मंगलवार, 28 अप्रैल, 2015 | 02:13 | IST
 |  Site Image Loading Image Loading
गुस्से के समय आदमी जैसे होते हैं कुत्ते
वाशिंगटन, एजेंसी First Published:05-04-12 01:23 PM
Image Loading

आदमी और उसका सबसे अच्छा मित्र कहे जाने वाले कुत्ते में कुछ समानताएं हैं। दोनों जब आपे से बाहर होते हैं तो आक्रामक व्यवहार करने लगते हैं।
  
यूनिवर्सिटी ऑफ लिली नार्ड डे फ्रांस के अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि कुत्ते जब स्व नियंत्रण से बाहर होते हैं तो वे अधिक आवेग वाले फैसले करते हैं जिससे वे खतरे में पड़ जाते हैं।

अग्रणी अनुसंधानकर्ता होली मिलर ने कहा कि साइकोनामिक बुलेटिन एंड रिव्यू नाम की पत्रिका में प्रकाशित अध्ययन रिपोर्ट स्व नियंत्रण की जैविकीय प्रक्रिया के बारे में बताती है।
  
मिलर ने लाइवसाइंस को बताया, जब मानव कमजोर स्थिति में होता है तो वह कम मददगार, अधिक आक्रामक, अधिक दांव पर लगाने वाला, इत्यादि होता है।

उन्होंने कहा कि इन परिणामों की जैविकीय जड़ें भी होती हैं। जब कुत्ते कमजोर स्थिति में होते हैं तो उनके भी अधिक अविवेकपूर्ण और जल्दबाजी भरा व्यवहार करने की संभावना होती है।
  
अपने अध्ययन में अनुसंधानकर्ताओं ने पालतू कुत्तों पर प्रयोगशाला में प्रयोग किए।

 
 
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड
जरूर पढ़ें
Image Loadingसनराइजर्स की जीत में चमके वार्नर और बोल्ट
कप्तान डेविड वार्नर की अर्धशतकीय पारी और ट्रेंट बोल्ट की घातक गेंदबाजी से सनराइजर्स हैदराबाद ने किंग्स इलेवन पंजाब को उसके घरेलू मैदान पर 20 रन से हराकर आईपीएल आठ में अपनी तीसरी जीत दर्ज की।