॉडलिंग एवं फैशन उद्योग से जुड़े अनेक दिग्गजों का मानना है कि कम समय में जितनी ज्यादा फेम और पैसा मॉडलिंग पेशे में है, उतना किसी और लाइन में नहीं। पुराने स्थापित मॉडलों को चंद मिनटों में ही ढाई लाख से अधिक रुपये मिलते हैं, जबकि तीन-चार साल पुराने जमे मॉडल भी एक लाख से अधिक कमा लेते हैं। जो बिल्कुल नये हैं, लेकिन धीरे-धीरे आगे बढ़ रहे हैं, उन्हें तक 50-60 हजार मिल जाते हैं। प्रसिद्धी ही मॉडलिंग इंडस्ट्री में कीमत तय करती है।

मॉडलिंग का भविष्य
आज मॉडलिंग इंडस्ट्री में सौन्दर्य प्रतियोगिताओं का खास स्थान है। पहले फेमिना मिस इंडिया प्रतियोगिता होती थी, अब ग्रासिम मिस्टर इंडिया, ग्लैडरैग्स, मिसेज इंडिया, मेट्रोपोलिटन टॉप मॉडल जैसी राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के अलावा मिस वर्ल्ड, मिस यूनिवर्स, मिस इंडिया, एशिया पेसिफिक, ग्रासिम मिस्टर इंटरनेशनल जैसी अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताएं हो रही हैं। इस तरह अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सुनहरे अवसर उपलब्ध कराने वाले अनेक दरवाजे खुले हैं। अनेक मॉडलों ने फिल्म इंडस्ट्री में भी अपने कदम जमाए हैं। कुल मिला कर आज मॉडलिंग एक व्यवस्थित उद्योग बन गया है, जो युवक-युवतियों को शोहरत और ग्लैमर की दुनिया में प्रवेश दिला कर इन्हें नित्य नयी उड़ान भरने की प्रेरणा देता है। कुछ महत्वाकांक्षी युवक-युवतियां ‘शॉर्ट कट’ रास्ता अपना कर जल्दी से इस फील्ड में स्थापित होना चाहते हैं, पर याद रखें मेहनत का कोई विकल्प नहीं होता।

एक्सपर्ट व्यू
इस क्षेत्र में प्रोफेशनल्स की बेहद मांग है

परवेज के.
फैशन फोटोग्राफर व मॉडल कोऑर्डिनेटर, दिल्ली

परवेज के. ने 10 वर्ष पूर्व एक फैशन फोटोग्राफर के रूप में अपना करियर शुरू किया, लेकिन इन्होंने धीरे-धीरे मॉडल कोऑर्डिनेटर के रूप में भी पहचान बनाई। शुरुआती दौर में फैशनिस्ता मॉडलिंग एण्ड फैशन इंस्टीट्यूट के साथ काम करते हुए देश के जाने-माने फैशन मॉडल्स के साथ काम किया। परवेज कई जाने-माने ब्रांड्स के साथ भी काम कर चुके हैं।

मॉडलिंग के क्षेत्र में फैशन फोटोग्राफर और मॉडल कोऑर्डिनेटर की क्या भूमिका होती है?
मॉडल को बनाने में फैशन फोटोग्राफर और मॉडल कोऑर्डिंनेटर की सर्वाधिक महत्वपूर्ण भूमिका होती है। मॉडल कोऑर्डिंनेटर जहां एक फ्रैशर मॉडल को काम दिलाने में सहायक की भूमिका निभाता है, वहीं फैशन फोटोग्राफर उसका एक अच्छा पोर्टफोलियो बना देता है, ताकि मॉडल को कम से कम काम मिलना शुरू हो जाये। किसी भी मॉडल को स्थापित करने में इन दोनों की भूमिका महत्वपूर्ण होती है। मॉडल का लुकवाइज अच्छा दिखना ही काफी नहीं है, उसे प्रोफेशनली खुद को ‘कैरी’ करना भी आना चाहिए।

युवाओं को आप क्या संदेश देना चाहेंगे?
मैं यही कहना चाहूंगा कि अब इस क्षेत्र का व्यापक विस्तार हो रहा है, इसलिए पूरी तैयारी के साथ इस फील्ड में आएं। शौकिया मॉडल्स की अब इंडस्ट्री को जरूरत नहीं है। अब यहां भी प्रोफेशनल्स की जरूरत है।

फैक्ट फाइल
चर्चित मॉडलिंग एजेंसियां

एलकैमी चेन्नई
वेबसाइट:
www.alchemyindiaonline.com

कैटवॉक, के-40, हौजखास एन्क्लेव, नई दिल्ली

द रैम्प, मुंबई और दिल्ली ब्रांच
वेबसाइट
: www.rampasia.in

प्लेटिनम मॉडल्स, ए-276, शिवालिक, नई दिल्ली
अदिति मॉडलिंग सर्विस, 324, अपर प्लेस आरकॉड, बेंग्लुरू-560080
ओजोन मॉडल्स मैनेंजमेंट, गमदेवी फिरोजशाह रोड, सान्ता क्रूज (पश्चिम), मुम्बई।
यूएसजी वर्ल्डवाइड मॉडल एण्ड प्रमोशन एजेंसी, ओरियंट हाउस, चौथा तल, अदी मर्जनवन पथ, मुम्बई-400038

संभावनायें
हालांकि मॉडलिंग एक अल्पकालीन पेशा है। एक निश्चित उम्र और समय तक ही आप मॉडलिंग कर सकते हैं, लेकिन अब धीरे-धीरे इसका विस्तार हो रहा है। एक मॉडल भविष्य में मॉडल कोऑर्डिनेटर बन कर इस इंडस्ट्री में जम सकता है और मॉडलिंग और फैशन से जुड़े इंस्टीट्यूट भी खोल सकता हैं, जहां भावी मॉडल्स को सफलता के नये-नये गुर सिखा कर अच्छी कमाई की जा सकती है।

प्रमुख कोर्स
आमतौर पर मॉडलिंग के लिये किसी डिग्री या डिप्लोमा की जरूरत नहीं पड़ती, लेकिन प्रतिस्पर्धा के इस युग में अगर आप पर्सनेलिटी डेवलपमेंट, ग्रूमिंग कोर्स कर लें तो आप अन्य लोगों से बेहतर साबित हो सकते हैं। वास्तव में आप खुद को कैसे प्रेजेंट करते हैं, यही इस पेशे का केन्द्र बिन्दु है। आपका प्रेजेंटेशन निश्चित तौर पर बेहतर होना चाहिये, नहीं तो अच्छी कद-काठी के बावजूद आप यहां लम्बी रेस के घोड़े साबित नहीं हो सकते।

एजुकेशन लोन
आमतौर पर तो मॉडलिंग के नाम पर आप एजुकेशन लोन नहीं ले सकते, लेकिन कुछ निजी कम्पनियां आपके टैलेंट को देख कर आपको कॉन्ट्रैक्ट पर साइन कर सकती हैं। ऐसे में आप सिर्फ उनके लिए ही मॉडलिंग कर सकते हैं। कुछ कॉरपोरेट घराने न्यू कमर्स को प्रमोट करने के लिए मॉडलिंग सौन्दर्य प्रतियोगिता में विजयी लोगों को सपोर्ट भी करते हैं, लेकिन यह सपोर्ट विशुद्ध व्यवसायिक होती है।

 
 imageloadingई-मेल Image Loadingप्रिंट  टिप्पणियॉ: (0) अ+ अ- share  स्टोरी का मूल्याकंन
 
टिप्पणियाँ
 

लाइवहिन्दुस्तान पर अन्य ख़बरें

आज का मौसम राशिफल
अपना शहर चुने  
धूपसूर्यादय
सूर्यास्त
नमी
 : 05:41 AM
 : 06:55 PM
 : 16 %
अधिकतम
तापमान
43°
.
|
न्यूनतम
तापमान
24°