मंगलवार, 04 अगस्त, 2015 | 04:52 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
Image Loading    अगला बिहार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी राबड़ी देवी कांवड़ यात्रा से बरेली के कई पंपों पर डीजल-पेट्रोल खत्‍म  आखिर यूं ही नहीं बनती 'बाहुबली', जानिए 10 बेहद खास राज  भारत से प्रभावित होकर अंग्रेजों ने ब्रिटेन में भी बसा दिया 'पटना'  तृणमूल ने दिखाई कांग्रेस के साथ एकजुटता, लोकसभा की कार्यवाही का पांच दिनों तक करेगी बहिष्कार 14 साल से पाकिस्तान में फंसी भारतीय लड़की को बजरंगी भाईजान की जरूरत श्रीलंका में जीत के लिए ये है कोहली का मास्टर प्लान राफेल नडाल ने जीता हैम्बर्ग ओपन खिताब चेल्सी बीते सत्र में ही ईपीएल खिताब का हकदार था: कोम्पेनी साध्वी प्राची को अस्पताल से डिस्चार्ज किए जाने पर हंगामा
co2 का एक इंजेक्शन कर देगा मोटी कमर को पतली
नई दिल्ली, एजेंसी First Published:02-01-2010 03:44:40 PMLast Updated:02-01-2010 03:45:00 PM
Image Loading

कहीं आपकी मोटी कमर किसी गंभीर रोग की ओर तो इशारा नहीं कर रही। घबराइए मत क्योंकि अब वैज्ञानिकों ने कार्बनडाईऑक्साइड का मात्र एक इंजेक्शन लगा इस चर्बी को छांटने का तरीका ढूंढ निकाला है।

यह सिद्ध हो चुका है कि मोटी कमर टाइप टू डायबटीज, उच्च रक्तचाप तथा ह्दय रोग जैसे रोगों की खतरे की घंटी हो सकती है। अगर आप इस श्रेणी में आते भी हैं तो प्लीज। अब चिंतित न हों। एक अच्छी खबर यह है कि वैज्ञानिक कार्बनडाईऑक्साइड का एक इंजेक्शन लगाकर कमर जांघों और पुट्ठो पर जमी ऊपरी चर्बी छांटने में काफी हद तक सफल हो गए हैं।

कार्बनडाईऑक्साइड एक प्राकृतिक गैस है जो हमारे शरीर में श्वसन प्रक्रिया के दौरान बनती हैं। यह गैस जल्दी ही हमारे रक्त में मिल जाती है फिर निश्वास तथा गुर्दों की मदद से शरीर से बाहर भी निकल जाती है। काबाक्सी थैरेपी की मदद से निश्चित मात्रा में कार्बनडाईऑक्साइड गैस एक महीने सी सुई से त्वचा की ऊपरी सतह में पहुंचा दी जाती है। इसमें बहुत कम समय लगता है। यह गैस त्वचा में पहुंच कर आसपास के ऊत्तकों को सक्रिय करती है जिससे रक्तवाहिकाएं कुछ चौड़ी हो जाती हैं। रक्तवाहिकाओं के चौड़ी हो जाने से रक्त का प्रवास आसान हो जाता है और जिससे उस भाग में ऑक्सीजन और पोषक तत्वों का प्रवास भी बढ़ जाता है।

इसके साथ ही कार्बनडाईऑक्साइड गैस मोटापा बढ़ाने वाली कोशिकाओं को भी निष्क्रिय कर देती है, जबकि अतिरिक्त ऑक्सीजन कोशिकाओं के बीच मौजूद तह को साफ कर देती है। इटली में 48 महिलाओं का प्रयोग के तौर पर कार्बनडाईऑक्साअड गैस के इंजक्शन लगाए गए, जिनके उत्साहजनक परिणाम निकलने के बाद अब पहली बार अमेरिका की नॉर्थ वेस्टर्न यूनीवर्सिटी में मोटे लोगों पर क्लीनिकल ट्रायल शुरु होने जा रहे हैं। इस प्रयोग में 35 इंच या इससे अधिक मोटी कमर वाली महिलाएं तथा 40 इंच या इससे अधिक मोटी कमर वाले पुरुषों को शामिल किया जा रहा है।

यूनिवर्सिटी कॉलेज लंदन के प्रोफेसर निक फाइनर का कहना है कि इस उपचार से व्यक्ति के कमर पुट्ठों और जांघों से अतिरिक्त चर्बी को हटाया जा सकेगा, लेकिन इसके बाद उन्हें अपने खानपान और जीवन शैली का ख्याल रखना होगा।

उन्होंने कहा कि ये उपचार त्वचा के नीचे जमी चर्बी को तो कम कर देगा पर पेट आदि पर जमी चर्बी को कम करने के लिए व्यक्ति को खानपान और दिनचर्या को बदलना ही होगा। इस उपचार से किसी को पतला होने का एहसास दिलाकर उस पर मनौवैज्ञानिक असर डालकर उसका मनोबल तो बढ़ाया जा सकता है पर टाइप टू डायबटीज, उच्च रक्तचाप तथा ह्दय रोग जैसे रोगों से बचने के लिए तो उसे खानपान में बदलाव लाना ही होगा।

 
 
 
 
जरूर पढ़ें
क्रिकेट
Image Loadingश्रीलंका में जीत के लिए ये है कोहली का मास्टर प्लान
टेस्ट कप्तान के तौर पर अपनी पहली संपूर्ण तीन मैचों की सीरीज के लिये श्रीलंका दौरे पर भारतीय टीम का नेतृत्व कर रहे विराट कोहली ने कहा है कि उनकी योजना श्रीलंका में पांच गेंदबाजों को उतारने की रहेगी।
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
 
Image Loading

जब बीमार पड़ा संता...
जीतो बीमार पति से: जानवर के डॉक्टर को मिलो तब आराम मिलेगा!
संता: वो क्यों?
जीतो: रोज़ सुबह मुर्गे की तरह जल्दी उठ जाते हो, घोड़े की तरह भाग के ऑफिस जाते हो, गधे की तरह दिनभर काम करते हो, घर आकर परिवार पर कुत्ते की तरह भोंकते हो, और रात को खाकर भैंस की तरह सो जाते हो, बेचारा इंसानों का डॉक्टर आपका क्या इलाज करेगा?