शनिवार, 20 दिसम्बर, 2014 | 09:13 | IST
  RSS |    Site Image Loading Image Loading
ब्रेकिंग
झारखंड : बोरियो के बूथ नं 208 में एक घंटे में 124 वोट पड़ेझारखंड : जामताड़ा में सुबह से महिला मतदाताओं में गज़ब का उत्साहजम्मू कश्मीर में 20 सीटों के लिए मतदान शुरूझारखंड: दुमका के बूथ नम्बर 114 में सुबह से मतदाताओं में उत्साह नजर आ रहा हैझारखंड: सारठ के पालाजोरी ब्लॉक में बूथ नंबर 172 पर इवीएम खराब, 15 मिनट देर से शुरू हुआ मतदानझारखंड: दुमका के 114 नंबर बूथ पर सुबह से लगी महिला वोटरों की लंबी कतारझारखंड: जामताड़ा के बूथ नंबर 203 पर सुबह 7 बजे से ही वोटरों की लंबी कतार लगीझारखंड : दुमका के बूथ नम्बर 207 में पहला वोट पड़ा
मोबाइल फोन और कम्प्यूटर इंसान की सेहत के दुश्मन
लंदन, एजेंसी First Published:15-05-11 07:55 PMLast Updated:15-05-11 08:00 PM
Image Loading

वायरलेस इंटरनेट कनेक्शन वाले मोबाइल फोन तथा कम्प्यूटर लोगों के स्वास्थ्य के लिए एक बड़ा खतरा हैं और स्कूलों में तत्काल इन पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। एक सशक्त यूरोपीय ईकाई ने यह सिफारिश की है।

कौंसिल आफ यूरोप समिति ने इन सबूतों का अध्ययन किया है कि तकनीक का मानव पर बेहद बुरा विनाशकारी प्रभाव पड़ रहा है। समिति इस नतीजे पर पहुंची है कि बच्चों को इस बुरे प्रभाव से बचाने के लिए तत्काल कदम उठाने की जरूरत है। दी डेली टेलीग्राफ में यह खबर प्रकाशित हुई है।

अपनी रिपोर्ट में समिति ने कहा है कि जन स्वास्थ्य अधिकारी शुरूआत में एसबेस्टास, धूम्रपान और पेट्रोल में सीसे की मौजूदगी के खतरों का आकलन करने में कमजोर रहे थे लेकिन अब उसी गलती को दोहराने से बचना बेहद जरूरी है।
   
रिपोर्ट में वायरलेस फोन और बेबी मानिटर से पैदा होने वाले दुष्प्रभाव को रेखांकित किया गया है जिनमें समान तकनीक काम करती है और जिनका ब्रिटिश घरों में काफी प्रयोग किया जाता है।

रिपोर्ट में ऐसी आशंका जतायी गई है कि वायरलेस उपकरणों से निकलने वाला इलैक्ट्रोमैग्नेटिक विकिरण कैंसर पैदा कर सकता है और साथ ही मस्तिष्क के विकास को नुकसान पहुंचा सकता है।

 
 
 
 
टिप्पणियाँ
 
क्रिकेट स्कोरबोर्ड