शनिवार, 05 सितम्बर, 2015 | 11:13 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
मुज़फ्फरनगर- भाजपा के दो बार जिलाध्यक्ष रहे वरिष्ठ नेता देवव्रत त्यागी के बड़े भाई की गोली मार कर हत्यावीआईपी ट्रेन सियालदह राजधानी में महिला यात्री के कान में घुसा कॉकरोच, हंगामे के बाद मुगलसराय में रोकी गई ट्रेन, डॉक्टर ने निकाला कॉकरोच, 45 मिनट देरी से रवाना हुई गाड़ी, सियालदह से जा रही थी नई दिल्लीजौनपुर जिला जेल में अलसुबह छापेमारी के बाद बवालहनीमून पर नेपाल गया बरेली का युवक मानव तस्करी में गिरफ्तारOROP को लेकर पूर्व सैनिक 11:30 बजे रक्षा मंत्री से करेंगे मुलाकातअमरोहा: सैदनगली थाना इलाके के गांव चकगुलाम अबिया में दो घरों में बदमाशों ने की लूटपाटउत्तराखंड: देहरादून में लालपुल पर डंपर और बाइक की टक्कर में बाइक सवार की मौत
समय पर लें संतुलित आहार
हिन्दुस्तान रीमिक्स First Published:02-01-2013 01:08:58 PMLast Updated:00-00-0000 12:00:00 AM
Image Loading

इस साल आप अपनी डाइट का पूरा खयाल रखेंगे, इसका प्रण लें। खाने में आप चावल, दाल, रोटी, सब्जियां तो लेते ही हैं, लेकिन कुछ और बातों का थोड़ा खयाल रखकर अपनी सेहत को और बेहतर बनाए रख सकते हैं। खाने में अंकुरित अनाज, मेवे, मूंगफली, तिल (सर्दियों में), हर हफ्ते पांच रंग के फल जिनमें केला, सेब, संतरा, अमरूद आदि को शामिल कर सकते हैं, गाजर-मूली जैसी कुछ कच्चा चबाने योग्य सब्जियां, जिनमें एंजाइम होते हैं, तुलसी, इलायची, लहसुन आदि हर्ब, अंकुरित मेथी(खासकर डायबिटीज और हार्मोनल असंतुलन की स्थिति में बेहद फायदेमंद हैं), चोकर वाले अनाज, पत्तेदार सब्जियां पकाकर नियमित रूप से लें।

सर्दी के मौसम में घी के सेवन से बचें। अगर नॉनवेज लेते हैं तो उसकी मात्रा सीमित रखें, क्योंकि उसे पचाने के लिए शरीर को जितना काम करना चाहिए, आज की जीवनशैली में वह उतना काम नहीं कर पाता। सर्दी में गुनगुना या गर्म पानी और बाकी मौसम में सादा पानी खूब पिएं। चाय या कॉफी दो कप से ज्यादा न लें। अगर इससे ज्यादा की जरूरत महसूस होती है तो हर्बल टी ले सकते हैं, जो आजकल बड़ी आसानी से मिल जाती है।

अगर आप मॉडलिंग या ग्लैमर के पेशे से नहीं जुड़े हैं या बॉडी बनाने की मजबूरी नहीं है तो आपके लिए दिनभर में चार बार खाना पर्याप्त रहेगा। इनका समय तय करें और उसका पालन करें। सुबह में 8-8.30 बजे के बीच नाश्ता कर लें। इस बात का ध्यान रखें कि यह नाश्ता हैवी हो। दोपहर का खाना एक बजे, शाम का नाश्ता 4 बजे और रात का खाना 7-8 बजे के बीच खा लें। इस बात का ध्यान रखें कि एक बार में अपने हाथ की अंजुरी से ज्यादा खाना न खाएं। भूख से थोड़ा कम ही खाएं। तला हुआ खाना फेस्टिवल के लिए ही छोड़ दें। ज्यादा तला हुआ खाना सेहत का दुश्मन साबित हो सकता है। खाने का पूरा खयाल रखने से पाचन शक्ति भी ठीक रहेगी और शरीर को समय पर पर्याप्त आहार भी मिलता रहेगा। अगर आप ग्लैमर जगत से जुड़े हैं या मसल्स बनाने का शौक है तो आपको थोड़ा-थोड़ा करके छह बार खाना चाहिए। जिम जाते हैं तो विशेषज्ञ की सलाह का पालन करें। मौसम व उम्र के अनुसार अतिरिक्त डोज की जरूरत महसूस करें तो प्राकृतिक चीजों पर ही ध्यान दें।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
क्रिकेट स्कोरबोर्ड Others
 
Image Loading

अलार्म से नहीं खुलती संता की नींद
संता बंता से: 20 सालों में, आज पहली बार अलार्म से सुबह-सुबह मेरी नींद खुल गई।
बंता: क्यों, क्या तुम्हें अलार्म सुनाई नहीं देता था?
संता: नहीं आज सुबह मुझे जगाने के लिए मेरी बीवी ने अलार्म घड़ी फेंक कर सिर पर मारी।